ताज़ा खबर
 

CBI जांच पर अखिलेश का पलटवार- BJP जिस संस्कृति को छोड़कर जा रही है, कल उसे ही भोगना पड़ेगा

अखिलेश यादव ने कहा कि भाजपा के लोग यह याद रखें कि जो संस्कृति वे छोड़कर जा रहे हैं, उसका कल उन्हें भी सामना करना पड़ेगा।

Author Updated: January 7, 2019 8:46 AM
अखिलेश यादव (Photo: PTI)

समाजवादी पार्टी (सपा) अध्यक्ष और उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव ने अपने कार्यकाल में हुए कथित अवैध खनन मामले पर सीबीआई की कार्यवाही के बाद खुद से पूछताछ की आशंका के बारे में रविवार को कहा कि वह सीबीआई को जवाब देने के लिये तैयार हैं, मगर भाजपा यह याद रखे कि वह जिस संस्कृति को छोड़कर जा रही है, कल उसे भी उसका सामना करना पड़ेगा।

अखिलेश ने यहां संवाददाताओं से बातचीत में खुद पर सीबीआई जांच की आंच पड़ने की आशंका के सवाल पर कहा ‘‘ सपा इस कोशिश में है कि ज्यादा से ज्यादा लोकसभा सीटें जीते। जो हमें रोकना चाहते हैं, उनके पास सीबीआई है। एक बार कांग्रेस ने सीबीआई जांच करायी थी, तब भी पूछताछ हुई थी। अगर भाजपा यह सब करा रही है और सीबीआई पूछताछ करेगी तो हम जवाब देंगे। मगर जनता भाजपा को जवाब देने के लिये तैयार है।’’

उन्होंने कहा ‘‘आखिर सीबीआई छापेमारी क्यों कर रही है। जो पूछना है हमसे पूछ ले, लेकिन भाजपा के लोग यह याद रखें कि जो संस्कृति वे छोड़कर जा रहे हैं, उसका कल उन्हें भी सामना करना पड़ेगा।’’ अखिलेश ने तंज भरे लहजे में कहा कि अब तो सीबीआई को बताना पड़ेगा कि हमने गठबंधन में कितनी-कितनी सीटें बांटी हैं। ‘‘मुझे खुशी है इस बात की कि कम से कम भाजपा ने अपना रंग दिखा दिया। पहले कांग्रेस ने हमें सीबीआई से मिलने का मौका दिया था। इस बार भाजपा यह मौका दे रही है।’’

उन्होंने कहा कि भाजपा ने राजनीतिक शिष्टाचार ही खत्म कर दिया। भाजपा चाहती है कि जैसा उसका सियासी शिष्टाचार है, वैसा ही दूसरे दलों का भी हो जाए। मगर, हम अपना राजनीतिक शिष्टाचार नहीं बदलेंगे। अगर कांग्रेस चोर बोल रही है तो भाजपा चाहती है कि हम भी उसे चोर बोलें।

मालूम हो कि पूर्ववर्ती सपा सरकार के शासनकाल में वर्ष 2012 से 2016 के बीच राज्य में हुए कथित खनन घोटाला मामले में सीबीआई ने कल लखनऊ में आईएएस अफसर बी. चंद्रकला के घर पर छापा मारा था। सीबीआई ने बुंदेलखण्ड में अवैध खनन के मामले में इलाहाबाद उच्च न्यायालय के आदेश पर चंद्रकला समेत 11 लोगों पर मुकदमा दर्ज किया था। वर्ष 2012-13 में खनन विभाग तत्कालीन मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पास था। लिहाजा माना जा रहा है कि सीबीआई इस मामले में उनसे भी पूछताछ कर सकती है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 Election 2019: लोजपा-जदयू ने बढ़ाई भाजपा की परेशानी, अखिलेश ने दी चेतावनी, जानिए दिन भर की राजनीतिक हलचल
2 राजस्थान: दर्जन भर बागियों पर कांग्रेस सख्त, असेंबली वाइज मंगाई जा रही लिस्ट, हो सकती है बड़ी कार्रवाई
3 Election 2019: MP में अब 12 दिसंबर 2018 तक कर्ज लेने वाले किसानों का कर्ज होगा माफ