ताज़ा खबर
 

एमपी: सरकारी सेवकों के संघ की शाखा में जाने पर लगेगी रोक, कांग्रेस का चुनावी वादा

संघ को "राजनीतिक संगठन" करार देते हुए पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदम्बरम ने कहा कि मध्य प्रदेश की सत्ता में आने पर वह इस संस्था की शाखाओं में सरकारी कारिंदों के जाने पर रोक लगायेगी।

Author November 11, 2018 9:33 PM
p chidambaram

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ को “राजनीतिक संगठन” करार देते हुए पूर्व वित्त मंत्री पी. चिदम्बरम ने रविवार को कांग्रेस के इस चुनावी वादे को सही ठहराया कि मध्यप्रदेश की सत्ता में आने पर वह इस संस्था की शाखाओं में सरकारी कारिंदों के जाने पर रोक लगायेगी। चिदम्बरम ने यहां संवाददाताओं से कहा, “वे (संघ के लोग) इस बात से कितना भी इंकार करें, लेकिन हकीकत यही है कि संघ एक राजनीतिक संगठन है। इस संगठन का सियासी एजेंडा है।”

उन्होंने कहा, “मध्यप्रदेश की सत्ता में आने पर कांग्रेस अपना संबंधित चुनावी वादा जरूर निभायेगी, ताकि संघ की शाखाओं में सरकारी कारिंदों के शामिल होने की प्रवृत्ति पर रोक लग सके। इस वादे में कुछ भी गलत नहीं है।” पूर्व वित्त मंत्री ने कहा, “प्रदेश की जनता भी इस कदम का स्वागत करेगी, क्योंकि सरकारी कारिंदों को किसी राजनीतिक संगठन से नहीं जुड़ना चाहिये।”

कांग्रेस ने शनिवार को जारी अपने “वचन पत्र” (चुनावी घोषणा पत्र) में “सामान्य प्रशासन और प्रशासनिक सुधार” के अध्याय में कहा है कि 28 नवम्बर को होने वाले विधानसभा चुनावों के जरिये सत्ता में आने पर शासकीय परिसरों में संघ की शाखाएं लगाने पर प्रतिबंध लगाया जायेगा । इसके साथ ही, सरकारी अधिकारी-कर्मचारियों को इन शाखाओं में हिस्सा लेने की छूट के आदेश को भी रद्द किया जायेगा।

चिदम्बरम ने उत्तरप्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के इस ताजा आरोप को सिरे से खारिज किया कि अयोध्या में राम मंदिर के निर्माण की राह में कांग्रेस “सबसे बड़ी बाधा” है। उन्होंने कहा, “किसी भी मंदिर के निर्माण में कांग्रेस कोई बाधा नहीं है। राम मंदिर का मुकदमा फिलहाल शीर्ष न्यायालय में लम्बित है। हमारा स्पष्ट मत है कि पहले अदालत इस मामले में अपना फैसला सुनाये। फिर हम इस मसले का समाधान खोजने की कोशिश करेंगे।”

पूर्व वित्त मंत्री ने कहा, “हम बहुत खुश होंगे कि अगर इस मुकदमे से जुड़े सभी पक्ष राम मंदिर मसले का अदालत से बाहर कोई हल निकाल लें।” चिदम्बरम ने एक सवाल पर कहा, “मेरी जानकारी के मुताबिक हमारी पूर्ववर्ती यूपीए सरकार ने ऐसा बयान कभी नहीं दिया था कि राम एक काल्पनिक किरदार थे।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App