ताज़ा खबर
 
title-bar

Loksabha election 2019: अब अमित शाह ने कहा “मोदी की एयरफोर्स”, पहले योगी आदित्यनाथ ने कहा था “मोदीजी की सेना”

शाह ने कहा 'पुलवामा आतंकी हमले में हमारे 40 जवान शहीद हुए। ऐसे हमलों के बाद पहले की सरकारें शांत बैठ जाती थीं। लेकिन नरेंद्र मोदी ने अपनी वायुसेना को घटना के 13वें दिन ही आदेश दिया और हमारी वायुसेना के जवान बालाकोट में घुसकर आतंकियों के परखच्चे उड़ाकर वापस आए।'

भाजपा अध्यक्ष अमित शाह एक जनसभा के दौरान। (AP Photo)

Loksabha election 2019: बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह अपने एक बयान को लेकर मुश्किल में पड़ सकते हैं। पश्चिम बंगाल में एक चुनावी रैली के दौरान शाह ने इंडियन एयरफोर्स को ‘मोदी की एयरफोर्स’ कह दिया। कृष्णानगर में एक रैली के दौरान आतंकवाद का मुद्दा उठाते हुए उन्होंने पुलवामा आतंकी हमले के बाद पाकिस्तान पर की गई कार्रवाई का जिक्र किया। उन्होंने कहा ‘फरवरी में हुए पुलवामा आतंकी हमले के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपनी वायुसेना को पाकिस्तान में मौजूद आतंकी कैंपों को तबाह करने के लिए भेजा था।’

शाह ने आगे कहा ‘पुलवामा आतंकी हमले में हमारे 40 जवान शहीद हुए। ऐसे हमलों के बाद पहले की सरकारें शांत बैठ जाती थीं। लेकिन नरेंद्र मोदी ने अपनी वायुसेना को घटना के 13वें दिन ही आदेश दिया और हमारी वायुसेना के जवान बालाकोट में घुसकर आतंकियों के परखच्चे उड़ाकर वापस आए।’

बता दें कि इससे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने भी सेनाओं को ‘मोदी जी की सेना’ कहा था। जिसके बाद चुनाव आयोग ने उन्हें नोटिस जारी कर भविष्य में इस तरह की बयानबाजी से दूर रहने के लिए कहा था।

बीजेपी अध्यक्ष ने कहा ‘पाकिस्तान पर 26 फरवरी को वायुसेना द्वारा की गई जवाबी कार्रवाई के बाद पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के चेहरे की सारी चमक गायब हो गई थी। आप मुझे बताइये हमारे 40 जवानों को मारने वालों पर बम गिराने चाहिए या उनसे बात करनी चाहिए। ममता दीदी आपको आतंकियों से इलू-इलू करना है करिये। लेकिन ये भाजपा सरकार है, वहां से गोली आएगी तो यहां से गोला जाएगा।’

ममता बनर्जी को भ्रष्टाचार के मुद्दे पर घेरते हुए उन्होंने आरोप लगाया कि ‘सीएम ममता ने बंगाल में भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया है। आने वाला चुनाव यहां हुई पलासी की लड़ाई से कम नहीं है। मोदी सरकार द्वारा शुरु की गई जन कल्याणकारी योजनाओं को सीएम ममता बंगाल की जनता तक पहुंचाने नहीं दे रही, क्योंकि उन्हें लगता है कि इन योजनाओं का लाभ अगर यहां की जनता को मिलने लगा तो पीएम मोदी और भी लोकप्रिय हो जाएंगे।’

बता दें कि पश्चिम बंगाल में लोकसभा की 42 सीटें हैं और यहां सात चरणों में मतदान हो रहे हैं। राज्य में 11 और 18 अप्रैल को पहले और दूसरे चरण के लिए मतदान हो चुके हैं।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App