ताज़ा खबर
 

AMU के प्रोफेसर्स के मन की बात- सरकार बदले या न बदले, लेकिन सरकार के काम करने का तरीका बदले

Lok Sabha Election 2019 (लोकसभा चुनाव 2019): अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के प्रोफेसर्स ने आगामी लोकसभा चुनाव के नतीजे को लेकर कहा कि सरकार चाहें किसी की भी बने। वह बदले या न बदले, लेकिन उसके काम करने के तरीके में बदलाव जरूर आना चाहिए।

Author April 16, 2019 3:43 AM

Lok Sabha Election 2019: काम हो रहा है। सरकार काम करा रही है, लेकिन उसका तरीका सही नहीं है। अलीगढ़ काफी साल से ड्रेनेज सिस्टम की दिक्कत से जूझ रहा था। अब शहर में इसे दुरुस्त करने का काम चल रहा है। यह काफी अच्छा है, लेकिन काम करने के तरीके से आम जनता को काफी परेशानी हो रही है, जो गलत है। इसमें सुधार करने की जरूरत है। यह कहना था अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के प्रोफेसर्स का। आगामी लोकसभा चुनाव के नतीजे को लेकर उन्होंने जवाब दिया कि सरकार चाहें किसी की भी बने। वह बदले या न बदले, लेकिन उसके काम करने के तरीके में बदलाव जरूर आना चाहिए। यह आम जनता के हित में होगा।

मोदी बनाम राहुल पर यह राय : सोशियोलॉजी विभाग के एक प्रोफेसर ने कहा, ‘‘अगर बात प्रधानमंत्री पद की करें तो फिलहाल नरेंद्र मोदी से बेहतर कोई नहीं है। उन्होंने काफी ऐसे काम किए हैं, जो देश के लिए अच्छे रहे। इनमें विदेश नीति सबसे खास है। इस वक्त दुनिया के अधिकतर देशों में भारत का सम्मान बढ़ा है। ऐसा पहले नहीं था। राहुल गांधी भी अच्छे नेता और वक्ता के रूप में उभरे हैं, लेकिन उनमें राजनीतिक परिपक्वता की कमी नजर आती है। एक कुशल शासक बनने के लिए उन्हें खुद में काफी बदलाव लाने होंगे, जिसके बाद वे देश के लिए परफेक्ट प्रधानमंत्री साबित होंगे।’’

National Hindi News, 15 April 2019 LIVE Updates: दिनभर की हर खबर यहां पढ़ें

नई सरकार से ये उम्मीदें : साइकोलॉजी विभाग के असिस्टेंट प्रोफेसर मानते हैं कि इस वक्त देश में बेरोजगारी, शिक्षा और नागरिक सुरक्षा ऐसे मुद्दे हैं, जिन पर नई सरकार को काम करने की काफी जरूरत है। पिछले 5 साल के कार्यकाल के दौरान मोदी सरकार ने शिक्षा का बजट लगातार कम किया है, जो गलत है। वहीं, बेरोजगारी के आंकड़ों में भी लगातार इजाफा होने की खबरें सामने आती रही हैं, जिस पर काम होना चाहिए। साथ ही, भेदभाव के कई मामले सामने आए हैं, जिनसे नई सरकार को निपटना होगा।

स्थानीय सांसद से कितने खुश? : प्रोफेसर्स बोले कि मोदी सरकार के पिछले कार्यकाल के दौरान अलीगढ़ में काफी विकास हुआ। कई ऐसी योजनाएं लागू की गईं, जो काफी समय से पेंडिंग थीं। स्थानीय सांसद सतीश कुमार गौतम के कार्यकाल से लोग खुश हैं, लेकिन कई बार उन्होंने ऐसे बयान भी दिए, जिनसे अलीगढ़ में हिंदू-मुस्लिम एकता पर खतरा बढ़ गया। इसमें सुधार की जरूरत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App