ताज़ा खबर
 

आंध्र प्रदेश की सियासत में जबर्दस्त कन्फ्यूजन, 35 सीटों पर प्रत्याशियों के नाम-चिह्न एक जैसे, EC पहुंचा मामला

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019):  प्रजा शांति पार्टी (पीएसपी) और जगन रेड्डी की वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के 35 प्रत्याशियों के नाम और चुनाव चिह्न में काफी समानता है। यह मामला चुनाव आयोग के पास पहुंच गया है।

Author March 29, 2019 8:00 PM
psp leader ka paulआंध्र प्रदेश में पीएसपी पार्टी ने उतारे एक जैसे नाम वाले 35 प्रत्याशी फोटो सोर्सः ईंडियन एक्सप्रेस

वेंकटेश कन्हैया

आंध्र प्रदेश की राजनीति के रंगमंच पर पादरी केए पॉल का नाम एक बार फिर चर्चा में हैं। इस बार उन्होंने 2008 में शुरू की गई प्रजा शांति पार्टी (पीएसपी) की तरफ से आंध्र प्रदेश की सभी 175 सीटों पर प्रत्याशी उतारने का ऐलान किया है। उल्लेखनीय है करीब 35 सीटों पर उनकी पार्टी के प्रत्याशियों के नाम जगन रेड्डी की वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के उम्मीदवारों से मिलते-जुलते हैं। उदाहरण के लिए ओंगोल निर्वाचन क्षेत्र में जगन की पार्टी ने बालिनेनी श्रीनिवास रेड्डी को टिकट दिया है तो पॉल की पार्टी ने बालिनेनी श्रीनिवास राव को मैदान में उतार दिया है। समान नाम के प्रत्याशियों को मौका न देने का कोई नियम तो नहीं है लेकिन इससे मतदाताओं में भ्रम की स्थिति बन जाती है।

National Hindi News Today LIVE: जानें दिन भर की अपडेट्स

चुनाव चिन्ह भी एक जैसाः बता दें पॉल की पार्टी का चुनाव चिन्ह और जगन की वाईएसआर कांग्रेस पार्टी के चुनावी चिन्हों में भी काफी समानताएं हैं। पॉल के चुनावी चिन्ह में रोटर वाला ब्लेड हेलिकॉप्टर छोटे आकार में देखने पर जगन की पार्टी के पंखे के चिन्ह से मेल खाता है।

 

पहले भी सामने आ चुका ऐसा मामलाः हाल ही में तेलंगाना विधानसभा चुनाव में भी चुनाव चिन्हों को लेकर भ्रम की स्थिति बनी थी। दरअसल एक पार्टी का चुनावी चिन्ह ट्रक था और उन्हें भारी संख्या में वोट मिले और कार चुनावी चिन्ह पर चुनाव लड़ रही टीआरएस (तेलंगाना राष्ट्र समिति) पार्टी ने दावा किया था कि इस वजह से उसे 10 हजार वोटों का नुकसान हुआ है। टीआरएस ने दावा किया था कि कार-ट्रक में कन्फ्यूजन के चलते लोगों ने दूसरी (ट्रक चिन्ह) वाली पार्टी को वोट दे दिया और उनकी पार्टी की हार हुई।

पॉल ने कहा जगन ने उन्हें किया कॉपीः केए पॉल ने जगन की पार्टी पर आरोप लगाते हुए कहा कि यह जगन की पार्टी है जिसने उन्हें कॉपी किया है ताकि वह पीएसपी पार्टी के वोटरों को गुमराह कर सकें और वोट अपने नाम कर सके।

कौन है केए पॉलः उत्तरी तटीय आंध्र प्रदेश में जन्मे पॉल छोटी उम्र में ईसाई धर्म प्रचारक बन गए थे। ईसाई धर्म अपनाने के बाद उन्होंने पूरे विश्व में भ्रमण किया। उन्होंने अपने कुछ करोड़पति समर्थकों की बदौलत अपने निजी विमान में दुनिया की यात्रा की और शांति का संदेश दिया। हाल ही में उन्होंने मीडिया से बातचीत में दावा किया था कि बालाकोट एयर स्ट्राइक के बाद भारत सरकार और पाकिस्तान के प्रधानमंत्री के बीच उन्होंने ही सुलह कराई थी।

Read here the latest Lok Sabha Election 2019 News, Live coverage and full election schedule for India General Election 2019

Next Stories
1 Lok Sabha Election 2019: अखिलेश से रूठे संजय निषाद ने गठबंधन से तोड़ा नाता, बोले अकेले चुनाव लड़ेगी निषाद पार्टी
2 हरियाणा: रोड शो के दौरान राहुल ने रुकवाई बस तो दौड़ पड़े समर्थक, मिलाया सबसे हाथ, सुरक्षाकर्मी परेशान
3 2014 में 73 साल के थे BJP सांसद लक्ष्मी नारायण यादव, 2019 तक सिर्फ 74 साल हुई उम्र!
ये पढ़ा क्या?
X