ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: कन्नौज में डिंपल यादव को घेरने की तैयारी, बीजेपी नेता ने बताया प्लान

सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने डिंपल यादव को कन्नौज से कैंडिडेट घोषित किया हैl लेकिन बीजेपी कन्नौज की सीट पर कब्जा करने के लिए किसी बड़े चेहरे को चुनावी मैदान में उतारने की योजना बना रही हैl

Author Updated: March 14, 2019 7:12 PM
डिंपल यादव, फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान होने के साथ ही सभी राजनीतिक दलों ने चुनावी तैयारियां शुरू कर दी हैं। इस क्रम में सपा ने कन्नौज लोकसभा सीट से अखिलेश यादव की पत्नी और सांसद डिंपल यादव को फिर से अपना उम्मीदवार घोषित किया है। इस बीच बीजेपी ने कन्नौज लोकसभा सीट के लिए कमर कस ली है। बताया जा रहा है कि डिंपल यादव को घेरने के लिए बीजेपी यहां से कोई वीआईपी कैंडिडेट उतार सकती है। बीजेपी के जिलाध्यक्ष नरेन्द्र राजपूत के मुताबिक उम्मीदवार का ऐलान केंद्रीय नेतृत्व करेगा लेकिन जो भी उम्मीदवार होगा, वो सपा को टक्कर देने वाला होगा। उन्होंने यहां से किसी फिल्मी सितारे को टिकट देने की बात से भी इंकार नहीं किया।

बीजेपी नेता का बयान: कन्नौज के बीजेपी जिलाध्यक्ष नरेन्द्र राजपूत के मुताबिक बीजेपी 2019 का लोकसभा चुनाव यहां बड़े अंतर से जीत रही है। जब उनसे पूछा गया कि बीजेपी सपा उम्मीदवार डिंपल यादव के अपोजिट किसको मैदान में उतारेगी तो उन्होंने कहा कि कन्नौज से हमारा प्रत्याशी कौन होगा यह तो केंद्रीय नेतृत्व तय करेगा। लेकिन जो भी कैंडिडेट होगा वो वीआईपी होगा। इसके बाद जब उनसे पूछा गया कि बीजेपी किसी फ़िल्मी सितारे को टिकट देने जा रही है तो उन्होंने कहा कुछ भी हो सकता है।

 

सपा का गढ़ रही है कन्नौज सीट: बता दें कि वर्तमान में सपा से डिंपल यादव यहां की सांसद हैं। यह सीट सपा का गढ़ कही जाती है। बता दें कि बीजेपी 2014 के लोकसभा चुनाव में मोदी लहर के बावजूद भी ये सीट सपा से नही छीन पाई थी। 2014 में उत्तर प्रदेश से सपा, बसपा कांग्रेस का सूफड़ा साफ हो गया था, इसके बावजूद अखिलेश यादव की पत्नी डिम्पल यहां से जीतने में सफल हुई थी। 2019 लोकसभा चुनाव के लिए सपा ने एक बार फिर से डिंपल को उम्मीदवार बनाया है।

पिछले लोकसभा चुनाव में कानपुर-बुन्देलखण्ड की 10 लोकसभा सीटो में से 9 पर बीजेपी ने जीत हासिल की थी लेकिन कन्नौज की सीट हार गई थी। एक आंकड़े के मुताबिक कन्नौज में ओबीसी ,ब्राह्मण और मुस्लिम वोटर की संख्या ज्यादा है। मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक यहां से शिवपाल यादव की प्रसपा किसी मजबूत मुस्लिम कैंडिडेट को मैदान में उतारने जा रही है। इससे मुस्लिम वोटों के बिखराव होने से बीजेपी को फायदा मिल सकता है। कन्नौज में तीन विधानसभा की तीन सीटे है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 राहुल की रैली में न बुलाए जाने से भड़के थे सिद्धू, कांग्रेस ने अब बनाया स्टार प्रचारक
2 मध्य प्रदेश में 80 हजार नौकरियों का ऐलान, कांग्रेस ने कहा- भर्ती अभियान शुरू
3 Lok Sabha Election 2019: BJP के गढ़ कानपुर-बुंदेलखंड को घेरेंगे कांग्रेस के पुराने सिपाही, प्रियंका-सिंधिया पर यहां की 10 सीटों का जिम्मा