ताज़ा खबर
 

PM के गढ़ में कन्हैया कुमार का हमला- दोबारा कुर्सी के लिए झूठ फैला रहे हैं नरेंद्र मोदी

कन्हैया संग गुजरात के निर्दलीय विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवानी व पाटीदार नेता हार्दिक पटेल भी राजकोट में ‘संविधान बचाओ, देश बचाओ रैली’ को संबोधित करने के लिए उपस्थित थे।

गुजरात के राजकोट शहर में बुधवार को एक रैली के दौरान पीएम पर जुबानी हमला बोलते कन्हैया कुमार। (फोटोः एजेंसियां)

जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (जेएनयू) छात्र संघ के पूर्व अध्यक्ष कन्हैया कुमार ने कहा है कि नरेंद्र मोदी दोबारा प्रधानमंत्री बनने के लिए झूठ फैला रहे हैं। बुधवार (13 फरवरी, 2019) को कन्हैया ने यह जुबानी हमला पीएम पर उन्हीं के गढ़ गुजरात में रहकर बोला। उन्होंने आरोप लगाया कि मोदी लोकसभा चुनाव के बाद एक बार फिर से पीएम बनने के लिए झूठ फैला रहे हैं।

कन्हैया, फरवरी 2016 को जेएनयू परिसर में कथित तौर पर देश विरोधी नारेबाजी के लिए देशद्रोह के आरोपों का सामना कर रहे हैं। उन्होंने राजकोट में एक रैली के दौरान कहा, बीजेपी सरकार से नौकरी देने या स्वास्थ्य एवं शिक्षा के क्षेत्र को मजबूत करने में उसकी ‘विफलता’ को लेकर सवाल पूछने का उनका अधिकार है।

बकौल पूर्व छात्रसंघ अध्यक्ष, “दोबारा प्रधानमंत्री बनने के लिए वह (मोदी) एक के बाद एक झूठ फैला रहे हैं। उनका कृत्य गुजरात की छवि को खराब कर रहा है। मोदी आप हमें बताएं आपने अपने शासनकाल के दौरान क्या किया। आप मुझे सवाल पूछने से नहीं रोक सकते।”

कन्हैया संग गुजरात के निर्दलीय विधायक और दलित नेता जिग्नेश मेवानी व पाटीदार नेता हार्दिक पटेल भी राजकोट में ‘संविधान बचाओ, देश बचाओ रैली’ को संबोधित करने के लिए उपस्थित थे। इस रैली का आयोजन कांग्रेस के पूर्व विधायक इंद्रनील राज्यगुरु ने किया था। संबोधन में मेवानी ने बीजेपी पर आरोप मढ़ा कि सत्तारूढ़ पार्टी बेरोजगारी जैसे प्रमुख मुद्दों से लोगों का ध्यान भटकाने के लिए राम मंदिर के मुद्दे पर जोर दे रही है।

वहीं, रैली में हार्दिक पटेल ने कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि अगर उन्हें देशद्रोह के आरोपों में जेल में डाला जाता है तो जब उनका समय आएगा तब वह ‘बदला’ लेंगे। रैली से पहले तीनों ने राजकोट में एक संवाददाता सम्मेलन को भी संबोधित किया। (भाषा इनपुट्स के साथ)

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App