ताज़ा खबर
 

कांग्रेस का केजरीवाल पर हमला, कहा- अगर हम BJP के साथ तो AAP क्यों थी गठबंधन के लिए बेताब?

2019 Lok Sabha Election: आम आदमी पार्टी द्वारा कांग्रेस के ऊपर बीजेपी से मिलीभगत का आरोप लगाने के बाद हारून युसूफ ने कहा कि अगर कांग्रेस, बीजेपी के साथ मिली हुई तो फिर केजरीवाल, कांग्रेस के साथ गठबंधन के लिए इतने परेशान क्यों थे?

Author March 7, 2019 4:49 PM
congress, aap, bjpकांग्रेस नेता हारून युसूफ फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

2019 Lok Sabha Election: आगामी लोकसभा चुनाव से पहले आम आदमी पार्टी (आप) ने कांग्रेस के ऊपर बीजेपी से मिलीभगत का आरोप लगाया था। इसके बाद कांग्रेस ने ‘आप’ पर पलटवार करते हुए आरोपों को दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल की बौखलाहट बताया है। साथ ही दावा किया कि आगामी चुनाव में उनकी ‘झूठ की राजनीति’ का अंत हो जाएगा। कांग्रेस नेता हारून यूसुफ ने पूछा कि अगर कांग्रेस, बीजेपी के साथ मिली हुई तो फिर केजरीवाल, कांग्रेस के साथ गठबंधन के लिए इतने परेशान क्यों थे?

दरअसल, हाल ही में केजरीवाल ने दिल्ली में लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस से गठबंधन की इच्छा जताई थी। लेकिन कांग्रेस की तरफ से साफ कह दिया गया कि कांग्रेस-आप के बीच कोई गठबंधन नहीं होगा। इस पर ‘आप’ की ओर से कांग्रेस पर आरोप लगाया कि उसकी बीजेपी के साथ मिलीभगत है। इसी मुद्दे पर कांग्रेस नेता हारून यूसुफ ने मीडिया से बात करते हुए कहा, “अगर भाजपा के साथ हमारी मिलीभगत है तो केजरीवाल हमारे साथ आने के लिए क्यों परेशान थे? दरअसल, केजरीवाल की बौखलाहट का मुख्य कारण है कि चार साल पहले जो वादा पूरा करके सत्ता में आए थे, उनको पूरा करने में विफल रहे। आप देखेंगे कि आने वाले चुनाव में केजरीवाल की झूठ की राजनीति का अंत हो जाएगा।

 

गठबंधन के सवाल पर बोले कांग्रेस नेता- ‘आप’ के साथ गठबंधन नहीं करने के फैसले पर यूसुफ ने कहा, “हमारी पार्टी में सबकी राय ली जाती है और बहुमत से फैसला होता है। आखिर में जो फैसला हुआ वो सर्वसम्मति से हुआ। ज्यादातर लोगों की यह राय थी कि अगर केजरीवाल को इस समय ऑक्सीजन दिया जाता है तो आने वाले विधानसभा चुनाव में दिल्ली में कांग्रेस को बहुत भारी नुकसान हो सकता है।”

वादे से पलटे केजरीवाल- कांग्रेस नेता ने दावा किया, “केजरीवाल अपने हर वादे से पलटी मार चुके हैं। जिस जनलोकपाल के नाम पर सत्ता में आए थे, उसी को भूल गए। वह रोजाना गोलपोस्ट बदलते हैं। इसी तरह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी वादे को पूरा नहीं कर पाए तो लोगों का ध्यान बांटने की कोशिश कर रहे हैं। जनता अब दोनों की हकीकत जान चुकी है।”

केजरीवाल पर लगाया आरोप- इसके बाद युसूफ ने कहा कि केजरीवाल सरकार ने पूर्व की शीला दीक्षित सरकार की ओर से शुरू की गई कई कल्याणकारी योजनाओं को बंद कर दिया जिससे दिल्ली के आम लोगों को बहुत नुकसान हुआ है।

Next Stories
1 पुराने मुख्‍यालय में बीजेपी का वॉर-रूम तैयार, बड़ी स्‍क्रीन्‍स पर हर राज्‍य का लेटेस्‍ट डेटा
2 खुद को किंगमेकर बता घिरे प्रशांत किशोर, JDU प्रवक्‍ता ने कहा- गलतफहमी न पालें
3 अरविंद केजरीवाल को छोड़ कांग्रेस में जाने की तैयारी में AAP के नौ विधायक?
ये पढ़ा क्या?
X