ताज़ा खबर
 

Election Results 2019: भोपाल से साध्वी प्रज्ञा आगे, जेल में हुए टॉर्चर की आपबीती सुनाते हुए रो पड़ी थीं भाजपा उम्मीदवार

Lok Sabha Election/Chunav Results 2019: भोपाल से भाजपा की उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर आगे चल रही हैं। भोपाल भाजपा की पारंपरिक सीट है और पार्टी 1989 से यहां कभी नहीं हारी है।

साध्वी प्रज्ञा मालेगांव बम धमाकों के मामले में जमानत पर हैं। (फाइल फोटोःपीटीआई)

Lok Sabha Election/Chunav Results 2019: भोपाल से भाजपा उम्मीदवार साध्वी प्रज्ञा ठाकुर अपने विरोधी उम्मीदवार कांग्रेस के दिग्विजय सिंह से आगे चल रही हैं। दिग्विजय सिंह राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री और कांग्रेस के राज्य सभा से सांसद हैं। भाजपा ने इस बार यहां से अपने मौजूदा सांसद आलोक संजर का टिकट काटकर मालेगांव बम धमाकों के आरोपी को उम्मीदवार बनाया था। साध्वी ने यहां जोरदार ढंग से चुनाव प्रचार किया था।

Election Results 2019 LIVE Updates: यहां देखें नतीजे
चुनाव प्रचार के दौरान खुद पर जेल में हुए प्रताड़ना की आपबीती बताते हुए साध्वी प्रज्ञा रो पड़ी थीं। साध्वी प्रज्ञा ने बताया था कि उन्हें गैर कानूनी रूप से 13 दिन तक हिरासत में रखा गया। पहले दिन से ही उन्हें पीटना शुरू कर दिया गया था। साध्वी ने कहा था, ‘इतनी चौड़ी (हाथ से इशारा करते हुए) बेल्ट रहती है और उस बेल्ट में लकड़ी की मजबूत मूंठ लगा देते थे। यदि वह बेल्ट आपके हाथ में पड़ेगी तो हाथ सूज जाएगा।’
Lok Sabha Election Results 2019 LIVE: Check Here
भाजपा उम्मीदवार ने कहा था, ‘ये जो बेल्ट मारते थे, पूरा नर्वस सिस्टम ढीला पड़ जाता था, सुन्न पड़ जाता था। ये दिन रात चलता था। इतनी गंदी-गंदी गाली देते थे कि कोई स्त्री सुन न सके।’ ये बताते-बताते वह रोने लगीं। इसके अलावा साध्वी ने हिंदू आतंकवाद के मुद्दे पर कांग्रेस उम्मीदवार दिग्विजय सिंह को घेरा था।

साध्वी ने प्रचार के दौरान जेल में रहने के दौरान खुद पर हुए यातानाओं की कहानी बताई थी। साध्वी की तरफ से इस संबंध में पर्चे भी बंटवाए गए थे। इससे पहले साध्वी मुंबई के 26/11 आतंकी हमले में मारे गए एटीएस प्रमुख हेमंत करकरे को लेकर विवादित बयान दिया था।

इस बयान के बाद साध्वी का काफी आलोचना हुई थी। साध्वी ने कहा था कि हेमंत करकरे की मौत उनके श्राप देने के कारण ही हुई थी। देश भर में आलोचना के बाद भाजपा ने भी साध्वी के बयान से किनारा कर लिया था। हालांकि, बाद में साध्वी ने अपने बयान के लिए माफी मांगी थी।

इसके बाद साध्वी ने महात्मा गांधी के हत्यारे नाथूराम गोडसे को देशभक्त बताकर दुबारा विवादों में घिर गई थीं। साध्वी फिल्म अभिनेता कमल हासन द्वारा नाथू राम गोडसे को पहला ‘हिंदू आतंकवादी’ बताए जाने के बाद अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त कर रही थीं।  साध्पावी पार्टी ने इस बयान पर साध्वी से माफी मांगने को कहा था।

 

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories