ताज़ा खबर
 

राष्ट्रपति से पार्षद तक, 24 सालों से सिर्फ एक जीत के लिए चुनाव लड़ रहा है ये ‘चायवाला’

एक 'चायवाला' प्रत्याशी भी है जो पिछले 24 सालों से चुनावी मैदान में है लेकिन एक भी बार जीत नहीं मिली।

Author November 25, 2018 10:38 AM
चायवाला आनंद सिंह कुशवाहा, फोटो सोर्स- सोशल मीडिया

मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को कई प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला जनता करेगी। ऐसे में पूरे दमखम के साथ प्रत्याशी अपना अपना प्रचार कर रहे हैं। कोई प्रत्याशी पहली बार मैदान में हैं तो कोई पुराना खिलाड़ी है लेकिन ऐसे में ही एक ‘चायवाला’ प्रत्याशी भी है जो पिछले 24 सालों से चुनावी मैदान में है लेकिन एक भी बार जीत नहीं मिली।

कौन है ‘चायवाला’ प्रत्याशी
आपने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के भाषण जरूर सुने होंगे जिसमें वो खुद को चायवाला कहकर संबोधित करते हैं। लेकिन मोदी के अलावा एक और चायवाला चुनाव में अपनी किस्मत आजमा रहे हैं। दरअसल इस चायवाला का नाम है आनंद सिंह कुशवाह। ग्वालियर के तारागंज में समाधिया कॉलोनी के गेट पर वो छोटी सी चाय की दुकान चलाते हैं। आनंद का कहना है कि जब एक चायवाला प्रधानमंत्री बन सकता है तो फिर दूसरा चायवाला किसी बड़े पद के लिए क्यों नहीं लड़ सकता। बता दें आनंद में ग्वालियर दक्षिण विधानसभा सीट से चुनावी मैदान में हैं।

राष्ट्रपति चुनाव भी लड़ चुके हैं आनंद
बता दें सिर्फ विधानसभा चुनाव के लिए ही नहीं बल्कि राष्ट्रपति के लिए भी चुनाव लड़ चुके हैं। जानकारी के मुताबिक आनंद अभी तक 3 बार राष्ट्रपति, 2 बार उप राष्ट्रपति, 3 बार सांसद, 5 बार विधायक और कई बार पार्षद चुनाव लड़ चुके हैं।

कितनी है आनंद की संपत्ति
बात अगर आनंद की संपत्ति की करें तो आनंद के पास कुछ हजार की संपत्ति है जिसकी घोषणा उन्होंने नामांकन भरते वक्त की थी। घोषणा के मुताबिक उनके पास पांच हजार नकद, पत्नी के पास मंगलसूत्र, एक साइकिल और खुद का मकान है। इसके साथ ही उन पर 12 हजार का बैंक कर्ज और अन्य से 60 हजार का कर्जा भी है।

 

चुनाव का जुनून क्यों है सवार
दरअसल 1994 में पार्षद का चुनाव लड़ने के दौरान वर्तमान मंत्री नारायणसिंह कुशवाह ने कुछ ऐसा बोल दिया था कि तभी से आनंद के सिर पर चुनाव में जीतने का जुनून सवार है। हालांकि आनंद को नारायण ने क्या कहा था ये तो किसी को भी नहीं पता लेकिन आनंद का कहना है कि जब तक वो जिंदा हैं वो चुनाव लड़ते रहेंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X