ताज़ा खबर
 

चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को दी नसीहत, कहा- अभियान के दौरान इस्तेमाल न करें सेना की तस्वीरें

चुनाव आयोग ने राजनीतिक दलों को हिदायत देते हुए कहा कि वे अपने उम्मीदवारों, नेताओं को सलाह दें कि चुनाव प्रचार अभियान के तहत रक्षा कर्मियों या आयोजनों की तस्वीरों को अपने विज्ञापनों में शामिल करने से बचें।

lok sabha election 2019चुनाव आयोग फोटो सोर्स- फाइनेंसियल एक्सप्रेस

आगामी लोकसभा चुनाव से पहले चुनाव आयोग ने सुरक्षाबलों की तस्वीरों का चुनाव प्रचार में इस्तेमाल रोकने के लिए नोटिस जारी किया है। चुनाव आयोग ने बिना नाम लिए सभी राजनीतिक दलों को हिदायत देते हुए कहा कि है वे अपने उम्मीदवारों के कैंपेन में सुरक्षाबलों की फोटो के इस्तेमाल पर रोक लगाएं। बता दें कि इस संबंध में आयोग ने सभी मान्यता प्राप्त राजनीतिक दलों के अध्यक्षों, चेयरपर्सन और महासचिवों को पत्र लिखा था।

दरअसल, 4 दिसंबर 2013 को रक्षा मंत्रालय द्वारा आयोग को लिखे पत्र में कहा गया था कि राजनीतिक दलों और नेताओं की ओर से सेना के जवानों की फोटो का इस्तेमाल किया जा रहा है और इस पर आयोग राजनीतिक दलों को दिशा-निर्देश दे। रक्षा मंत्रालय के इसी पत्र का हवाला देते हुए चुनाव आयोग ने शनिवार को बिना नाम लिए राष्ट्रीय और क्षेत्रीय राजनीतिक दलों को सेना के जवानों की फोटो इस्तेमाल न करने के निर्देश दिए हैं। साथ ही आयोग की तरफ से कहा गया है कि ऐसा करने वाले नेताओं और दलों के खिलाफ कोई कार्रवाई आचार संहिता लागू होने के बाद की जा सकती है।

चुनाव आयोग का बयान- आयोग ने शनिवार को राजनीतिक दलों को हिदायत देते हुए कहा कि चुनाव आयोग का मानना है कि सेनाध्यक्ष या किसी अन्य रक्षा कर्मियों की तस्वीरें और रक्षा बलों के कार्यों की तस्वीरें किसी भी तरह से विज्ञापन, प्रचार, अभियान में या किसी अन्य तरीके से इस्तेमाल न किया जाए। आयोग ने अपने पत्र में कहा है कि यहां यह उल्लेख करना उचित है कि किसी राष्ट्र के सशस्त्र बल उसके सीमावर्ती, सुरक्षा और राजनीतिक व्यवस्था के संरक्षक होते हैं। वे एक आधुनिक लोकतंत्र में राजनीतिक और तटस्थ हितधारक हैं। इसलिए यह आवश्यक है कि राजनीतिक दल और नेता अपने राजनीतिक अभियानों में सशस्त्र बलों का कोई भी संदर्भ देते समय बहुत सावधानी बरतें।

Next Stories
1 बिहारः बेटी की शादी के कार्ड पर लिखवाया, ‘तोहफे मत लाना, राष्ट्र कल्याण के लिए वोट मोदी को देना’
2 राज ठाकरे बोले- फिर हो सकती है पुलवामा जैसी घटना, भाजपा को चुनाव जीतने का टेंशन है
3 भीम आर्मी चीफ बोले, ‘प्रमोशन बिल पर रुख साफ करें सपा-बसपा, तभी हम समर्थन देंगे’
ये पढ़ा क्या?
X