ताज़ा खबर
 

24 घंटे में राममंदिर मुद्दा सुलझाने का दावा करने वाले पहले 90 दिनों में फसलें बचाकर दिखाएं- अखिलेश का योगी पर तंज

अखिलेश यादव ने सीएम योगी को चैलेंज देते हुए कहा कि वे किसानों की फसल को सांडों से बचाकर दिखाएं। सबसे पहले किसानों को बचाना जरूरी है।

उत्तर प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव। (Photo: ANI)

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा 24 घंटे में राम मंदिर मुद्दा सुलझाने के दावे पर पूर्व मुख्यमंत्री और समाजवादी पार्टी के प्रमुख अखिलेश यादव ने तंज किया है। उन्होंने कहा कि वे पहले 90 दिनों में सांड से किसानों की फसल बचाकर दिखाएं। एएनआई के अनुसार, अखिलेश यादव ने सीएम योगी के बयान पर कहा, “हमने अभी-अभी 26 जनवरी मनाया है। यदि कोई मुख्यमंत्री 26 जनवरी के अवसर पर ऐसी बात कहते हैं तो आप यह अनुमान लगा सकते हैं कि वे किस तरह के मुख्यमंत्री हैं।” इसके साथ ही सपा प्रमुख ने तंज करते हुए कहा, “यदि सीएम योगी 24 घंटे के अंदर राम मंदिर मुद्दा सुलझाने का दावा करते हैं तो मैं कहना चाहता हूं कि जनता उन्हें 90 दिनों का समय दे रही  है। वे सांड से फसल बचाने के लिए कुछ करें। सबसे पहले किसानों को बचाने की जरूरत है।”

दरअसल, अखिलेश यादव रविवार को प्रयागराज पहुंचे और यहां उन्होंने कुंभनगर के संतों से मुलाकात की। अखिलेश यादव ने राजा हर्षवर्धन का उदाहरण देते हुए कहा कि जिस तरह से उन्होंने इस मेले में अपना सबकुछ दान कर दिया था, उसी तरह सीएम योगी को अकबर का किला दान कर उसे आम जनता के लिए खोल देना चाहिए। अक्षयवट किला और सरस्वती कूप को कुंभ में दान कर देना चाहिए।

अखिलेश यादव ने योगी सरकार पर तंज करते हुए कहा कि यह कुंभ तभी सफल होगा जब बेरोजगार युवकों को नौकरी मिलेगी। किसानों के घर खुशहाली आएगी। आज सांडों की वजह से राज्य के किसान परेशान हैं। सरकार को किसानों की फसल बचाने के लिए ठोस कदम उठाने चाहिए।

गौरतलब है कि सीएम योगी ने राम मंदिर को लेकर एक निजी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि अगर सुप्रीम कोर्ट जल्द ही इस मामले पर फैसला नहीं सुना सकती है तो यह काम हमारे हाथ में सौंप दे। 24 घंटे के अंदर राम मंदिर का मामला सुलझा दिया जाएगा। मैं अदालत से यह अपील करूंगा कि राम मंदिर मामले पर जल्द से फैसला करें। अनावश्यक रूप से इस मामले में देर की जा रही है। इस फैसले से करोड़ों लोगों को संतोष मिलेगा क्योंकि यह उनकी आस्था का सवाल है। अनावश्यक देरी की वजह से लोगों का धैर्य और भरोसा टूट रहा है। इन सबकी जड़ कांग्रेस है। यदि अयोध्या मामला सुलझ जाएगा, तीन तलाक पर रोक लागू हो जाएगी तो कांग्रेस की तुष्टिकरण की राजनीति हमेशा के लिए समाप्त हो जाएगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App