ताज़ा खबर
 

उम्मीदवार कहीं से और मतदाता कहीं से

गुरुग्राम सीट पर लोसुपा-बसपा गठबंधन उम्मीदवार चौ. रईस अहमद मूल रूप से उत्तर प्रदेश के बदायूं के भयाम नगर के रहने वाले हैं। यहां से कांग्रेस उम्मीदवार कैप्टन अजय सिंह यादव रेवाड़ी और भाजपा के राव इंद्रजीत सिंह रामपुरा गांव में वोट डालेंगे।

Author Published on: May 8, 2019 1:59 AM
पांचवें चरण का मतदान हो गया है। (प्रतीकात्मक तस्वीर)

संजीव शर्मा

हरियाणा में लोकसभा चुनाव प्रचार के दौरान दिन-रात मतदाताओं को वोट डालने की अपील करने वाले उम्मीदवार खुद वोट नहीं डाल पाएंगे। हरियाणा में होने वाले लोकसभा चुनाव की यह सचाई है। इस बार राजनीतिक दलों द्वारा ज्यादातर प्रत्याशियों के लोकसभा क्षेत्र बदले गए हैं। जिन नेताओं को इसका आभास था, वे पहले ही अपने वोट कटवा कर उसी जगह बनवा चुके हैं, जहां से वे राजनीति कर रहे हैं। इस बार के लोकसभा चुनावों में राजनीतिक हालात ही कुछ ऐसे बने कि कई बड़े सियासी घरानों को अपने इलाकों से बाहर जाकर चुनाव लड़ऩा पड़ा। सोनीपत संसदीय क्षेत्र को भी पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा का गढ़ ही माना जाता है, लेकिन हुड्डा का वोट उनके पैतृक गांव सांघी में है।

ऐसे में हुड्डा 12 मई को अपना वोट डालने के लिए सोनीपत से सांघी जाएंगे। सोनीपत से ही जननायक जनता पार्टी उम्मीदवार दिग्विजय सिंह चौटाला भी अपना वोट नहीं डाल सकेंगे। उन्हें वोट डालने के लिए सिरसा जाना होगा। वे सिरसा की राम कालोनी के स्थायी निवासी हैं। इसी सीट से लोसुपा-बसपा गठबंधन की प्रत्याशी राजबाला सैनी नई दिल्ली में जाकर मतदान करेंगी। वे मूल रूप से दिल्ली के मुल्तान नगर स्थित हरी सिंह पार्क की रहने वाली हैं।

अंबाला से कांग्रेस उम्मीदवार व पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी सैलजा ने नामांकन-पत्र में अपना स्थायी पिता हिसार के डाबरा चौक स्थित वार्ड नंबर-25 का दिया हुआ है। उनका वोट भी यहीं बना हुआ था, लेकिन उन्होंने यहां से कटवा कर अंबाला के पते पर वोटर कार्ड बनवा लिया है। अंबाला में राष्ट्रीय लोकस्वराज पार्टी के प्रत्याशी पूर्णचंद पंजाब के राजपुरा कस्बे के रहने वाले हैं। कुरुक्षेत्र से कांग्रेस प्रत्याशी निर्मल सिंह का वोट अंबाला कैंट के 129 एलन्बे लाइन्स के पते पर बना हुआ है। यहां से भाजपा उम्मीदवार एवं राज्य मंत्री नायब सिंह सैनी को मतदान करने के लिए नारायणगढ़ के मिर्जापुर माजरा गांव आना होगा। सैनी यहीं के मूल निवासी हैं और नारायणगढ़ से ही वे विधायक भी हैं। इनेलो प्रत्याशी अर्जुन सिंह चौटाला का वोट सिरसा के तेजाखेड़ा गांव में बना हुआ है।

करनाल सीट पर बसपा-लोसुपा प्रत्याशी पंकज भी वोट पोल नहीं कर सकेंगे। वे मूल रूप से पुंडरी के रमाणा-रमाणी गांव के रहने वाले हैं। रोहतक में भाजपा टिकट पर चुनाव लड़ रहे डॉ. अरविंद शर्मा भी खुद के निर्वाचन क्षेत्र में मतदान नहीं कर सकेंगे। वे करनाल के सेक्टर-6 स्थित अर्बन एस्टेट के स्थायी निवासी हैं। ऐसे में शर्मा को वोट डालने के लिए 12 मई को करनाल दौड़ऩा होगा। रोहतक से ही लोसुपा-बसपा उम्मीदवा किशनलाल पांचाल को वोट दिल्ली में डालना होगा। वे दिल्ली के सुलेमान नगर स्थित रतन विहार के रहने वाले हैं। कांग्रेस प्रत्याशी दीपेंद्र सिंह हुड्डा का वोट सांघी गांव में है। इसी तरह से हिसार में भाजपा उम्मीदवार बृजेंद्र सिंह अपने पैतृक गांव डूमरखां और कांग्रेस के भव्य बिश्नोई आदमपुर में वोट डालेंगे। जजपा के दुष्यंत चौटाला ने सिरसा की राम कालोनी को अपना स्थायी पता बताया है।

गुरुग्राम सीट पर लोसुपा-बसपा गठबंधन उम्मीदवार चौ. रईस अहमद मूल रूप से उत्तर प्रदेश के बदायूं के भयाम नगर के रहने वाले हैं। यहां से कांग्रेस उम्मीदवार कैप्टन अजय सिंह यादव रेवाड़ी और भाजपा के राव इंद्रजीत सिंह रामपुरा गांव में वोट डालेंगे। फरीदाबाद से कांग्रेस प्रत्याशी अवतार सिंह भड़ाना ने स्थाई पता नोएडा के सेक्टर-47 का दिया है। आप-जेजेपी गठबंधन उम्मीदवार नवीन जयहिंद चुनाव तो फरीदाबाद से लड़ रहे हैं, लेकिन वोट नहीं डाल सकेंगे। उनका वोट रोहतक के भैंसरू कलां गांव में बना हुआ है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भारी पड़ेगा धूमल-नड्डा में छत्तीस का आंकड़ा!
2 चुनाव के आखिरी दौर में बदली ‘आप’ की रणनीति
3 Election 2019: सिद्धारमैया ने BJP पर साधा निशाना, कहा- मैं भी चौकीदार की जगह, मैं पागल हूं कहें पार्टी के नेता
ये पढ़ा क्या...
X