ताज़ा खबर
 

Madhya Pradesh Elections: हत्या से यौन शोषण तक के आरोपी, चुनाव में ठोक रहे ताल

हर बार चुनावी पार्टियां साफ सुथरे किरदार को मैदान में उतारने की बात कहती है लेकिन ऐसा होता नहीं है। जानकारी के मुताबिक इस बार भी प्रदेश में करीब 147 ऐसे उम्मीदवार हैं जिनके खिलाफ धोखाधड़ी से लेकर हत्या और हत्या के प्रयास जैसे कई संगीन मामले दर्ज हैं।

Author Published on: November 25, 2018 12:47 PM
मध्य प्रदेश के आरोपी नेता हैं मैदान में, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

मध्य प्रदेश में 28 नवंबर को जनता चुनावी मैदान में उतरे प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला लिखेगी। ऐसे में सभी प्रत्याशी पूरे दमखम से अपने प्रचार प्रसार में जुटे हैं और चुनाव जीतने के बाद कैसे दिन बदलेंगे इस बात के वादे और दावे किए जा रहे हैं। हर बार चुनावी पार्टियां साफ सुथरे किरदार को मैदान में उतारने की बात कहती है लेकिन ऐसा होता नहीं है। जानकारी के मुताबिक इस बार भी प्रदेश में करीब 147 ऐसे उम्मीदवार हैं जिनके खिलाफ धोखाधड़ी से लेकर हत्या और हत्या के प्रयास जैसे कई संगीन मामले दर्ज हैं।

नाम- हेमंत कटारे
क्या है आरोप- छात्रा का यौन शोषण
पार्टी- कांग्रेस (अटेर विधायक)
अटेर विधायक और कांग्रेस उम्मीदवार हेमंत कटारे पर छात्रा ने यौन योषण का आरोप लगाया था। जिसके बाद पुलिस ने मामला दर्ज किया था। एक तरफ जहां छात्रा ने यौन शोषण का आरोप लगाया तो वहीं कटारे ने छात्रा पर ब्लैकमैल करने का आरोप लगाया। फिलहाल मामला कोर्ट में लंबित है।

नाम- आरिफ मसूद
क्या है आरोप- हत्या का प्रयास
पार्टी- कांग्रेस (मध्य भोपाल)
मध्य भोपाल से कांग्रेस प्रत्याशी आरिफ मसूद पर शाहजहांनाबाद थाने में हत्या के प्रयास का मामला दर्ज है। अपने नामांकन में चुनाव आयोग को दिए शपथ पत्र में इसाक जिक्र है। गौरतलब है कि ये मामला कोर्ट में लंबित है।

नाम- एदल सिंह
क्या है आरोप- पुलिस पर किया हमला
पार्टी- कांग्रेस (सुमावली)
कांग्रेस प्रत्याशी एदल सिंह को लेकर पुलिस को ये जानकारी मिली थी उन्होंने हत्या का प्रयास करने वाले आरोपी को अपनी कोठी में रखा है। ऐसे में जब पुलिस टीम आरोपी को पकड़ने एदल के घर पहुंची तो एदल ने अपने साथियों संग पुलिस पर हमला बोल दिया था। इसके साथ ही तत्कालीन टीआई के साथ हाथापाई भी की थी। इस मामले की 10 दिसंबर 2018 को अदालत में सुनवाई होनी है।

नाम- मोहन सेंगर
क्या है आरोप- हत्या के आरोपी
पार्टी- कांग्रेस (इंदौर 2)
1997 में तत्कालीन पार्षद राजेश जोशी की राखोड़ीवाला धर्मशाला में हत्या हुई थी। इसमें इंदौर 2 से कांग्रेसी उम्मीदवार सेंगर के खिलाफ भी केस दर्ज किया था। अदालत ने मई 2001 को उन्हें सजा सुनाई थी। लेकिन बाद में उन्हें हाइकोर्ट ने बरी कर दिया था। जिसके बाद सरकार ने फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी, जहां ये मामला लंबित है।

नाम- नरेन्द्र सिंह कुशवाह
क्या है आरोप- सटोरिए को छुड़ाने के लिए थाने में किया बवाल
पार्टी- समाजवादी पार्टी (भिण्ड)
बता दें कि नरेन्द्र सिंह कुशवाह को भाजपा से इस बार टिकट नहीं मिला था तो वो सपा के टिकट से मैदान में उतरे हैं। जानकारी के मुताबिक भिंड सिटी कोतवाली पुलिस शहर के किनारे रहने वाले अनीश कुरैशी को 7 जनवरी 2017 को क्रिकेट सट्टा में गिरफ्तार किया था। जिसके थोड़ी देर बाद ही नरेन्द्र थाने में पहुंचे और जमकर बवाल किया। गौरतलब है कि पुलिस ने अनीश को न्यायलय में पेश कर उसे जमानतक पर रिहा कर दिया।

नाम- संजय पाठक
क्या है आरोप- हवालाकांड में आरोपी
पार्टी- भाजपा (विजयराघवगढ़)
विजयराघवगढ़ सीट के विधायक और राज्यमंत्री संजय पाठक का नाम हवालाकांड में आने पर सरकार ने कटनी के तत्कालीन पुलिस अधिक्षक गौरव तिवारी का तबादला कर दिया था। गौरतलब है कि जनवरी 2017 में गौरव ने ही इस मामले पर रोशनी डाली थी। इस मामले में संजय के करीबी सतीश सरावगी को गिरफ्तार किया गया था। आपको बता दें कि पुलिस पूछताछ के कुछ घंटो बाद ही सरावगी का अकाउंटेंट संजय तिवारी गायब हो गया था।

नाम- सुरेन्द्र पटवा
क्या है आरोप- उधारी चुकाने के लिए दिया चेक हुआ बाउंस
पार्टी- भाजपा (भोजपुर)
पर्यटन व संस्कृति राज्य मंत्री और पूर्व मुख्यमंत्री सुंदरलाल पटवा के भतीजे सुरेन्द्र पटवा पर चेक बाउंस को लेकर मामला दर्ज है। चुनाव आयोग को नामांकन के साथ दिए गए शपथ पत्र पर इसकी जानकारी उन्होंने दी थी। आपको बता दें कि सुरेन्द्र के पास इंदौर में पटवा ऑटोमोबाइल्स एजैंसी है। जिसके चलते बैंक ऑफ बड़ोदा के साथ इनका 34 करोड़ का लेनदेन विवाद है। जिसमें बैंक ने इन्हें डिफॉल्टर के नोटिस जारी कर रखे हैं। मामला फिलहाल कोर्ट में लंबित है।

नाम- लाल सिंह आर्य
क्या है आरोप- हत्या के सह आरोपी
पार्टी- भाजपा (गोहद)
लाल सिंह आर्य पर हत्या का संगीन आरोप है। बता दें 2009 में लोकसभा प्रचार के दौरान 13 अप्रैल को कांग्रेस विधायक माखन जाटव की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। हत्याकांड के चश्मदीद बनवारी लाल जाटव ने कोर्ट में बयान देकर कहा था कि लाल सिंह ने कटा था- जाटव जिंदा नहीं बचना चाहिए। इसे गोली मार दो। जिसके बाद कोर्ट ने लाल सिंह को इस मामले में सह आरोपी बनाया था।

नाम- प्रीतम लोधी
क्या है आरोप- 34 मामलों के आरोपी
पार्टी- भाजपा (पिछोर)
प्रीतम लोधी पर बदमाश हरेन्द्र राणा को घर में रहने के लिए जगह देने का आरोप है और इस ही आरोप में इन्हें गिरफ्तार किया गया था। प्रीतम के खिलाफ मुरार थाने में 1995 में मारपीट, जान से मारने की धमकी देने का केस दर्ज है। इसके साथ ही 2012 में इसके खिलाफ हत्या, हत्या का प्रयास, डकैती की साजिश रचना जैसे करीब 34 मामले दर्ज हुए। गौरतलब है कि लोधी पूर्व मुख्यमंत्री उमा भारती के करीबी माने जाते हैं।

नाम- जालम सिंह पटेल
क्या है आरोप- दंगा और हत्या के प्रयास के आरोपी
पार्टी- भाजपा (नरसिंहपुर)
आयुष विभाग के राज्यमंत्री जालम सिंह पटेल पर हत्या का प्रयास और दंगे का आरोप है। 18 नवंबर 2014 को गोटेगांव नगर पालिका चुनाव को लेकर प्रत्याशियों का प्रचार चल रहा था। इस बीच दो पक्षो में विवाद हुआ, जिसमें कुछ जालम के पक्ष के शामिल थे। मारटपीट के बाद दोनों पक्षो के घायल लोग पहले थाने गए और फिर उसके बाद सरकारी हॉस्पिटल, जहां पुलिस की मौजूदगी में फिर घातक हथियारों से हमले हुए। इस बार यहां जालम भी मौजूद था।

 

28 नवंबर को होगा मतदान

गौरतलब है कि प्रदेश में 230 सीटों के लिए 28 नवंबर को मतदान किया जाएगा। ऐसे में प्रदेश की सियासत गरमाई हुई है। आरोप- प्रत्यारोपों के साथ वार-पलटवार का जोरदार सिलसिला जारी है। बता दें 11 दिसंबर को विधानसभा के नतीजे सभी के सामने होंगे।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 राष्ट्रपति से पार्षद तक, 24 सालों से सिर्फ एक जीत के लिए चुनाव लड़ रहा है ये ‘चायवाला’
2 इंदिरा-राजीव-सोनिया कर चुके हैं गऊ घाट पर पूजा, लेकिन राहुल को हुई मनाही, जानें वजह
3 Madhya Pradesh Elections: शिवराज की तारीफ कर राहुल ने किया पीएम मोदी पर हमला
जस्‍ट नाउ
X