ताज़ा खबर
 

आयोग का निर्देश, एग्जिट पोल से जुड़े ट्वीट हटाए ट्विटर

चुनाव आयोग को शिकायत मिली थी कि विभिन्न सोशल मीडिया मंचों पर एग्जिट पोल के नाम पर अभियान चलाया जा रहा है, जिससे मतदाता प्रभावित हो सकते हैं। इसके बाद चुनाव आयोग ने यह फैसला लिया है।

Author May 17, 2019 3:00 AM
चुनाव आयोग ने निर्देश जारी कर दिए हैं.

चुनाव आयोग ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म ट्विटर को आदेश दिया है कि वह लोकसभा चुनाव 2019 से जुड़े हुए सभी एग्जिट पोल को हटा दे। आयोग का यह निर्देश यूट्यूब, फेसबुक समेत अन्य सभी सोशल मीडिया मंचों पर भी लागू होगा। आयोग के मुताबिक, इस आदेश के बाद ट्विटर समेत सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म से एग्जिट पोल हटाए जाएंगे। एग्जिट पोल के साथ ज्योतिष, टैरो कार्ड और चुनावी आकलन पर भी प्रतिबंध लगा दिया गया है।

चुनाव आयोग ने ट्विटर से 2019 लोकसभा चुनाव से संबंधित सभी एग्जिट पोल तत्काल हटाने को आदेश दिया है। चुनाव आयोग को शिकायत मिली थी कि विभिन्न सोशल मीडिया प्लेटफॉर्मों पर एग्जिट पोल के नाम पर अभियान चलाया जा रहा है, जिससे मतदाता प्रभावित हो सकते हैं। इसके बाद चुनाव आयोग ने यह फैसला लिया है। चुनाव के दौरान ऐसे किसी भी तरह के एग्जिट पोल पर रोक लगाई जाती है, जो चुनाव को प्रभावित कर सकते हों, या जिनमें किसी पार्टी के हारने या जीतने के आंकड़े पेश किए जाते हों।

चुनाव आयोग को एक ट्विटर इस्तेमाल कर्ता ने ऐसे एग्जिट पोल जारी किए जाने के बारे में शिकायत की है। ट्विटर के एक वरिष्ठ अधिकारी के मुताबिक, चुनाव आयोग ने हमसे लिखित तौर पर कुछ नहीं कहा है। हमें बस एक मामले की जानकारी दी गई थी, जिसे यूजर ने खुद ही हटा लिया था। मतदान से ठीक पहले एग्जिट पोल के नतीजे जारी करना आदर्श आचार संहिता के उल्लंघन के दायरे में आता है। इससे पहले चुनाव आयोग ने कुछ मीडिया कंपनियों को लोकसभा चुनावों के नतीजों के बारे में अनुमान जताने वाले सर्वेक्षणों को जारी करने पर कारण बताओ का नोटिस जारी किया गया था।

आयोग के निर्देशानुसार एग्जिट पोल सभी चरणों का मतदान खत्म होने के बाद ही जारी किए जाते हैं। मतदान के बाद मतदान केंद्र से बाहर निकलने वाले मतदाता से पूछा जाता है कि उसने किसे वोट दिया। इस आधार पर किए गए सर्वेक्षण से व्यापक नतीजे निकाले जाते हैं जिसे एग्जिट पोल कहते हैं। चुनाव आयोग ने पिछले आम चुनाव से पहले सोशल मीडिया के लिए अक्तूबर, 2013 में नियमावली बनाई थी।

आमतौर पर टीवी चैनलों को चुनाव के आखिरी दिन मतदान खत्म होने के बाद ही एग्जिट पोल ही दिखाने की अनुमति होती है। इस साल एग्जिट पोल पर को लेकर चुनाव आयोग ने सात अप्रैल को अधिसूचना जारी की थी, जिसके मुताबिक एग्जिट पोल पर 11 अप्रैल की सुबह से लेकर 19 मई की शाम 6:30 बजे तक प्रतिबंध रहेगा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App