ताज़ा खबर
 

कुमारस्वामी ने कहा- पुरानी बातें छोड़िए, 5 साल का आशीर्वाद दीजिए, सोनिया बोलीं- राहुल से राजनीतिक बात कीजिए

नई दिल्ली पहुंचने के बाद कुमारस्वामी ने सबसे पहले बसपा सुप्रीमो मायावती से मुलाकात की थी। उनकी पार्टी ने इस बार चुनावों में एक सीट पर जीत दर्ज की है।

राहुल गांधी, एचडी कुमारस्वामी और सोनिया गांधी (फाइल फोटो-PTI)

कर्नाटक में बुधवार (23 मई) को कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन की नई सरकार शपथ लेने जा रही है। इससे पहले भावी मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने सोमवार को नई दिल्ली आकर कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और यूपीए चेयरपर्सन सोनिया गांधी से मुलाकात की और सरकार की स्थिरता, मंत्रिमंडल गठन, विभागों के बंटवारे पर संक्षिप्त बातचीत की। राहुल गांधी ने सभी तरह की सीट शेयरिंग और फार्मूले के लिए पार्टी महासचिव और कर्नाटक प्रभारी के सी वेणुगोपाल को अधिकृत किया है। कहा जा रहै है कि दोनों दलों के बीच तीन सीटों पर पेंच फंसा हुआ है। इनमें एक पद विधान सभा अध्यक्ष का है जबकि दो पद उप मुख्यमंत्री को लेकर है। कांग्रेस इन तीनों पदों पर अपना दावा कर रही है। आज दोनों दलों के नेता इस पर विचार-विमर्श कर रहे हैं। सूत्रों के मुताबिक बड़ा घटक दल होने के नाते विधान सभा अध्यक्ष का पद कांग्रेस को देने पर जेडीएस को कोई आपत्ति नहीं है लेकिन दो-दो उप मुख्यमंत्री पर पेंच फंस रहा है।

इधर, सोमवार को नई दिल्ली में करीब 20 मिनट के मुलाकात में दोनों तरफ से दोस्ती को लंबे समय तक निभाने की बात कही गई। सूत्र बताते हैं कि एचडी कुमारस्वामी ने सोनिया गांधी और राहुल गांधी को शपथ ग्रहण समारोह में शामिल होने का न्योता दिया और कहा कि पुरानी बातों को भुलाकर, पांच साल के लिए आशीर्वाद दीजिए। इस पर सोनिया ने कहा कि उनकी हर शुभकामना साथ है लेकिन हर तरह की राजनीतिक बात राहुल से ही कीजिए। सूत्र बताते हैं कि दोनों पक्षों ने भविष्य के लिए लंबी दोस्ती का फैसला किया है। नई दिल्ली पहुंचने के बाद कुमारस्वामी ने सबसे पहले बसपा सुप्रीमो मायावती से मुलाकात की थी। उनकी पार्टी ने इस बार चुनावों में एक सीट पर जीत दर्ज की है। माना जा रहा है कि बसपा विधायक एन महेश भी मंत्री बनाए जाएंगे। कुमारस्वामी ने 2019 के चुनावों को लेकर भी मायावती से क्षेत्रीय दलों की भूमिका पर चर्चा की।

बता दें कि सोमवार की शाम करीब 7 बजे राहुल गांघी के तुगलक लेन स्थित आधिकारिक आवास पर नेताओं ने छोटी से मुलाकात में एकसाथ कॉफी का मजा लिया। इस दौरान राहुल और कुमारस्वामी ने एकसुर में कर्नाटक में सहयोगात्मक रुख के साथ स्मूथ गवर्नेंस पर सहमति जाहिर की। इस दौरान कुमारस्वामी ने कांग्रेस नेताओं को आश्वस्त किया कि वो अच्छा शासन देंगे और इस दौरान कांग्रेस और उसके नेताओं को कोई दिक्कत नहीं होगी। इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत में जेडीएस नेता दानिश अली ने कहा कि सभी तरह के किंतु-परंतु पर मंगलवार को दोनों दलों की मीटिंग में चर्चा होगी। सूत्रों ने बताया कि दोनों पार्टियां एक कॉर्डिनेशन कमेटी का गठन करेगी जो कॉमन मिनिमम प्रोग्राम तय करेगी और सरकार उसी के अनुरूप चलेगी। कुमारस्वामी ने भी कहा कि दोनों दलों के बीच किसी तरह को तोल-मोल नहीं चल रहा है। दोनों दल एकसाथ मिलकर कर्नाटक की सेवा करेंगे। उन्होंने कहा कि वो नई दिल्ली इसी संदर्भ में चर्चा करने और सलाह लेने आए हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App