ताज़ा खबर
 

Elections 2019: नए सांसदों को नहीं मिलेगा फाइव स्टार होटल का मजा, इस बार की गई है नई व्यवस्था

17वीं लोकसभा के गठन के कुछ ही दिन शेष रहने के बीच संसद में जीतकर आने वाले किसी भी नए सांसद को होटल में नहीं ठहराया जाएगा। इनके ठहरने के लिए वेस्टर्न कोर्ट सहित राजधानी में मौजूद अलग- अलग राज्यों के भवन में व्यवस्था की गई है।

Author नई दिल्ली | Updated: May 22, 2019 6:52 PM
भारतीय संसद। फोटो सोर्स : इंडियन एक्सप्रेस

17वीं लोकसभा के गठन के कुछ ही दिन शेष रहने के बीच संसद में जीतकर आने वाले किसी भी नए सांसद को होटल में नहीं ठहराया जाएगा। इनके ठहरने के लिए वेस्टर्न कोर्ट सहित राजधानी में मौजूद अलग- अलग राज्यों के भवन में व्यवस्था की गई है। लोकसभा महासचिव स्रेहलता श्रीवास्तव ने बुधवार को संवादाताओं को यह जानकारी दी । उन्होंने बताया कि इन स्थानों पर करीब तीन सौ कमरे आरक्षित किए गए हैं। इस कवायद को सांसदों को होटल में ठहराने पर होने वाले भारी भरकम खर्चों में कटौती से जोड़कर देखा जा रहा है। लोकसभा महासचिव ने बताया, ‘‘ लोकसभा के नवनिर्वाचित सदस्यों को अस्थायी तौर पर होटलों में ठहराने की पुरानी व्यवस्था समाप्त कर दी गयी है। नव निर्वाचित सांसदों को होटलों की बजाय वेस्टर्न कोर्ट, नवनिर्मित एनेक्सी भवन और विभिन्न राज्यों के भवनों में ठहराया जाएगा ।’’ उन्होंने बताया कि अभी करीब 250 सांसदों के ठहरने की व्यवस्था की गई है। जब तक उन्हें स्थायी आवास नहीं मिल जाते हैं तब तक उनके लिये अस्थायी रूप से ठहरने की व्यवस्था की गई है।

लोकसभा चुनाव में 23 मई को जीतकर नए सदस्य सदन में अपनी उपस्थिति दर्ज कराएंगे। मौजूदा व्यवस्था के तहत विजयी सभी सांसदों के ठहरने की व्यवस्था संसद की ओर से की जाती है। हालांकि, इसका खर्च डायरेक्टरेट आफ एस्टेट्स करता है । लोकसभा सचिवालय ने नव निर्वाचित सांसदों के पंजीकरण से लेकर राष्ट्रीय राजधानी में उनकी सुविधा के व्यापक प्रबंधन किये हैं। इसके लिये 56 नोडल अधिकारी समेत 150 कर्मचारियों की टीम बनाई गई है। प्रत्येक नोडल अधिकारी के जिम्मे 8-10 सीट दिये गए हैं ।

सांसदों की सुविधा को ध्यान में रखते हुए पहली बार रिर्टिनंग ऑफिसर को अग्रिम फार्म भेजे गए हैं ताकि उनसे जुड़Þी प्रारंभिक जानकारी एकत्र की जा सके । प्रौद्योगिकी का इस्तेमाल करते हुए सभी दस्तावेजों को दो हिस्सों में बांटा गया है । ये दोनों भाग लोकसभा सचिवालय की वेवसाइट पर उपलब्ध हैं। सदस्य प्रथम हिस्से के संदर्भ में आनलाइन पंजीकरण करा सकते हैं। राष्ट्रीय राजधानी आने पर नये सांसदों को तत्काल पहचान पत्र प्रदान किये जायेंगे ।
लोकसभा सचिवालय ने इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डा और नयी दिल्ली रेलवे स्टेशन, पुरानी दिल्ली रेलवे स्टेशन, हजरज निजामुददीन रेलवे स्टेशन, आनंद विहार रेलवे स्टेशन पर गाइड पोस्ट स्थापित किये हैं ।

संसद भवन में कमरा संख्या 62 में नये सदस्यों के लिये सुविधा केंद्र स्थापित किये गए हैं। इसमें एक डेस्क पर सदस्य पंजीकरण, वेतन, भत्ता सहित सभी औपचारिकताओं को पूरा कर सकते हैं ।  सांसदों को एक ब्रीफकेस भी दिया जायेगा जिसमें मैनुअल, भारत का संविधान, हैंड बुक, स्पीकर के नियमों से जुड़ी पुस्तिका एवं अन्य सामग्री होगी । इसके साथ ही पेन ड्राइव में अन्य सामग्री भी प्रदान की जायेगी । संसद भवन एवं वेस्टर्न कोर्ट में 24 घंटे चिकित्सा सुविधा उपलब्ध होगी ।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Elections 2019: रैली के मामले में राहुल गांधी ने मोदी को पछाड़ा, 8 संवाददाता सम्मेलन भी किए संबोधित
2 Elections 2019: लोकसभा चुनावों में RJD को लालू की गैरहाजिरी खली, तेजप्रताप बोले- बड़ी चुनौती थी
3 Loksabha Election 2019: बीजेपी के लिए ‘इलेक्‍ट्रॉनिक विक्‍ट्री मशीन’ बनी ईवीएम, चुनाव आयोग पर भी कांग्रेस ने लगाए गंभीर आरोप