ताज़ा खबर
 
title-bar

गरीब,किसान और बेरोजगारों का गठबंधन हैः अखिलेश यादव

उत्तर प्रदेश के कानपुर मे आज गठबंधन प्रत्याशी के लिए बुधवार को कानपुर के जीआइसी मैदान में आयोजित जनसभा में दोपहर बाद करीब डेढ़ बजे सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पहुंचे।

Author April 24, 2019 4:51 PM
अखिलेश यादव ने कानपुर में भाजपा पर तो जमकर हमला बोला ही साथ ही साथ कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि समाजवादियों को अगर किसी ने धोखा दिया तो कांग्रेस ने दिया।

उत्तर प्रदेश के कानपुर मे आज गठबंधन प्रत्याशी के लिए बुधवार को कानपुर के जीआइसी मैदान में आयोजित जनसभा में दोपहर बाद करीब डेढ़ बजे सपा राष्ट्रीय अध्यक्ष एवं पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव पहुंचे। मंच पर पहुंचकर अखिलेश ने संबोधन में भाजपा पर निशाना साधते हुए जनता से कहा की अच्छे दिन आएंगे,नौकरी मिलेगी लेकिन सब कुछ तो छिन गया। क्या नोट बंदी से काला धन खत्म हो गया,क्या भ्रष्टाचार खत्म हुआ। हजारों करोड़ रुपये लेकर उघोगपति देश छोड़ गए और आज तक नहीं आए। कानपुर यही स्मार्ट सिटी है, जहां कूड़ा हटा नहीं पाए हैं जानवर सड़कों पर घूम रहे हैं। कूड़ा हटा नहीं पाए तो भाजपा ने सांसद ही हटा दिया और अब नए लाए हैं। आपको याद होगा कि लोकसभा चुनाव के बाद भाजपा के बहुत बड़े-बड़े नेता यहाँ आये थे और बड़े-बड़े वादे कर दिए, मगर आज तक एक भी वादा पूरा नहीं किया।

आप लोग तो उस शहर के हैं जहां बड़े-बड़े व्यापारी और उद्योगपति हैं आप उनसे पूछिए कि नोटबंदी से कितना नुक्सान हुआ।बीजेपी गंठबंधन को महामिलावट बता रहे हैं, फिर भाजपा 38 पार्टियों का गंठबंधन है तो उसे कौन सा कहेंगे। हमारे इस गठबंधन के बारे में किसी ने सोचा नहीं होगा,ये तीन पार्टी वाला है, इसमें गरीब, किसान और बेरोजगार का गठबंधन है। फिर भी हमारे गठबंधन से बीजेपी को इतनी परेशानी क्यों है अखिलेश ने चुटकी लेते हुए कहा कि बीजेपी वालों को पिछले चुनावों में बहुत जानवर याद आते थे अभी हरदोई में एक सांड मिलने पहुंचा था बाबा मुख्यमंत्री से लेकिन उन्होंने मुलाकात तक नहीं की जब वहां मुलाकाात नहीं तो एक और सांड बाबा मुख्यमंत्री की गाड़ी के आगे आ गया। अब मुझेेेे समझ में नहीं आ रहाा है क्या इसी को स्मार्ट सिटी कहते हैं?

कानपुर को भी स्मार्ट सिटी के अंतर्गत चिन्हित किया गया था, हमें लगता है भाजपा उन्हीं को स्मार्ट समझती है जहां सड़कों पर सांड घूमते हैं हमारे बाबा मुख्यमंत्री ने तो जनता को ऐसा धोखा दिया की मेट्रो को स्वीकृति नहीं मिली उसका शिलान्यास करा दिया। प्रदेश का दुर्भाग्यय तो देखिए ट्रांस गंगा सिटी में जहां तक काम समाजवादियों ने किया था आज भी काम वहीँ रुका पड़ा है। और इससे बड़ी़ दुख की बात तो यह है हमने बाबा मुख्यमंत्री जी का भाषण पढ़ा,उसमें एक शब्द भी उन्होंने विकास के लिए नहीं बोला, जाने कौन सी बात कर रहे थे आतंकवाद की। अखिलेश यादव नेे कहा की शहीदों का अगर किसी ने सम्मान किया है तो नेताजी और समाजवादियों ने किया है जबसे भाजपा आई है हर दिन एक जवान शहीद हो रहा है और भाजपा वाले आंकड़े छुपा रहे हैं।और तो बीजेपी से भोपाल से जो साध्वी लड़ रही हैं उन्होंने एक शहीद के बारे में न जाने क्या-क्या कहा लकिन बीजेपी की तरफ से उनके ऊपर कोई कार्यवाही नहींं की गई जो साफ दर्शाता है कि शहीदों का कितना सम्मान बीजेपी करती है।

धोखा तो कांग्रेस ने दिया-

अखिलेश यादव ने कानपुर में भाजपा पर तो जमकर हमला बोला ही साथ ही साथ कांग्रेस पर हमला बोलते हुए कहा कि समाजवादियों को अगर किसी ने धोखा दिया तो कांग्रेस ने दिया। जो कांग्रेस है वही बीजेपी है और जो बीजेपी है वही कांग्रेस है दोनों में कोई खास अंतर नहीं है एक पार्टी जुमलेबाजी करने में आगे हैं तो दूसरी धोखा देने में। ये बीजेपी और कांग्रेस के लोग डरा कर राजनीति करना चाहते हैं।बीजेपी और कांग्रेस ने सब समस्याओं को उलझा कर रख दिया है। अखिलेश यादव ने अपने संबोधन के अंत में कहा कि टीवी ज़्यादा मत देखना वहाँ भी चाय वाला नशा मिल रहा है और लोगों को भ्रमित कर रहे हैं इसलिए आपको भ्रमित नहीं होना है और गठबंधन को भारी मतों से जिताना है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App