ताज़ा खबर
 

कर्नाटक: सिर्फ 55 घंटों में कुर्सी गंवा कर शर्मनाक रिकॉर्ड बना गए बीएस येदियुरप्‍पा

येदियुरप्पा को राज्यपाल ने बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का लंबा वक्त दिया था, लेकिन कांग्रेस इसके विरोध में सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई। कोर्ट ने 26 घंटे के अंदर शनिवार की शाम चार बजे तक बहुमत साबित करने का आदेश दिया। बहुमत जुटाने में असमर्थ येदियुरप्पा ने सीएम बनने के महज 55 घंटे बाद ही इस्तीफा दे दिया।

Author Published on: May 19, 2018 7:35 PM
बीएस येदियुरप्पा ने 55 घंटों में ही दे दिया कर्नाटक सीएम के पद से इस्तीफा (फोटो सोर्स- पीटीआई फोटो)

कर्नाटक विधानसभा में फ्लोर टेस्ट के तुरंत पहले ही बीएस येदियुरप्पा ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। येदियुरप्पा महज 55 घंटों के लिए कर्नाटक के मुख्यमंत्री रहे। तीसरी बार कर्नाटक के सीएम बनने वाले येदियुरप्पा ने 17 मई की सुबह पद की शपथ ली थी और 19 मई की शाम होते तक उन्होंने इस्तीफा दे दिया। राज्य के 15वें मुख्यमंत्री के रूप में शपथ लेने के दो दिन बाद ही उन्होंने इस्तीफा दे दिया। येदियुरप्पा को राज्यपाल ने बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का लंबा वक्त दिया था, लेकिन कांग्रेस इसके विरोध में सुप्रीम कोर्ट पहुंच गई। कोर्ट ने 26 घंटे के अंदर शनिवार की शाम चार बजे तक बहुमत साबित करने का आदेश दिया। बहुमत जुटाने में असमर्थ येदियुरप्पा ने सीएम बनने के महज 55 घंटे बाद ही इस्तीफा दे दिया।

इसके साथ ही येदियुरप्पा के नाम बेहद ही शर्मनाक रिकॉर्ड दर्ज हो गया है। किसी राज्य में सबसे छोटे कार्यकाल के लिए मुख्यमंत्री बनने का रिकॉर्ड येदियुरप्पा के नाम दर्ज हो गया है। इसके अलावा ऐसे मुख्यमंत्रियों की लिस्ट काफी लंबी है जो कुछ ही दिनों के लिए पद पर आसीन थे।

यहां पढ़ें पूरी लिस्ट-

जगदंबिका पाल महज तीन दिन के लिए उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री रहे। वह 21 फरवरी 1998 से 23 फरवरी 1998 तक सीएम के पद पर रहे थे।

सतीश प्रसाद सिंह भी महज पांच दिनों के लिए बिहार के मुख्यमंत्री रहे। उनका कार्यकाल 28 जनवरी 1968 से 1 फरवरी 1968 के बीच रहा।

एससी मारक भी 27 फरवरी 1998 से लेकर 3 मार्च 1998 तक मेघालय के मुख्यमंत्री रहे।

जानकी रामचंद्रन भी 24 दिनों के लिए ही तमिलनाडु के सीएम बने। उनका कार्यकाल 7 जनवरी 1998 से लेकर 30 जनवरी 1998 तक रहा।

बीपी मंडल 1 फरवरी 1968 से लेकर 2 मार्च 1968 तक महज 31 दिनों के लिए बिहार के मुख्यमंत्री रहे।

सीएच मोहम्मद कोया 12 अक्टूबर 1979 से लेकर 1 दिसंबर 1979 तक महज 45 दिनों के लिए केरल के सीएम रहे।

ओपी चौटाला भी 4 माह 22 दिनों के लिए हरियाणा के सीएम थे। उनका कार्यकाल 2 दिसंबर 1988 से लेकर 22 मई 1989 तक था।

बीएस येदियुरप्पा इससे पहले सात दिनों के लिए कर्नाटक के सीएम रहे थे। उनका कार्यकाल 12 नवंबर 2007 से लेकर 19 नवंबर 2007 तक था।

एसआर कांति 1 नवंबर 1956 से लेकर 16 मई 1958 तक 98 दिनों के लिए कर्नाटक के सीएम रहे।

कादिदाल मंजप्पा 19 अगस्त 1956 से लेकर 31 अक्टूबर 1956 के बीच 73 दिनों के लिए कर्नाटक के सीएम रहे।

अरविंद केजरीवाल भी 49 दिनों के लिए दिल्ली के मुख्यमंत्री बने थे। उनका कार्यकाल 28 दिसंबर 2013 से लेकर 14 फरवरी 2014 तक था।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Karnataka Floor Test Result: कांग्रेस के इन दिग्गजों ने कर्नाटक में पलट दी ‘हारी हुई बाजी’, पढ़ें- इनसाइड स्टोरी
2 Karnataka Floor Test Updates: भावुक येदियुरप्पा ने मानी हार, विश्वास मत परीक्षण से पहले ही दिया इस्तीफा
3 कर्नाटक: एचडी कुमारस्‍वामी अब 23 मई को लेंगे सीएम पद की शपथ