ताज़ा खबर
 

रवि किशन गोरखपुर से उम्मीदवार शरद त्रिपाठी का टिकट कटा

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उत्तर प्रदेश में लोकसभा की सात और सीटों के लिए सोमवार को अपने प्रत्याशी घोषित किए। इनमें भोजपुरी फिल्म स्टार रवि किशन का नाम भी शामिल है जिन्हें गोरखपुर सीट से उम्मीदवार बनाया गया है।

Author Updated: April 16, 2019 12:34 AM
भाजपा ने गोरखपुर से मौजूदा सांसद प्रवीण निषाद को संत कबीरनगर से टिकट जबकि विधायक को जूतों से पीटने वाले सांसद त्रिपाठी की जगह उनके पिता को टिकट दिया

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उत्तर प्रदेश में लोकसभा की सात और सीटों के लिए सोमवार को अपने प्रत्याशी घोषित किए। इनमें भोजपुरी फिल्म स्टार रवि किशन का नाम भी शामिल है जिन्हें गोरखपुर सीट से उम्मीदवार बनाया गया है। इससे पहले भाजपा ने दूसरे भोजपुरी स्टार दिनेश लाल यादव निरहुआ को आजमगढ़ से सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के खिलाफ उम्मीदवार बनाया। तीसरे भोजपुरी स्टार दिल्ली भाजपा अध्यक्ष बाकी पेज 8 पर और दिल्ली उत्तर पूर्व के सांसद मनोज तिवारी भाजपा के बड़े नेता हैं। पार्टी ने मौजूदा सांसद प्रवीण निषाद को संत कबीर नगर से अपना उम्मीदवार घोषित किया है। पार्टी ने शरद त्रिपाठी को इस सीट से टिकट नहीं दिया जिन्होंने भाजपा के एक स्थानीय विधायक को जूतों से पीटा था। प्रवीण निषाद संजय निषाद के बेटे हैं जो निषाद पार्टी के संस्थापक हैं। यह पार्टी अब उत्तर प्रदेश में भाजपा के साथ गठबंधन में है।

21वीं सूची में शामिल इन सात नामों के साथ पार्टी ने अब तक लोकसभा की 420 सीटों पर उम्मीदवार घोषित कर दिए हैं। निषाद ने सपा उम्मीदवार के तौर पर उपचुनाव में गोरखपुर सीट जीती थी। सपा और बसपा के बीच हुए गठबंधन के तहत उन्हें बसपा से समर्थन मिला था। भाजपा सांसद योगी आदित्य नाथ के उत्तर प्रदेश का मुख्यमंत्री चुने जाने के बाद गोरखपुर सीट खाली हो गई थी।

इस सूची में प्रतापगढ़ से संगम लाल गुप्ता, आंबेडकर नगर से मुकुल बिहारी, देवरिया से रमापति राम त्रिपाठी, जौनपुर से केपी सिंह और भदोही से रमेश बिंद के नाम शामिल हैं। देवरिया से सांसद रहे वरिष्ठ भाजपा नेता कलराज मिश्र ने इस बार 75 साल से ज्यादा उम्र होने के चलते चुनाव लड़ने से मना कर दिया और भदोही के सांसद वीरेंद्र सिंह मस्त इस बार बलिया से उम्मीदवार हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: गुजरात विधानसभा चुनाव में थे हीरो, लेकिन लोकसभा चुनाव में बदल गई हैं मेवानी, हार्दिक और ठाकोर की स्थिति
2 Lok Sabha Election 2019: बिगड़े बोल पर EC ने लगाई रोक, SP नेता आजम खान 72 घंटे और केंद्रीय मंत्री मेनका गांधी 48 घंटे नहीं कर सकेंगे प्रचार
3 नरेंद्र मोदी को सरकारी रेडियो पर मिला मनमोहन सिंह से 6 गुना ज्‍यादा कवरेज, अफसर बोले- अधिक ‘सक्रिय’ पीएम हैं, इसलिए ज्‍यादा मिला
जस्‍ट नाउ
X