ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: प्रियंका गांधी का बीजेपी पर तंज, कहा- उनके नेता टी-शर्ट की मार्केटिंग में व्यस्त

प्रियंका गांधी वाड्रा ने अपने ट्वीट में लिखा कि असल मुद्दों की बजाय बीजेपी के नेता टी-शर्ट की मार्केटिंग में व्यस्त हैं। इसके अलावा उन्होंने आशाकर्मियों के मानदेय के बहाने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा कि उन्हें जुमले नहीं, जवाब चाहिए।

Author Updated: March 26, 2019 12:33 PM
कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस

Lok Sabha Election 2019: लोकसभा चुनाव से पहले कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश में चुनाव प्रचार की कमान संभाल ली है। प्रदेश के गन्ना किसानों के बकाया मुद्दे को उठाने के बाद अब उन्होंने रोजगार के मुद्दे पर बीजेपी सरकार को घेरना शुरू कर दिया है। प्रियंका ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘‘असल मुद्दों की बजाय बीजेपी के नेता टी-शर्ट की मार्केटिंग में व्यस्त हैं।’’ हाल ही में उन्होंने आशाकर्मियों के मानदेय के बहाने बीजेपी पर हमला बोलते हुए कहा था कि उन्हें जुमले नहीं, जवाब चाहिए।

रोजगार के मुद्दे पर प्रियंका का फोकस: कांग्रेस महासचिव और पूर्वी उत्तर प्रदेश की प्रभारी प्रियंका गांधी वाड्रा ने सोमवार (25 मार्च) को आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं, शिक्षामित्र, संविदा शिक्षकों, सहायक नर्सों आदि को प्रभावित करने वाले रोजगार के मुद्दों को उठाने पर ध्यान केंद्रित किया। प्रियंका ने पिछले 24 घंटों में कई ट्वीट किए। इसमें उन्होंने पिछले महीने लखनऊ यात्रा के दौरान मिले प्रतिनिधिमंडलों की तस्वीरों को साझा करते हुए आरोप लगाया कि बीजेपी नेता टी-शर्ट की मार्केटिंग में व्यस्त हैं।

जुमले नहीं, जवाब चाहिए: आशाकर्मियों के मुद्दे पर प्रियंका ने अपने ट्वीट में लिखा था, ‘‘उत्तर प्रदेश की आशाकर्मी 9 महीने तक एक गर्भवती महिला के स्वास्थ्य की जिम्मेदारी उठाती हैं, जिसके लिए उन्हें मात्र 600 रुपए मिलते हैं। बीजेपी सरकार ने कभी उनकी मानदेय में बढ़ोतरी की सुध नहीं ली। उन्हें जुमले नहीं, जवाब चाहिए।’’

शिक्षामित्रों पर बोलीं प्रियंका: शिक्षामित्रों की समस्याओं पर प्रियंका ने ट्वीट किया, ‘‘उत्तर प्रदेश के शिक्षामित्रों की मेहनत का रोज अपमान होता है। सैकड़ों पीड़ितों ने आत्महत्या कर ली। जो सड़कों पर उतरे सरकार ने उन पर लाठियां चलवाईं, रासुका दर्ज किया। बीजेपी के नेता टी-शर्ट की मार्केटिंग में व्यस्त हैं। काश वे अपना ध्यान दर्दमंदों की ओर भी डालते।’’

अनुदेशकों के मुद्दे पर बोलीं प्रियंका: प्रियंका ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘‘मैं लखनऊ में कुछ अनुदेशकों से मिली। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री ने उनका मानदेय 8470 से रु 17,000 रुपए की घोषणा की थी। मगर आज तक अनुदेशकों को मात्र 8470 रुपए ही मिलते हैं। सरकार के झूठे प्रचार का शोर है, लेकिन अनुदेशकों की आवाज गुम हो गई।’’

अखिलेश यादव ने भी बीजेपी पर साधा निशाना: उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने प्रियंका गांधी द्वारा उठाए गए सवालों को लेकर बीजेपी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने एक तस्वीर ट्वीट की, जिसमें राज्य में 10 ऐसे रोजगार के मुद्दों को सूचीबद्ध किया गया था। गौरतलब है कि प्रियंका गांधी 27 मार्च को प्रदेश के दौरे पर हैं। इस दौरान उनके कई और प्रतिनिधिमंडलों से मुलाकात की बात कही जा रही है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: फारुख अब्दुल्ला का बीजेपी पर हमला, कहा- बालाकोट एयर स्ट्राइक से पहले था राम मंदिर का मुद्दा, अब कोई नाम तक नहीं ले रहा
2 Lok Sabha Elections 2019: नितिन गडकरी ने पिछले साल कमाए सिर्फ 6.4 लाख रुपए, पांच साल में 140 फीसदी बढ़ गई आय
3 Lok Sabha Election 2019: बीजेपी ने स्टार प्रचारकों की लिस्ट जारी की, आडवाणी-जोशी के साथ वरुण-मेनका का भी नाम नहीं