ताज़ा खबर
 

असम चुनावः ‘लव जिहाद’ और ‘लैंड जिहाद’ के खिलाफ लाएंगे कानून- बोले शाह; राहुल-अजमल पर यूं बोला हमला

शाह ने कहा, वह बदरुद्दीन अजमल को असम की पहचान नहीं बनने देंगे। लैंड जिहाद के जरिए से असम की पहचान को बदलने का काम अजमल ने किया। अगर अजमल और कांग्रेस की सरकार असम आती है तो सूबे में फिर से आतंकवाद अपनी जड़े जमा लेगा।

Assam Elections, Amit shah, Rahul Gandhi, Badruddin Ajmal, Love Jihad and Land Jihadकेन्द्रीय गृहमंत्री अमित शाह ने राहुल गांधी और बदरुद्दीन अजमल पर बोला हमला (express file photo)

गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि भाजपा सरकार असम में लव जिहाद और लैंड जिहाद के खिलाफ कानून लाने का काम करेगी। शाह ने कामरूप और मोरीगांव की रैली में राहुल गांधी और एआईयूडीएफ के बदरुद्दीन अजमल पर जमकर हमला बोला।

अमित शाह ने कहा कि राहुल गांधी का कहना है कि बदरुद्दीन अजमल असम की पहचान है। असम की पहचान शंकर देव, माधव देव और लाचित बोरफूकन हैं। कांग्रेस कितनी भी जोर लगा ले वह बदरुद्दीन अजमल को असम की पहचान नहीं बनने देंगे। लैंड जिहाद के जरिए से असम की पहचान को बदलने का काम अजमल ने किया। अगर अजमल और कांग्रेस की सरकार असम आती है तो सूबे में फिर से आतंकवाद अपनी जड़े जमा लेगा।

उन्होंने कहा कि काजीरंगा के जंगलों में घुसपैठियों ने कब्जा कर रखा था। लैंड जेहाद के माध्यम से असम की पहचान को बदलने का काम बदरुद्दीन अजमल ने किया था। कांग्रेस आज उसी बदरुद्दीन अजमल के साथ है। शाह ने कहा कि काजीरंगा के जंगलों में घुसपैठिए बिना रोक-टोक के गैंडों का शिकार करते थे। आज पूरे विश्व में गैंडा असम की पहचान बना हुआ है। काजीरंगा को घुसपैठियों से मुक्त कराने का काम भाजपा ने किया है।

गृह मंत्री ने कहा कि बोडो लैंड का समझौता समस्त असम के लिए शांति का पैगाम है। वर्षों से जो असम आतंकवाद के चलते युवाओं की जान गंवाता था, वो आज आतंकवाद से मुक्त होकर विकास के रास्ते पर चल पड़ा है। शाह ने 2 लाख सरकारी और 8 लाख प्राइवेट जॉब का वादा करने के साथ 8वीं कक्षा के बाद सभी बच्चियों को साइकिल दने की बात भी की। उन्होंने कहा कि कॉलेज जाने वाली हर छात्रा को स्कूटी देंगे।

असम की 126 सीटों के लिए 27 मार्च, 1 अप्रैल और 6 अप्रैल को तीन चरणों में चुनाव होना है। पहले चरण में कुल 47 सीटें हैं। दूसरे में 39 और तीसरे चरण में 40 सीटों पर मतदान होगा। मतगणना 2 मई को होगी। अभी असम में बीजेपी की सोनेवाल सरकार है। कांग्रेस ने 10 पार्टियों से हाथ मिलाकर बीजेपी को सत्ता से बाहर करने का ऐलान किया है। दोनों के बीच कांटे की टक्कर देखने को मिल रही है।

Next Stories
1 बंगाल चुनावः 30% अल्पसंख्यक जुट जाएं, तो भारत में बना सकते हैं 4 नए PAK- ममता की TMC के नेता का बयान
2 भाजपा पर ममता का हमला, पान मसाला चबाने और तिलक लगाने वाले गुंडों को भेज परेशान कर रहे
3 असम चुनावः पीएम मोदी से हुई चूक? 200 साल पहले मरे लचित बरफुकन को बताया स्वाधीनता सेनानी, जानें कौन है अहोम योद्धा
CSK vs DC Live
X