ताज़ा खबर
 

हुड्डा ने किए एक तीर से कई शिकार

पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह की ताजपोशी से हरियाणा कांग्रेस की राजनीति पूरी तरह से प्रभावित हो गई है। कैप्टन अमरिंदर सिंह की ताजपोशी के माध्यम से एक बार फिर से हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा अपना शक्ति प्रदर्शन करने में कामयाब हो गए हैं।

Author चंडीगढ़ | March 17, 2017 12:50 AM
अमृंदर सिंह को सीएम पद की शपथ राज्यपाल वी पी सिंह ने दिलाई (Source: ANI)

पंजाब में कैप्टन अमरिंदर सिंह की ताजपोशी से हरियाणा कांग्रेस की राजनीति पूरी तरह से प्रभावित हो गई है। कैप्टन अमरिंदर सिंह की ताजपोशी के माध्यम से एक बार फिर से हरियाणा के पूर्व मुख्यमंत्री भूपेंद्र सिंह हुड्डा अपना शक्ति प्रदर्शन करने में कामयाब हो गए हैं। हुड्डा हरियाणा से इस समारोह में भाग लेने वाले एकमात्र कांग्रेसी नेता हैं। दिलचस्प बात यह है कि पंजाब में विधानसभा चुनाव के दौरान हुड्डा ने एसवाइएल के मुद्दे पर जहां खुलकर कैप्टन अमरिंदर सिंह के खिलाफ मोर्चा खोला हुआ था, वहीं चुनाव में पंजाब कांग्रेस के प्रति नरम पड़ने वाले प्रदेशाध्यक्ष अशोक तंवर और किरण चौधरी को इस समारोह में शामिल होने का न्योता तक नहीं दिया गया। पंजाब में विधानसभा चुनाव के दौरान भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कांग्रेस पार्टी के लिए यह कहते हुए प्रचार करने से इनकार कर दिया था कि जब तक अमरिंदर सिंह हरियाणा को एसवाइएल का पानी देने का वादा नहीं करते हैं तब तक वे उनके समर्थन में प्रचार नहीं करेंगे।

HOT DEALS
  • Honor 7X 64GB Blue
    ₹ 15445 MRP ₹ 16999 -9%
    ₹0 Cashback
  • Micromax Vdeo 2 4G
    ₹ 4650 MRP ₹ 5499 -15%
    ₹465 Cashback

चुनाव में अमरिंदर ने भी हुड्डा के खिलाफ कई तरह के बयान जारी किए थे। चुनाव प्रक्रिया के दौरान हुड्डा जहां अमरिंदर के खिलाफ मोर्चा खोले हुए थे, वहीं हरियाणा कांग्रेस प्रधान अशोक तंवर और कांग्रेस विधायक दल की नेता किरण चौधरी इस मामले में नरम थीं। इन दोनों नेताओं ने पंजाब कांग्रेस के प्रति नरम रुख अपनाते हुए हर बार यही कहा था कि अगर उनकी डयूटी लगाई जाएगी तो वे पंजाब में प्रचार करेंगे।

अमरिंदर के शपथ ग्रहण समारोह में पूरे समीकरण बदले हुए दिखाई दिए। पंजाब कांग्रेस द्वारा बुधवार को जारी की गई सूची में केवल भूपेंद्र सिंह हुड्डा का नाम ही शामिल था। अशोक तंवर और किरण चौधरी को इस कार्यक्रम का न्योता नहीं दिया गया। तमाम अटकलों के बावजूद पंजाब कांग्रेस को एसवाइएल के मुद्दे पर घेरने वाले हुड्डा ने अमरिंदर की ताजपोशी में शामिल होकर सभी लोगों को चौंका दिया है।

इससे पहले हुड्डा ने अपने विरोधियों को उस समय झटका दिया जब वह दिल्ली से उसी विमान में चंडीगढ़ आए जिसमें राहुल गांधी के अलावा कांग्रेस नेता आनंद शर्मा, राजीव शुक्ला और अश्विनी कुमार थे। हुड्डा ने एक तीर से कई शिकार कर दिए। एक तरफ जहां उन्होंने अमरिंदर के साथ अपनी पुरानी दोस्ती को निभाने का काम किया, वहीं अशोक तंवर और किरण चौधरी को भी अपनी हाईकमान में पकड़ मजबूत होने का संकेत दे दिया है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App