ताज़ा खबर
 

अमर सिंह भी बने ‘चौकीदार’, कहा- शर्मिंदगी से बचने को चुनाव नहीं लड़ रहीं मायावती

भाजपा के प्रति अपने प्रेम जता चुके सपा के पूर्वा नेता और राज्यसभा सांसद अमर सिंह ने भी अपना नाम बदलकर ट्विटर पर चौकीदार अमर सिंह कर लिया है।

राज्यभा सांसद अमर सिंह ने मायावती पर निशाना साधा है।(फाइल फोटो)

पीएम नरेंद्र मोदी द्वारा अपने नाम के आगे चौकीदार लगाने के बाद कई केंद्रीय मंत्रियों ने और बीजेपी नेताओं और समर्थकों ने भी अपने नाम के आगे चौकीदार जोड़ लिया था। इसी क्रम में भाजपा के प्रति अपने प्रेम जता चुके सपा के पूर्वा नेता और राज्यसभा सांसद अमर सिंह ने भी अपना नाम बदलकर ट्विटर पर चौकीदार अमर सिंह कर लिया है।

बीजेपी का ‘मैं भी चौकीदार’ अभियान कांग्रेस के ‘चौकीदार चोर है’ कैंपेन के जवाब में देखा जा रहा है। अमर सिंह ने नाम बदले के साथ ही मोदी विरोधियों को भी निशाने पर लिया है। अमर सिंह ने मायावती पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया है। अमर सिंह ने लिखा है ‘मायावती बुद्धिमान महिला हैं। वो जानती हैं कि पीएम मोदी द्वारा चलाई जा रही कई योजनाओं की वजह से बीजेपी को गरीब और वंचित वर्ग का वोट मिलेगा। इसलिए खुद को अपमान से बचाने के लिए चुनाव नहीं लड़ने का फैसला किया है।’

नीरव मोदी की गिरफ्तारी को लेकर भी अमर सिंह ने पीएम मोदी को श्रेय देते हुए ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा है अगर नीरव मोदी पकड़ा नहीं जाता और बच जाता है तो उसके लिए पीएम मोदी जिम्मेदार हैं लेकिन अगर वो भारत लाया जाता है  उसपर कानूनी कार्रवाई की जाती है तो यह चुनाव जीतने के लिए पीएम द्वारा चाल चली है। ऐसी सोच पर शर्मा आती है।

Amar Singh, twitter अमर सिंह ने मायावती , रामगोपाल यादव पर निशाना साधते हुए ट्वीट किया है।( फोटो सोर्स -Twitter/AmarSingh)

सपा नेता रामगोपाल यादव को लेकर अमर सिंह ने निशाना साधते हुए लिखा है। विपक्ष और रामगोपाल यादव ने शिष्टता की मर्यादा लांघ दी है। पुलवामा में शहीद हुए जवानों को वोट पाने के लिए वह  साजिश बता रहे हैं। रामगोपाल जी आपके कार्यकाल के सभी मुख्य सचिव जेल में हैं क्या यह इत्तेफाक है? अमर सिंह ने बीजेपी और आरएसएस की तारीफ करते हुए लिखा है, कि पहले बीजेपी और आरएसएस को सांप्रदायिक ताकतो को बढ़ावा देने वाले संस्थानों के रूप में प्रचारित किया गया था लेकिन मोदी जी के आने से यह हिंदुत्व राष्ट्रवाद में बदल गया।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App