ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: मर्सिडीज एसयूवी से प्रचार कर रहीं हेमा मालिनी, छाता लेकर साथ चलता है स्‍पॉटबॉय

Lok Sabha Election 2019: लोगों से जब बात की गई तो उन्होंने बताया कि हेमा मालिनी को चुनाव प्रचार करने की जरुरत भी नहीं है, चाहे भाजपा ने कोई विकास ना किया हो, लेकिन उनका वोट फिर भी मोदीजी को जाएगा।

Author April 12, 2019 12:03 PM
हेमा मालिनी चुनाव प्रचार के दौरान। (express photo by Gajendra Yadav)

Lok Sabha Election 2019: मथुरा लोकसभा क्षेत्र से भाजपा ने एक बार फिर से पार्टी की मौजूदा सांसद हेमा मालिनी पर भरोसा जताया है। हेमा मालिनी बीते 10 दिनों से मथुरा में चुनाव प्रचार में जुटी हैं। यहां दूसरे चरण के तहत 18 अप्रैल को चुनाव कराया जाएगा। अपने चुनाव प्रचार के दौरान हेमा मालिनी खूब सुर्खियां बटोर रही हैं। बीते दिनों उनकी कुछ तस्वीरें काफी चर्चा में रहीं थी, जिनमें एक तस्वीर में वह खेतों में काम कर रही महिलाओं के साथ दिखाई दी थीं। तो एक बार ट्रैक्टर पर सवार तो कभी एक ग्रामीण महिला के साथ तस्वीर को लेकर उनकी खूब चर्चा हुई थी। कुछ लोगों ने इन तस्वीरों को लेकर सोशल मीडिया पर उनकी बुराई भी की थी तो किसी ने इसे ‘अभिनय’ बताया था। जब इस बारे में हेमामालिनी से बात की गई तो उन्होंने कहा कि ‘अभिनय करने या ‘ड्रामा गर्ल’ जैसे टैग उन्हें परेशान नहीं करते। वह एक कलाकार हैं और लोग चाहते हैं कि हम एक खास तरह से पोज दें। आरामदायक तरीके से चुनाव प्रचार करने में बुराई ही क्या है?’

द इंडियन एक्सप्रेस ने हेमामालिनी के चुनाव प्रचार के एक दिन को कवर किया। इस कवर के आधार पर एक खबर बनायी, जिसमें उन्होंने लिखा कि हेमा मालिनी सुबह 10 बजे से चुनाव प्रचार शुरु करती हैं। गुरुवार को हेमा मालिनी सुबह 10 बजे के करीब हेमा मालिनी मथुरा के फराह नगर में एक नुक्कड़ सभा को संबोधित करने पहुंची। हालांकि स्थानीय लोगों में इस बात की चर्चा थी कि हेमा मालिनी सांसद बनने के बाद से सिर्फ दूसरी बार फराह नगर आयी हैं। बहरहाल लोगों से जब बात की गई तो उन्होंने बताया कि हेमा मालिनी को चुनाव प्रचार करने की जरुरत भी नहीं है, चाहे भाजपा ने कोई विकास ना किया हो, लेकिन उनका वोट फिर भी मोदीजी को जाएगा।

(express photo by gajendra yadav) (express photo by gajendra yadav)

उल्लेखनीय है कि मथुरा से इस बार हेमा मालिनी का सामना सपा-बसपा-रालोद गठबंधन के उम्मीदवार कुंवर नरेंद्र सिंह से होगा। गठबंधन के तहत मथुरा सीट रालोद के खाते में गई है। वहीं कांग्रेस ने महेश पाठक को यहां से टिकट दिया है। बता दें कि चुनाव प्रचार के दौरान हेमा मालिनी के साथ कारों का बड़ा काफिला चलता है। जिसके मध्य में हेमा मालिनी की कार शानदार लग्जरी मर्सिडीज एसयूवी चलती है। हेमा मालिनी कार की खुली छत से बाहर आकर लोगों का अभिवादन स्वीकार करती हैं। इस दौरान उनका स्पॉटब्वाय एक बड़ा सा छाता लेकर उनकी सेवा में हाजिर रहता है।

खुले में ही शौच जाना चाहते हैं मथुरा के लोग, नाला बनवाना मेरा काम नहीं

हेमा मालिनी लोगों का अभिवादन राधे-राधे बोलकर करती हैं। चुनाव प्रचार के दौरान हेमा मालिनी विकास और राष्ट्रीय सुरक्षा जैसे मुद्दों पर लोगों से वोट मांगती हैं। फराह नगर में हेमा मालिनी एक नुक्कड़ सभा को संबोधित करना था, लेकिन बाद में वह सभा कैंसिल कर दी गई और हेमा मालिनी फराह नगर से निकल गईं। इसके बाद हेमा मालिनी का काफिला रायपुर जाट गांव पहुंचा। जहां हेमा मालिनी ने एक जनसभा को संबोधित किया और लोगों को आगाह किया कि वह अपनी वोट खराब ना करें और भाजपा को वोट दें। रायपुर जाट के बाद हेमा मालिनी का काफिला पिपरोठ गांव पहुंचा। वहां लोगों से मिलने के बाद काफिला करीब 2 घंटे का सफर पूरा कर कोह गांव पहुंचा।

कोह में हेमा मालिनी और उनके समर्थकों को लोगों की नाराजगी का सामना करना पड़ा। एक बुजुर्ग महिला ने नाराजगी भरे लहजे में कहा कि खुद को एसी कार में घूम रहे हैं, हमारे यहां बिजली, पानी नहीं है। इसके बाद हेमा मालिनी का काफिला पराखम गांव पहुंचा, वहां भी भाजपा सांसद के खिलाफ लोगों में थोड़ी निराशा दिखी। बहरहाल गांव से निकलने के कुछ देर बाद हेमा मालिनी और उनके गिने-चुने समर्थकों ने फराह नगर के दीन दयाल धाम बिल्डिंग में खाना खाया। इसके बाद उनका काफिला ओली गांव पहुंचा, जहां हेमा मालिनी ने एक जनसभा को संबोधित किया और भाजपा के लिए समर्थन मांगा। कोह और पराखम गांव में नाराजगी झेलने के सवाल पर उन्होंने कहा कि छोटी-मोटी सड़के और नाला बनाने का काम उनका नहीं है। मेरा काम बड़े स्तर पर क्षेत्र में विकास करना है। इसलिए जब महिलाएं मुझसे कहती हैं कि मैंने ये नहीं किया या वो नहीं किया। मैं उनसे ज्यादा बात नहीं करना चाहती क्योंकि उन्हें ज्यादा समझ नहीं है। यह प्रधान का काम है।

हेमा मालिनी से भाजपा के घोषणा पत्र को लेकर सवाल किया गया तो उन्होंने कहा कि वह अभी तक उन्होंने नहीं पढ़ा है। हालांकि उन्होंने महिला सशक्तिकरण, मेडिकल कॉलेज और हर 5 किलोमीटर पर बैंकिंग सेवाएं देने की बात कही। हेमा मालिनी ने बताया कि चुनाव प्रचार के दौरान उनका दिन सुबह 6.30 से शुरु हो जाता है और प्रचार के दौरान वह अपने साथ पानी और लस्सी रखती हैं और अधिकतर खाने में फल ही लेती हैं। अपने पिछले कार्यकाल के दौरान हेमामालिनी ने मथुरा में सड़कों की स्थिति सुधारने, रेलवे स्टेशन का सौंदर्यीकरण और बस स्टैंड का निर्माण जैसे काम गिनाए। शाम 5 बजे के करीब हेमा मालिनी का काफिला धर्मपुरा गांव पहुंचा, जहां लोगों से मिलने के बाद वह बेरी, सनौरा और हाथावाली गांव पहुंची और लोगों से मुलाकात की। इसके साथ ही हेमा मालिनी का गुरुवार का चुनाव प्रचार पूरा हुआ।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App