ताज़ा खबर
 

Lok Sabha Election 2019: जया प्रदा के खिलाफ आजम खां ने दिया ‘खाकी अंडरविअर’ का बयान, केस दर्ज

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता आजम खां ने रामपुर से बीजेपी प्रत्याशी जया प्रदा को लेकर ऐसा बयान दिया, जिस पर विवाद हो रहा है। इस पर बीजेपी ने कड़ी आपत्ति जताई है।

समाजवादी पार्टी के वरिष्ठ नेता आजम खां। फोटो सोर्स : एएनआई

Lok Sabha Election 2019: समाजवादी पार्टी (सपा) के वरिष्ठ नेता आजम खां ने रामपुर से बीजेपी प्रत्याशी जया प्रदा को लेकर ऐसा बयान दिया, जिस पर विवाद हो रहा है। इस पर बीजेपी ने कड़ी आपत्ति जताई है। आजम खां ने यह बयान पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव की जनसभा के दौरान दिया। इस मामले में महिला आयोग ने आजम खां को नोटिस भेजा है। वहीं, उनके खिलाफ केस भी दर्ज हो गया है।

बता दें कि रविवार (14 अप्रैल) को रामपुर में सपा प्रमुख अखिलेश यादव की जनसभा थी। इस दौरान मंच पर अखिलेश यादव के साथ-साथ पार्टी के कई वरिष्ठ नेता मौजूद थे। ऐसे में आजम खां ने जया प्रदा और आरएसएस के जुड़ाव पर कथित रूप से अभद्र टिप्पणी की। उन्होंने कहा, ‘‘आपमें और मुझमें क्या अंतर है? आपको उसका असली चेहरा पहचानने में 17 साल लग गए, लेकिन मैंने 17 दिन में ही पहचान लिया था कि वह खाकी अंडरवियर पहनती है।’’

आजम खां ने जया प्रदा का नाम लिए बिना कहा, ‘‘बीजेपी प्रत्याशी, तुम हिंदू देवी की पूजा करने के लिए दिल्ली स्थित मंदिर जाती हो। इसके बाद तुम टीवी चैनल्स पर कहती हो कि तुम रामपुर जा रही हो। वहां एक दानव रहता है और तुम उसका अंत कर दोगी। मैं दानव का मतलब नहीं जानता था। मैंने अपने हिंदू दोस्तों से इसका अर्थ पूछा। उन्होंने बताया कि दानव का मतलब राक्षस होता है। तो मैं एक राक्षस हूं और मैं मरने वाला हूं। मेरे सीने में 150 गोलियां दाग दो। मुझे मार दो। मैं तुम्हें इसकी इजाजत देता हूं, लेकिन यह तुम्हें करना होगा। इसके लिए किसी बाहरी को मत भेजना।’’

National Hindi News, 15 April 2019 LIVE Updates: दिनभर की खबरें पढ़ें एक क्लिक पर

आजम खां के इस बयान पर बीजेपी के प्रवक्ता और रामपुर लोकसभा सीट के इंचार्ज चंद्रमोहन ने कड़ी आपत्ति जाहिर की। उन्होंने कहा कि आजम खां के नीचे गिरने का एक और स्तर है। अब मायावती और अखिलेश यादव को बताना चाहिए कि किस तरह के व्यक्ति को वे समर्थन दे रहे हैं?

चंद्रमोहन ने बताया कि इस मामले में इलेक्शन कमीशन से संज्ञान लेने का अनुरोध किया गया है। आजम खां ने अखिलेश यादव की मौजूदगी में यह बात कही। इससे पता चलता है कि वे किस तरह की राजनीति कर रहे हैं। उन्हें बताना चाहिए कि एक महिला का सम्मान उनके लिए अहमियत रखता है या नहीं? यह काफी गंभीर मसला है।

इंडियन एक्सप्रेस ने इस मामले में आजम खां से बात करने की कोशिश की, लेकिन संपर्क नहीं हो सका। वहीं, सपा प्रवक्ता राजेंद्र चौधरी ने कोई भी टिप्पणी करने से साफ इनकार कर दिया। उन्होंने कहा कि इस मामले की उन्हें कोई जानकारी नहीं है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App