ताज़ा खबर
 

कमल हासन के खिलाफ हाई कोर्ट पहुंचे बीजेपी नेता अश्विनी उपाध्याय, अदालत बोली- सही मंच पर जाएं

बेंच में शामिल जी एस सिसतानी और ज्योति सिंह ने कहा कि कमल हासन ने यह बयान तमिलनाडु में दिया है ऐसे में याचिकाकर्ता सही मंच पर जाकर अपनी बात रखें।

lok sabha election, lok sabha election 2019, election 2019, election 2019, election 2019 news, election live, live news, today live news, election today news, election commission of india, election commission of india up, election commission of india up news, up news, election 2019 live voting, lok sabha election live voiting, lok sabha chunav, lok sabha chunav live news, how to check name in voter listकमल हासन। (फोटो: इंडियन एक्सप्रेस)

Loksabha Election 2019: अभिनेता से राजनेता बने कमल हासन के ‘हिंदू आतंकवाद’ पर दिए बयान पर को लेकर बीजेपी नेता अश्विनी अपाध्याय की याचिका को दिल्ली हाई कोर्ट ने बुधवार (15 मई 2019) को खारिज कर दिया। कोर्ट ने कहा कि वह अपनी बात रखने के लिए सही मंच पर जाएं।

बेंच में शामिल जस्टिस जी एस सिसतानी और जस्टिस ज्योति सिंह ने कहा कि कमल हासन ने यह बयान तमिलनाडु में दिया है ऐसे में याचिकाकर्ता सही मंच पर जाकर अपनी बात रखें। इसके साथ ही कोर्ट ने चुनाव आयोग से कहा है कि वह इस मामले में बीजेपी नेता की याचिका में की गई मांगों पर संज्ञान लें।

बता दें कि ‘मक्कल नीधि मय्यम’ के अध्यक्ष कमल हसन ने तमिलनाडु में 13 मई को मुस्लिम बहुल इलाके अरावाकुरुची विधानसभा क्षेत्र में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था कि महात्मा गांधी की हत्या करने वाला नाथूराम गोडसे आजाद भारत का पहला हिंदू आतंकी कहा था।

अपनी पार्टी के उम्मीदवार के लिए चुनाव प्रचार के दौरान उन्होंने कहा ‘मैं ऐसा इसलिए नहीं बोल रहा हूं कि यह मुसलमान बहुल इलाका है, बल्कि मैं यह बात गांधी की प्रतिमा के सामने बोल रहा हूं। आजाद भारत का पहला आतंकवादी हिन्दू था और उसका नाम नाथूराम गोडसे है। वहीं से इसकी (आतंकवाद) शुरुआत हुई।’

बीजेपी नेता और वकील उपाध्याय ने अपनी याचिका में उनके इस बयान को चुनावी फायदे के लिए दिया गया बयान कहा है और आचार संहिता का उल्लंघन बताया है। उन्होंने अपने बयान के जरिए हिंदू समुदाय की भावनाओं को भी ठेस पहुंचाने की कोशिश की है। वह जानबूझकर धर्म के आधार पर अपने बयान के जरिए विभिन्न समूहों के बीच नफरत को बढ़ावा दे रहे हैं। उनका बयान पूर्णत: निंदनीय है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 वीडियो: मेरा घरवाला पंजाबी है- बोलकर मुस्कुराने लगीं प्रियंका गांधी, पंजाबी में भाषण भी दिया
2 Lok Sabha Election 2019: फिर पाला बदलेंगे नीतीश? बीच चुनाव जद(यू) के सुर बदलने से उठा सवाल, चुप हैं कुमार
3 गोड्डा: 2014 जैसा रहा वोटिंग पैटर्न तो भाजपा की हैट्रिक मुश्किल, JVM के पक्ष में लामबंद यादव-मुस्लिम-आदिवासी 
ये पढ़ा क्या?
X