ताज़ा खबर
 

अपनी ही पार्टी पर बरसीं प्रियंका चतुर्वेदी, बोलीं- गुंडों को मिल रही कांग्रेस में तरजीह

कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी ने उनके साथ बदसलूकी करने वाले नेताओं को पार्टी में फिर से वापस लेने के ऐलान के बाद ट्वीट कर अपनी नाराजगी जताई है।

कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी फोटो सोर्स- जनसत्ता

कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी से बदसलूकी करने के आरोप में पार्टी से बर्खास्त नेताओं को एक बार फिर से कांग्रेस में शामिल कर लिया गया है। इसके बाद प्रियंका ने पार्टी के इस निर्णय को दुर्भाग्यपूर्ण बताया है। बता दें कि उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी की तरफ से एक पत्र जारी कर जानकारी दी गई कि प्रियंका प्रियंका चतुर्वेदी के साथ अमर्यादित व्यवहार के चलते जिन लोगों पर अनुशासनात्मक कार्यवाही की गई थी उनके द्वारा खेद प्रकट करने और अपनी बहाली के लिए जो निवेदन किया गया था उसे पार्टी ने स्वीकार कर लिया है। बता दें कि इन आठ बर्खास्त लोगो को कांग्रेस महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया की संस्तुति के बाद वापस पार्टी में लिया गया है। बताया जा रहा है कि ये पत्र 15 अप्रैल को लिखा गया था।

प्रियंका ने जताई नाराजगी: बता दें कि बदसलूकी के आरोप में बाहर किए गए नेताओं को फिर से पार्टी में लेने के बाद प्रियंका ने ट्वीट कर नाराजगी जताई है है। उन्होंने लिखा कि पार्टी में जो लोग मेहनत करके अपनी जगह बना रहे, उनके बदले ऐसे लोगों को तवज्जो मिल रही है। प्रियंका के मुताबिक पार्टी के लिए हमने गालियां और पत्थर खाए हैं, लेकिन उसके बावजूद पार्टी के नेताओं ने ही मुझे धमकियां दीं। कांग्रेस प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि धमकियां देने वालों का बिना किसी कड़ी कार्रवाई के बच जाना काफी दुर्भाग्यपूर्ण हैं। प्रियंका ने लिखा कि मुझे गहरा दुख हुआ कि गुंडों को पार्टी में तरजीह दी जा रही है।

National Hindi News, 17 April 2019 LIVE Updates: दिन भर की बड़ी खबरों के लिए यहां क्लिक करें

क्या था मामला: दरअसल, पिछले साल सितंबर महीने में कांग्रेस प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी मथुरा आईं हुई थी। इस दौरान उन्होंने राफेल डील के मुद्दे पर एक प्रेस वार्ता की थी, जिसमें पार्टी के कई कार्यकर्ता और पदाधिकारी भी मौजूद थे। आरोप था कि इस प्रेस वार्ता के दौरान पार्टी के कुछ नेताओं ने नारेबाजी करते हुए प्रियंका के साथ बदसलूकी की थी। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक इस घटना के बाद प्रियंका ने दिल्ली जाकर इस बात की शिकायत यूपी कांग्रेस के अध्यक्ष राज बब्बर से की थी। जिसके बाद पार्टी ने कार्यवाही करते हुए गिरधारी पाठक, भूरी सिंह जायस, प्रताप सिंह, प्रवीण ठाकुर, अशोक सिंह, उमेश पंडित, अब्दुल जब्बार, यतीन्द्र जैसे नेताओं को कांग्रेस से निलंबित कर दिया था।

 

पत्र में क्या लिखा है: उत्तर प्रदेश कांग्रेस कमेटी की तरफ से जारी किए गए पत्र में निलंबित नेताओं को संबोधित करते हुए लिखा है कि आप लोगों द्वारा खेद प्रकट करते हुए अपनी बहाली हेतु निवेदन किया था। ऐसे में कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव ज्योतिरादित्य सिंधिया की संस्तुति के बाद आप सभी के विरुद्ध कुछ दिन पहले की गई कार्यवाही को निरस्त किया जाता है। इसके अलावा पत्र में ये भी लिखा है कि पार्टी अपेक्षा करती है कि आप लोग भविष्य में ऐसा कोई कृत्य करेंगे जिससे पार्टी की छवि को नुकसान हो। गौरतलब है कि कांग्रेस की राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रियंका चतुर्वेदी मूल रूप से मथुरा की ही रहने वाली हैं। हालांकि वर्तमान में वे अब परिवार समेत मुंबई में रहती हैं। पिछले साल एक सितंबर को राफेल डील पर प्रेस वार्ता करने वे मथुरा गई थीं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App