ताज़ा खबर
 

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बोलीं- अरविंद केजरीवाल का बिगड़ा दिमागी संतुलन

पंजाब विधानसभा चुनाव में हारने के बाद अरविंद केजरीवाल ने ईवीएम से छेड़छाड़ का आरोप लगाया है।

केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल। (फाइल फोटो)

आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के ‘ईवीएम मशीन से छेड़छाड़’ के आरोप का मजाक उड़ाते हुए केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने बुधवार को कहा कि उन्होंने अपना दिमागी संतुलन खो दिया है। कौर ने न्यूज एजेंसी एएनआई से बात करते हुए कहा, ‘केजरीवाल का दिमागी संतुलन बिगड़ गया है और यह हम सब देख सकते हैं। जब दिल्ली में उनको 67 सीटें मिली थीं तो सब ठीक था, लेकिन अब पंजाब ने उन्हें ठुकरा दिया तो वह अपनी हार नहीं पचा पा रहे हैं और विवाद खड़ा कर रहे हैं।’ बता दें, अरविंद केजरीवाल ने ईवीएम की विश्वयनियता पर सवाल उठाए थे। केजरीवाल ने कहा था कि ईवीएम मशीनों के साथ छेड़छाड़ हुई है।

साथ ही केंद्रीय मंत्री कौर ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री को ईवीएम और बैलेट के बारे में बेहुदा बयान देने के बजाय देश की राजधानी के मुद्दों पर ध्यान देना चाहिए। उन्होंने कहा, ‘वे हमेशा झूठ बोलते रहे हैं। जनता उन्हें क्यों सपोर्ट करेगी? उन्हें आत्मविश्लेषण करना चाहिए।’

केंद्रीय मंत्री कौर ने साथ ही कहा कि हम लोग पंजाब में चुनाव तो हा गए, लेकिन हमें 31 फीसदी वोट शेयर मिला। इसका मतलब है कि पंजाब के लोगों का अभी भी हम लोगों पर भरोसा है।

बता दें,  अरविंद केजरीवाल ने पंजाब का जिक्र करते हुए कहा था कि वहां के लोगों में अकाली पार्टी के लिए गुस्सा था फिर भी आप का वोट प्रतिशत 25 प्रतिशत रहा और अकाली का उससे ज्यादा 31 प्रतिशत। केजरीवाल ने पूछा कि ऐसा कैसे हो सकता है? केजरीवाल ने आगे कहा कि चुनाव आयोग का काम है कि वह लोगों के मन में ईवीएम के लिए विश्वास को बनाए रखें। हो सकता है कि ईवीएम की मदद से आप के 25 प्रतिशत वोटों को SAD-BJP के गठबंधन के पास ट्रांसफर किया गया हो। अब गोवा-पंजाब समेत बाकी राज्यों के चुनावों को रद्द तो नहीं किया जा सकता लेकिन चुनाव आयोग को ईवीएम के प्रति भरोसा वापस लाने का काम जरूर करना चाहिए।

वीडियो- पंजाब में हार पर अरविंद केजरीवाल बोले- "हमारे वोट SAD-BJP को ट्रांसफर हुए, EVM की जांच हो"

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App