ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: बूथ कमेटियों को सक्रिय करने में जुटी कांग्रेस

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): प्रियंका गांधी से मिले कड़े निर्देश के बाद से पार्टी के 40 से अधिक वरिष्ठ नेता लगातार अपने क्षेत्रों में कैंप कर रहे हैं। प्रियंका गांधी के एक बेहद करीबी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तीन दिन पूर्व वाराणसी पहुंचकर बूथ स्तर तक की कमेटियों को सक्रिय करने के निर्देश वरिष्ठ नेताओं को दे आए हैं।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी महासचिव प्रियंका गांधी। (फोटो सोर्स- रेणुका पुरी इंडियन एक्सप्रेस के लिए)
Lok Sabha Election 2019: उत्तर प्रदेश में कुछ छोटे दलों के संग चुनाव लड़ने को तैयार कांग्रेस बूथ स्तर पर अपने कार्यकर्ताओं को सहेजने में जुटी है। प्रदेश के 15000 बूथों पर हर बूथ पर कम से कम दस यूथ का फॉर्मूला वह आजमाने जा रही है। पार्टी के वरिष्ठ नेता खुद इसकी कमान संभाले हुए हैं और अपने क्षेत्रों में बीते एक पखवाड़े से पड़ाव डाले हुए हैं। बूथ कमेटियों के अलावा कांगेस सेक्टर कमेटियों और जोन स्तर के संगठन को भी धार देने की कोशिश में है, ताकि वो समाजवादी पार्टी और बहुजन समाज पार्टी के गठबंधन के अलावा भारतीय जनता पार्टी को भी प्रदेश की सभी लोकसभा सीटों पर कड़ी टक्कर दे सके। इस बार उसे सपा-बसपा गठबंधन से भी कड़ा मुकाबला करना है।

उत्तर प्रदेश के कांग्रेसियों की अब तक की सुस्त रफ्तार की कलई प्रियंका गांधी और ज्योतिरादित्य सिधिंया के आने के बाद खुलने लगी है। उत्तर प्रदेश में राहुल गांधी के रोड शो के दो दिन के बाद से लगातार 72 घंटों तक प्रियंका गांधी ने पूर्वी उत्तर प्रदेश की 42 और ज्योतिरादित्य सिंधिया ने पश्चिमी उत्तर प्रदेश की 38 सीटों के कार्यकर्ताओं से जब बात की तो उन्हें बूथ स्तर की हकीकत का इल्म हुआ। उन्होंने पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं से अपील की कि वे आपसी मनमुटाव भुलाकर पार्टी के लिए पूरी ईमानदारी से काम करें। कांग्रेस के प्रदेश मुख्यालय पर सुबह चार बजे तक कार्यकर्ताओं के साथ प्रियंका गांधी ने संवाद स्थापित किया। कांग्रेस के वरिष्ठ नेता बताते हैं कि कार्यकर्ताओं से लगातार संवाद स्थापित करने के बाद प्रियंका गांधी को पार्टी के भीतर जिले व ब्लाक स्तर तक व्याप्त गुटबंदी की पूरी कहानी पता चली।

इसके बाद उन्होंने अपने विश्वासपात्र नेताओं को बूथ स्तर की कमेटियों को सक्रिय करने के निर्देश दिए। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता बताते हैं कि प्रियंका गांधी ने अपने नेताओं से दो-टूक कहा कि जब वे दोबारा उत्तर प्रदेश प्रवास पर आएं तो उन्हें प्रगति से अवगत कराया जाए। इस काम में कोताही वे बर्दाश्त नहीं करेंगी। इसके लिए उन्होंने प्रत्येक नेता से लिखित रिपोर्ट तैयार कर उनके समक्ष प्रस्तुत करने को कहा।

प्रियंका गांधी से मिले कड़े निर्देश के बाद से पार्टी के 40 से अधिक वरिष्ठ नेता लगातार अपने क्षेत्रों में कैंप कर रहे हैं। प्रियंका गांधी के एक बेहद करीबी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता तीन दिन पूर्व वाराणसी पहुंचकर बूथ स्तर तक की कमेटियों को सक्रिय करने के निर्देश वरिष्ठ नेताओं को दे आए हैं। उधर जिन कांग्रेसियों को प्रियंका ने बूथ स्तर पर कमेटियों को सक्रिय करने का जिम्मा सौंपा है, वे हर रोज बूथ स्तर तक कार्यकर्ताओं को जोड़ने के काम में युद्ध स्तर तक जुटे हैं। पार्टी के एक वरिष्ठ नेता अशोक सिंह ने इसी क्रम में इटावा में कई दिनों तक प्रवास कर सघन जनसंपर्क किया है। इटावा में कांग्रेस का सघन जनसंपर्क समाजवादी पार्टी के गढ़ में उसकी घुसपैठ का इजहार कर रहा है।

कांग्रेस के नेता अखिलेश प्रताप सिंह पूर्वांचल में इस वक्त डेरा डाले हुए हैं। उन्होंने बताया कि हम अपने कार्यकर्ताओं की टीम को सक्रिय करने में जुटे हैं। हमने बूथ स्तर पर कमेटियों का गठन किया है। सेक्टर व जोन स्तर पर भी कमेटियों के गठन का काम जारी है। अखिलेश प्रताप सिंह ने बताया कि पूर्वांचल में हमारा फोकस हर हाल में प्रत्येक बूथ पर 20 यूथ को तैनात करना है। इस काम को हम लगभग पूरा कर चुके हैं। इस बार हम संचार क्रान्ति का पूरा इस्तेमाल चुनाव अभियान के लिए करेंगे। वाट्स ऐप और एसएमएस के लिए ग्रुप तैयार किए जा रहे हैं, ताकि अधिक से अधिक लोगों तक पहुंचा जा सके और उन्हें मौजूदा केंद्र् सरकार की हकीकत से अवगत कराया जा सके।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: सात सीटों को बचाने के लिए भाजपा को मजबूत उम्मीदवारों की तलाश
2 शहरी और ग्रामीण आबादी के बीच बंटा विकास
3 Lok Sabha Election 2019: एनडीए के मंत्री बोले- भाजपा का राष्ट्रवाद चुनावी स्टंट, बुला रही सपा-बसपा