ताज़ा खबर
 

दो दशक बाद कन्नौज में कमल खिलाने वाले सुब्रत पाठक का बढ़ सकता है कद, कानपुर-बुंदेलखंड के 3 सांसद भी कतार में

Chunav Result 2019, Lok Sabha Election Results 2019: लोकसभा चुनाव 2019 में कानपुर- बुंदेलखंड रीजन में बीजेपी के सुब्रत पाठक, रामशंकर कठेरिया और सत्यदेव पचौरी जैसे नेताओं ने अपने सामने खड़े बड़े नाम वाले नेताओं को शिकस्त दी है।

सुब्रत पाठक, सत्यदेव पचौरी और रामशंकर कठेरिया फोटो सोर्स- स्थानीय

Election Results 2019: लोकसभा चुनाव 2019 के नतीजों में बीजेपी ने शानदार प्रदर्शन करते हुए उत्तर प्रदेश की 80 लोकसभा सीटों में से 60 पर कब्जा किया है। कानपुर बुंदेलखंड की 10 में से 10 सीटों पर बीजेपी ने जीत हासिल कर इतिहास रच दिया। इत्र नगरी नगरी के नाम से मशहूर कन्नौज सपा का गढ़ कहा जाता था, पार्टी यहां पिछले 2 दशकों से जीतती आ रही थी। लेकिन इस बार बीजेपी के सुब्रत पाठक ने कन्नौज में सपा के विजय रथ को रोकते हुए डिंपल यादव को करारी शिकस्त दी है। राजनीतिक जानकारों की मानें तो पाठक की इस बड़ी जीत के चलते उनका कद बढ़ा है और उनके मंत्रिमंडल में शामिल होना लगभग तय है। हालांकि इसकी कोई आधिकारिक घोषणा नहीं हुई है।

National Hindi News, 26 May 2019 LIVE Updates: दिन-भर की बड़ी खबरों के लिए क्लिक करें 

मंत्री पद की रेस में चल रहा इनका नाम: जानकारों की माने तो कानपुर- बुंदेलखंड के तीन सांसदों का नाम मंत्री पद की रेस में चल रहा है। जिनमें पहला नाम कानपुर लोकसभा सीट से सांसद बने सत्यदेव पचौरी का है l पचौरी वर्तमान में उत्तर प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री भी है। इसके अलावा इटावा के सांसद राम शंकर कठेरिया भी मंत्रीपद के दावेदार बताए जा रहे हैं। कठेरिया वर्तमान में राष्ट्रीय अनुसूचित जनजाति एंव जनजाति आयोग के अध्यक्ष हैं। वहीं कन्नौज के सांसद सुब्रत पाठक ने डिंपल यादव को हरा कर पार्टी में अपना कद बढ़ा लिया। ऐसे में उनके भी मंत्री बनने के कयास लगाए जा रहे है।

जीतने वाले सांसद: कन्नौज से सांसद चुने गए बीजेपी के सुब्रत पाठक 2014 के लोकसभा चुनाव में भी कन्नौज से चुनाव लड़े थे, लेकिन तब पाठक को सपा की डिंपल यादव ने 19,907 वोटों से हरा दिया था। लेकिन 2019 में खुद को कन्नौज का बेटा बताते हुए सुब्रत पाठक ने डिंपल को करारी शिकस्त दी। इसी तरह कानपुर लोकसभा सीट पर बीजेपी के सत्यदेव पचौरी ने कांग्रेस के कद्दावर नेता और पूर्व केंद्रीय कोयला मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल को 1,55,033 वोटों से हरा दिया। जबकि इटावा लोकसभा सीट जिसे सपा का गढ़ माना जाता है, वहां बीजेपी ने लगातार दूसरी बार जीत का परचम लहराया है। यहां बीजेपी के रामशंकर कठेरिया ने सपा के कमलेश कठेरिया को 63,717 वोटों से हराया है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Election Results 2019: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘इंक्रीमेंट’ में दलितों, आदिवासियों का बड़ा योगदान! अतिरिक्त सांसदों में से आधे सुरक्षित सीटों से जीते
2 बीजेपी की जीत पर बोले नोबल पुरस्कार विजेता अमर्त्य सेन- उपलब्धियों के सहारे नहीं, डर के बलबूते जीते हैं मोदी
3 बनारस को भव्य तरीके से शुक्रिया कहने के लिए मोदी ने बनाया प्लान, जानें