ताज़ा खबर
 

‘एक्जिट पोल वालों ने फोन किया है, आप जीत रहे हैं’, जानें और क्या बोले कांग्रेस नेता कमलनाथ

राज्य में बड़ी जीत के दावे के साथ ही उन्होंने सरकार बनने के बाद किए जाने वाले अहम फैसले का भी जिक्र किया। सरकार बनाने के बाद कमलनाथ अंग्रेजों के दिए प्रशासनिक नामों को बदलेंगे।

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता कमलनाथ (फोटो सोर्स : PTI)

मध्य प्रदेश में हुए विधानसभा चुनाव के परिणाम आने में कुछ दिन ही बचे हैं। लेकिन राज्य में कांग्रेस कमिटी के प्रेसीडेंट कमलनाथ अपनी जीत पर आश्वस्त हैं। उन्होंने दावा किया है कि इस बार कांग्रेस के खाते में 140 सीट आएंगी। साथ ही कमलनाथ ने कहा कि, मुझे एक्जिट पोल करने वालों ने फोन कर बताया कि आप जीत रहे हैं।

भोपाल में प्रेस कांफ्रेंस के दौरान कमलनाथ ने कहा कि, 11 नवंबर को मध्य प्रदेश में कांग्रेस इतिहास लिखने जा रही है। पार्टी 140 सीट पर विजयी होगी। एक्जिट पोल वालों ने बताया है कि आप जीत रहे हैं। पत्रकारों के सामने कमलनाथ ने माना कि, गुजराज और कर्नाटक असेम्बली इलेक्शन में पार्टी से कुछ गलतियां हुईं। अब उन्हीं गलतियों से सीखते हुए मध्य प्रदेश के चुनाव में नई रणनीति बनाकर अमल किया गया। उन्होंने कहा कि, यह चुनाव बीजेपी और जनता के बीच था। राज्य की जनता भाजपा को सबक सिखाएगी।

पत्रकारों द्वारा मुख्यमंत्री पद पर सवाल पूछे जाने पर कमलनाथ ने कहा, मुझे सीएम पद मिलने की कोई चिंता नहीं, तो आप सब क्यों चिंतित हैं। साथ ही उन्होंने तंज कसा कि, शिवराज अगले तीन चार दिन ही मुख्यमंत्री पद पर हैं, तो आप इस पर बोल लें। राज्य में बड़ी जीत के दावे के साथ ही उन्होंने सरकार बनने के बाद किए जाने वाले अहम फैसले का भी जिक्र किया। सरकार बनाने के बाद कमलनाथ अंग्रेजों के दिए प्रशासनिक नामों को बदलेंगे।

उन्होंने कहा, सत्ता में आते ही व्यवस्था में बदलाव के तहत कलेक्टर नाम बदला जाएगा। क्योंकि यह नाम अंग्रेजों ने दिया था। इनका काम कलेक्शन करना था। कलेक्शन करने के कारण कलेक्टर कहलाए जाने लगे। उन्होंने कहा कि कलेक्टरों से ही इस पद नाम को बदलकर नया नाम रखने के लिए उनकी सलाह लूंगा।

बता दें कि, मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को मतदान हुआ था। यहां की 230 विधानसभा सीटों पर एक ही चरण में वोटिंग हुई थी। राज्य में हुए मतदान की तस्वीर 11 दिसंबर को साफ हो जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App