ताज़ा खबर
 

तीन राज्यों में भाजपा के 41 मंत्री हारे, वसुंधरा सरकार के 30 में से 8 मंत्रियों को ही मिली जीत

तीन राज्यों में भाजपा को ना सिर्फ हार का सामना करना पड़ा बल्कि उसके दर्जनों मंत्री भी इस बार अपनी सीट नहीं बचा सके।

इस तस्वीर का इस्तेमाल प्रतीकात्मक तौर पर किया गया है. (फोटो सोर्स: एक्सप्रेस आर्काइव)

assembly election result 2018: पांच चुनावी राज्यों के परिणाम आ चुके है। जिसमें मध्यप्रदेश, राजस्थान और छत्तीसगढ़ में कांग्रेस ने शानदार प्रदर्शन करते हुए अपनी सरकार बनाने जा रही है। लेकिन इन तीन राज्यों में भाजपा को ना सिर्फ हार का सामना करना पड़ा बल्कि उसके दर्जनों मंत्री भी इस बार अपनी सीट नहीं बचा सके। शिवराज सरकार के 13 मंत्री हारे, वसुंधरा सरकार के 30 में से सिर्फ 8 मंत्री ही जीते जबकि रमन सरकार में सिर्फ चार मंत्री ही जीत सके।

मध्यप्रदेश-
मध्यप्रदेश में 15 सालों से बीजेपी की सरकार थी और करीब एक दशक से ज्यादा शिवराज सिंह चौहान प्रदेश के मुख्यमंत्री थे। हालांकि चुनाव कांग्रेस जीत गयी लेकिन बीजेपी की ओर से उसे कड़ी टक्कर मिली। शिवराज कैबिनेट में कुल 31 मंत्री थे। जिनमे से 13 मंत्री चुनाव हार गए। अगर 2013 के चुनावों की बात करें तो शिवराज सरकार के 10 मंत्रियों को हार का सामना करना पड़ा था। इस करीबी हार के बाद भाजपा के राष्ट्रीय महासचिव कैलाश विजयवर्गीय ने कहा कि टिकट वितरण में गड़बड़ी हुई। उनके अनुसार मोह के कारण कुछ लोगों के टिकट नहीं काटे गए, जिसका नुकसान हुआ। प्रत्याशियों की व्यक्तिगत एंटी-इनकम्बेंसी थी, इसलिए हमने बाद में 200 पार के नारे को बदलकर चौथी बार शिवराज का नारा दिया था।

Election Result 2018 Highlights: Rajasthan | Telangana | Mizoram | Madhya Pradesh | Chhattisgarh Election Result 2018

मध्यप्रदेश में ये मंत्री हारे– उमाशंकर गुप्ता, जयभान पवैया, शरद जैन, दीपक जोशी, अंतरसिंह आर्य, ललिता यादव, रुस्तम सिंह, ओमप्रकाश धुर्वे, बालकृष्ण पाटीदार, लाल सिंह आर्य, केदार कश्यप और अर्चना चिटनीस शामिल है।

राजस्थान-
राजस्थान में कांग्रेस पार्टी ने 99 सीटों पर दर्ज कर बीजेपी को सत्ता से उतार दिया है। यहां वसुंधरा राजे सरकार के आधे से ज्यादा मंत्री चुनाव हार गए। वंसुधरा समेत 30 मंत्रियों (इसमें दो मंत्रियों ने अपने बेटों को टिकट दिलाया था) में से सिर्फ 8 ही जीतकर विधानसभा पहुंचने में कामयाब हो सके। इनमें से 4 मंत्री वे भी शामिल हैं, जो टिकट नहीं मिलने पर भाजपा से बागी होकर मैदान में अकेले उतरे थे।

राजस्थान में ये मंत्री हारे- यूनुस खान, अरुण चतुर्वेदी, राजपाल सिंह, प्रभुलाल सैनी, अजय सिंह, राम प्रताप, गजेंद्र सिंह, श्रीचंद कृपलानी, अमरराम, कृष्णेन्द्र कौर, ओटाराम देवासी, सुनील कटारा, बंसीधर बाजिया, कमसा मेघवाल, सुरेंद्र पाल, बाबूलाल वर्मा, राजकुमार रिणवा, सुरेंद्र गोयल, हेम सिंह भड़ाना और धनसिंह रावत।

छत्तीसगढ़-
छत्तीसगढ़ विधानसभा चुनावों में रमन सरकार को इस कांग्रेस ने करारी शिकस्त दी है। यहां मुख्यमंत्री रमन सिंह के अलावा कृषि मंत्री बृजमोहन अग्रवाल, स्वास्थ्य मंत्री अजय चंद्राकर, खाद्य मंत्री पुन्नू लाल मोहिले ही चुनावो में अपनी सीटें बचा सके है।

इन मंत्रियों को मिली हार- राजेश मूणत, प्रेमप्रकाश पांडेय, भैयालाल राजवाड़े, रामसेवक पैकरा, अमर अग्रवाल, दयालदास बघेल, केदार कश्यप और गागड़ा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App