ताज़ा खबर
 

मायावती का राहुल की ‘NYAY’ योजना पर निशाना, कहा- कांग्रेस और BJP एक ही थाली के चट्टे-बट्टे

Lok Sabha Election 2019: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के गरीबों को 72,000 रुपए सालाना देने के वादे के दो दिन बाद ही बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने इसे चुनावी धोखा बताया है।

LOK SABHA ELECTION 2019, MAYAWATI, RAHUL GANDHI, MODIमायावती का कांग्रेस और बीजेपी पर तंज फोटो सोर्स- फाइनेंसियल एक्सप्रेस

Lok Sabha Election 2019: बहुजन समाज पार्टी (बीएसपी) सुप्रीमो मायावती ने बुधवार (27 मार्च) को कांग्रेस और बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा कि दोनों ही पार्टियां एक ही थाली के चट्टे-बट्टे हैं। उन्होंने कहा कि सत्ताधारी बीजेपी का यह आरोप सही है कि कांग्रेस का गरीबी हटाओ-2 का नारा चुनावी धोखा है। हालांकि मायावती ने बीजेपी पर भी वादाखिलाफी का आरोप लगाया है। बता दें कि हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने ऐलान किया था कि यदि उनकी सरकार बनी तो 20 फीसदी सबसे गरीब परिवारों को हर साल 72,000 रुपये दिए जाएंगे।

मायावती का बयान: बीएसपी सुप्रीमों मायावती ने कांग्रेस और बीजेपी पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया, ‘‘सत्ताधारी बीजेपी हमेशा कांग्रेस पार्टी पर आरोप लगाती है कि उसका गरीबी हटाओ-2 का नारा चुनावी धोखा है। यह सच है, लेकिन चुनावी धोखा व वादाखिलाफी का अधिकार क्या सिर्फ बीजेपी के पास ही है? गरीबों, मजदूरों, किसानों आदि के हितों की उपेक्षा के मामले में दोनों ही राजनीतिक दल एक ही थाली के चट्टे-बट्टे हैं।’’

National Hindi News Today LIVE: पढ़ें आज की बड़ी खबरें

राहुल ने की थी गरीबी हटाने की बात: बता दें कि हाल ही में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक प्रेस वार्ता के दौरान घोषणा की थी कि कांग्रेस की सरकार बनने के बाद देश के 20 फीसदी सबसे गरीब परिवारों को हर साल 72,000 रुपये दिए जाएंगे। गौरतलब है कि इससे पहले राहुल की दादी और पूर्व पीएम इंदिरा गांधी ने भी ‘गरीबी हटाओ’ का नारा दिया था। मायावती का आज का बयान इसी के मद्देनजर माना जा रहा है।

 

नोटबंदी पर भी साधा था निशाना: बीएसपी प्रमुख मायावती केंद्र सरकार द्वारा की गई नोटबंदी योजना पर भी तंज कसते हुए ट्वीट किया। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था, “अपरिपक्व तरीके से थोपी गई नोटबंदी की आर्थिक इमरजेंसी का कुप्रभाव भले ही धन्नासेठों पर न पड़ा हो, लेकिन ग्रामीण भारत पर इसका बहुत ही बुरा प्रभाव जारी है। कामगार बेरोजगार होकर गांव वापस लौटने व मजदूरी करके गुजर-बसर करने पर मजबूर हैं, आंकड़े गवाह हैं। क्या बीजेपी माफी मांगेगी?”

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Loksabha Election 2019: चौकीदार को इस्‍तीफा सौंपकर BJP सांसद अंशुल वर्मा ने छोड़ी पार्टी, सपा में हुए शामिल
2 PM Narendra Modi Address to Nation: अंतरिक्ष में भारत ने सिर्फ 3 मिनट में मार गिराया सैटेलाइट, जानें क्या है LEO में किया गया मिशन शक्ति ऑपरेशन, Video
3 Election 2019: पिछले लोकसभा चुनाव में इन 10 राज्यों ने किया सबसे ज्यादा NOTA का इस्तेमाल, मेघालय नंबर वन
यह पढ़ा क्या?
X