ताज़ा खबर
 

दिल्ली-पंजाब में इनकार के बाद अब हरियाणा में कांग्रेस से गठबंधन चाहते हैं केजरीवाल, कहा- राहुल जी विचार करें

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): कांग्रेस से गठबंधन को लेकर दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि हरियाणा में कांग्रेस और आप मिलकर चुनाव लड़े तो परिणाम अच्छे आएंगे। उन्होंने कहा कि राहुल गांधी को इस पर विचार करना चाहिए।

aap, congress, kejriwalदिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल फोटो सोर्स- फाइनेंसियल एक्सप्रेस

Lok Sabha Election 2019: कांग्रेस से गठबंधन को लेकर आम आदमी पार्टी के मुखिया और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल ने अभी तक हार नहीं मानी है। दिल्ली और पंजाब में कांग्रेस की ओर से साफ तौर पर लोकसभा चुनाव में गठबंधन से इनकार कर दिया गया है लेकिन केजरीवाल ने अब हरियाणा को लेकर उम्मीद बांध ली है। उन्होंने बुधवार को ट्वीट कर कहा कि हरियाणा में कांग्रेस और आप मिलकर चुनाव लड़े तो परिणाम अच्छे आएंगे। राहुल गांधी को इस पर विचार करना चाहिए।

केजरीवाल का ट्वीट- दिल्ली के सीएम ने ट्वीट कर कहा- ”देश के लोग अमित शाह और मोदी जी की जोड़ी को हराना चाहते हैं। अगर हरियाणा में JJP, AAP और कांग्रेस साथ लड़ते हैं तो हरियाणा की दसों सीटों पर भाजपा हारेगी। राहुल गांधी जी इस पर विचार करें।” बता दें कि हरियाणा में लोकसभा की 10 सीटें हैं। इसमें 7 सीटें बीजेपी ने 2014 में जीती थीं। वहीं INLD ने दो और कांग्रेस ने एक सीट जीती थी।

जेजेपी ने किया इनकार: इस बीच केजरीवाल की अपील पर कांग्रेस की प्रतिक्रिया आने से पहले ही लोकसभा सदस्य दुष्यंत चौटाला की अगुवाई वाली जेजेपी ने कांग्रेस के साथ गठबंधन की संभावनाओं को सिरे से खारिज कर दिया। जेजेपी के महासचिव के सी बांगड़ ने चंडीगढ़ में कहा, ‘‘जेजेपी हरियाणा में मजबूत पार्टी बन चुकी है और हरियाणा की सभी सीटों पर अकेले चुनाव लड़ने में सक्षम है। जेजेपी ने ना तो कभी कांगेस के साथ गठबंधन की संभावना पर विचार किया और ना ही आगे करेगी। जेजेपी ऐसे किसी गठबंधन का हिस्सा नहीं बनेगी जिसमें कांग्रेस शामिल हो।’’

दिल्ली में हो चुका है मना: बता दें कि दिल्ली में कांग्रेस और आप के बीच गठबंधन को लेकर बातचीत चल रही थी। कुछ मौकों पर लगा था कि दोनों पार्टियों के बीच गठबंधन हो जाएगा। कांग्रेस शीर्ष नेतृत्व इस ओर राजी भी दिख रहा था लेकिन दिल्ली प्रदेश कांग्रेस के कई नेता गठबंधन के पक्ष में नहीं थे। दिल्ली की पूर्व सीएम शीला दीक्षित ने भी इसे लेकर कई बार बयान दिया था। इसके बाद बूथ स्तर पर प्रदेश कांग्रेस की बैठक में शीर्ष नेतृत्व की ओर से लगभग साफ कर दिया गया कि वो आप से गठबंधन नहीं करने जा रहे हैं। बता दें कि दिल्ली की 6 सीटों पर आम आदमी पार्टी ने अपने कैंडिडेट उतार दिए हैं। इस बीच, केजरीवाल ने कहा कि उनकी पार्टी दिल्ली में कांग्रेस के बिना भी जीत हासिल कर लेगी।

पंजाब में भी लगभग मना: अरविंद केदरीवाल की ओर से पिछले दिनों कहा गया था कि पंजाब में वे कांग्रेस के साथ गठबंधन करना चाह रहे हैं. इस संबंध में आप पंजाब के नेता भगवंत मान पंजाब के सीएम और कांग्रेस नेता कैप्टन अरमिंदर सिंह से बातचीत भी कर रहे हैं। पर इस संबंध में कैप्टन की ओर से भी साफ संदेश दे दिया गया है कि वे पंजाब में आप के साथ मिलकर चुनाव नहीं लड़ेंगे।

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: PM मोदी के ट्वीट पर बोले अखिलेश- दिल खुश हुआ, अधिक मतदान कर चुनें नया पीएम
2 ‘कहां हैं हमारे 5 लाख रुपये?’ लोगों की नाराजगी का शिकार बने प्रचार करने पहुंचे AAP नेता
3 Lok Sabha Election 2019: सुरक्षित सीटों ने बढ़ाई राजग में रार, जदयू की मांग से लोजपा बेचैन, भाजपा परेशान
ये पढ़ा क्या?
X