ताज़ा खबर
 

Election Results 2019: तृणमूल को दल-बदल का डर! ममता के एमएलए ने की बीजेपी नेता की तारीफ, हुए सस्पेंड

Chunav Result 2019, Lok Sabha Election Results 2019: पार्टी द्वारा निलंबित किए जाने के बाद शुभ्रांशु राय ने कहा कि वह कुछ दिनों में भाजपा में शामिल होंगे। उन्होंने कहा, ‘‘अब, मैं खुलकर सांस लूंगा। तृणमूल में कई लोगों का दम घुट रहा है।’’

Author May 25, 2019 9:39 AM
ममता बनर्जी। (PTI Photo/Swapan Mahapatra)

Election Results 2019: तृणमूल कांग्रेस ने बीजपुर से अपने विधायक और भाजपा नेता मुकुल राय के बेटे शुभ्रांशु राय को पार्टी विरोधी बयानबाजी करने पर छह साल के लिए निलंबित कर दिया है। तृणमूल महासचिव पार्थ चटर्जी ने इसकी जानकारी दी। संवाददाता सम्मेलन में पार्थ चटर्जी ने कहा, ‘‘ वह लगातार पार्टी विरोधी बयान देते रहे। हमारी पार्टी की अनुशासनात्मक इकाई ने पार्टी सुप्रीमो ममता बनर्जी के साथ मशविरा करने के बाद उन्हें निष्कासित करने का फैसला किया है।’’ बीजपुर से दूसरी बार के विधायक शुभ्रांशु ने इससे पहले संवाददाता सम्मेलन किया और अपने पिता के संगठन कौशल की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि उन्होंने अपने विधानसभा क्षेत्र में अपनी पार्टी को बढ़त देने का प्रयास किया लेकिन वह ऐसा नहीं कर पाये क्योंकि उनके पिता उनसे बेहतर संगठनकर्ता हैं।

टीएमसी विधायक ने कहा कि, ‘‘आज मुझे यह कहने में कोई हिचक नहीं है कि मैं अपने पिता से हार गया। वह बंगाल की राजनीति के असली चाणक्य हैं। हमारी पार्टी हार गयी है और लोगों ने हमारे खिलाफ वोट डाला। हमें यह स्वीकार करना चाहिए।’’ बीजपुर विधानसभा क्षेत्र बैरकपुर लोकसभा क्षेत्र का हिस्सा है। जहां से भाजपा उम्मीदवार अर्जुन सिंह ने लोकसभा चुनाव में जीत दर्ज की है। बता दें कि आम चुनावों में पश्चिम बंगाल में भाजपा ने शानदार प्रदर्शन करते हुए राज्य की 42 लोकसभा सीटों में से 18 सीटों पर कब्जा कर लिया है। वहीं टीएमसी 22 सीटें ही जीतने में ही सफल हो सकी।

Loksabha Election 2019 Results live updates: See constituency wise winners list

वहीं पार्टी द्वारा निलंबित किए जाने के बाद शुभ्रांशु राय ने कहा कि वह कुछ दिनों में भाजपा में शामिल होंगे। उन्होंने कहा, ‘‘अब, मैं खुलकर सांस लूंगा। तृणमूल में कई लोगों का दम घुट रहा है।’’ उन्होंने दावा किया कि पार्टी के कई अन्य नेता ‘‘उनके पदचिन्हों पर’’ चलेंगे। शुभ्रांशु रॉय ने कहा, ‘‘मेरे पिता ने मुझे सतर्क रहने की सलाह दी है क्योंकि मुझे झूठे आपराधिक मामले में फंसाया जा सकता है या मुझ पर हमला किया जा सकता है… मैं दो तीन दिन में भाजपा में शामिल होऊंगा।’’

तृणमूल कांग्रेस में कभी दूसरे नंबर के समझे जाने वाले मुकुल राय पार्टी सुप्रीमो ममता बनर्जी से संबंध खराब होने के बाद नवंबर, 2017 में भाजपा में शामिल हो गये थे। इस लोकसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल में भाजपा के अच्छे प्रदर्शन का श्रेय मुकुल राय को ही जाता है। इसी बीच, तृणमूल नेतृत्व ने चुनाव में खराब प्रदर्शन पर पहली बार चुप्पी तोड़ी। ममता चटर्जी ने कहा, ‘‘ चुनाव हारने का मतलब हार नहीं होता है। यह राजनीतिक सफर का अभिन्न हिस्सा है। भाजपा ने चुनाव जीतने के लिए झूठ फैलाया। यह अस्थायी दौर है जो शीघ्र ही बीत जाएगा। पहले हमने दलों को 400 सीटें (कांग्रेस ने 1984 में) जीतते देखा है लेकिन यह जल्द ही टॉय टॉय फिस्स हो गया। इस मामले में वही होगा, देखिए और इंतजार कीजिए।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

X