ताज़ा खबर
 

सुबह कांग्रेस में हुए शामिल, शाम में मिला टिकट, वाजपेयी सरकार में रह चुके हैं मंत्री

सरताज सिंह केंद्र की अटल बिहारी वाजपेयी की 13 दिनों की पहली सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं। जब भाजपा ने अपनी तीसरी लिस्ट में उन्हें उम्मीदवार नहीं बनाया तो वो फूटफूटकर रोने लगे थे।

गुरुवार (08 नवंबर) को जारी पांचवी सूची में कांग्रेस ने सरताज सिंह को होशंगाबाद से उम्मीदवार बनाया है।

मध्य प्रदेश विधान सभा चुनावों के लिए कांग्रेस ने उम्मीदवारों की कुल पांच लिस्ट जारी की है। गुरुवार (08 नवंबर) को जारी पांचवी सूची में कांग्रेस ने सरताज सिंह को होशंगाबाद से उम्मीदवार बनाया है। वो गुरुवार की सुबह ही भाजपा छोड़ कांग्रेस में शामिल हुए थे। सरताज सिंह केंद्र की अटल बिहारी वाजपेयी की 13 दिनों की पहली सरकार में मंत्री भी रह चुके हैं। जब भाजपा ने अपनी तीसरी लिस्ट में उन्हें उम्मीदवार नहीं बनाया तो वो फूटफूटकर रोने लगे थे। भाजपा ने विधान सभा अध्यक्ष सीताशरण शर्मा को वहां से उतारा है। इसके बाद उन्होंने बिना देरी किए झटपट कांग्रेस की सदस्यता ले ली। कांग्रेस ने भी उन्हें शाम होते-होते होशंगाबाद से सरताज सिंह को अपना उम्मीदवार बना दिया। सरताज सिंह शुक्रवार को नामांकन दाखिल करेंगे।

कांग्रेस का पांचवी लिस्ट में श्योपुर से बाबू जंदेल, पन्ना से शिवजीत सिंह, जबलपुर उत्तर से विनय कुमार सक्सेना, नीमच से सत्यनारायण पाटीदार, मानसा से उमराव सिंह गुर्जर, गोविंदपुरा से गिरीश शर्मा को उम्मीदवार बनाया है। इस लिस्ट में कांग्रेस ने कुल 17 लोगों को टिकट दिया है। कांग्रेस ने कुल पांच चरणों में राज्य की सभी 230 विधान सभा सीटों के लिए उम्मीदवारों का एलान कर दिया है।  पार्टी ने पहली लिस्ट में 155, दूसरी लिस्ट में 16, तीसरी लिस्ट में 13, चौथी लिस्ट में 29 और पांचवी लिस्ट में कुल 17 उम्मीदवार उतारे हैं। चौथी लिस्ट में ही कांग्रेस ने सीएम शिवराज सिंह चौहान के साले संजय सिंह को बालाघाट जिले की वारासिवनी सीट से उम्मीदवार बनाया है।

उधर, पार्टी के सीनियर नेता और पूर्व सांसद सत्यव्रत चतुर्वेदी के बेटे नितिन चतुर्वेदी ने कांग्रेस से टिकट नहीं मिलने पर समाजवादी पार्टी के उम्मीदवार के तौर पर राजनगर से नामांकन दाखिल किया है। इस बीच सत्यव्रत चतुर्वेदी ने कहा है कि उन्होंने न तो कांग्रेस छोड़ी है और न ही कांग्रेस की विचारधारा। उन्होंने कहा कि अगर कांग्रेस ने पिछले 15 सालों में जो गलती की है, वही गलती दोहरा रही है तो यह घातक है। उन्होंने कहा कि जितना बड़ा पाप है, उतना ही बड़ा पाप, अन्याय सहना। माना जा रहा है कि चतुर्वेदी बेटे को टिकट नहीं दिए जाने से नाराज हैं।

मध्य प्रदेश विधान सभा चुनाव के लिए जारी कांग्रेस की पांचवीं सूची।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App