ताज़ा खबर
 

केजरीवाल ने नए पार्षदों को बीजेपी से सावधान रहने को कहा और दी चेतावनी, यदि पार्टी और उम्मीदों को धोखा दिया तो जिंदगी में कभी…

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को पार्टी के नवनिर्वाचित पार्षदों को ‘वफादारी की शपथ’ दिलाई।
Author नई दिल्ली | April 28, 2017 02:46 am
केजरीवाल ने गुरुवार को पार्टी के नवनिर्वाचित पार्षदों को ‘वफादारी की शपथ’ दिलाई। केजरीवाल ने सभी नवनिर्वाचित ‘आप’ पार्षदों से मुलाकात कर उन्हें ईमानदारी से काम करने का मंत्र दिया, फोन को रिकॉर्डिंग मोड में रखकर भाजपा से सावधान रहने के गुर सिखाए

दिल्ली के मुख्यमंत्री और आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक अरविंद केजरीवाल ने गुरुवार को पार्टी के नवनिर्वाचित पार्षदों को ‘वफादारी की शपथ’ दिलाई। केजरीवाल ने सभी नवनिर्वाचित ‘आप’ पार्षदों से मुलाकात कर उन्हें ईमानदारी से काम करने का मंत्र दिया, फोन को रिकॉर्डिंग मोड में रखकर भाजपा से सावधान रहने के गुर सिखाए और साथ ही चेतावनी दी कि यदि उन्होंने अंदोलन, पार्टी और उम्मीदों को धोखा दिया तो जिंदगी में कभी सुखी नहीं रह पाएंगे। पंजाब, गोवा के बाद दिल्ली नगर निगम में करारी हार के बाद केजरीवाल के समक्ष सबसे बड़ी चुनौती पार्टी को संगठित रखना है और यह चिंता इन पार्षदों के साथ बैठक में स्पष्ट दिखी।

मुख्यमंत्री आवास पर बुलाई गई बैठक में ‘आप’ संयोजक ने पार्टी के सभी नए चुनकर आए 48 पार्षदों को संबोधित किया और शपथ दिलवाई। केजरीवाल द्वारा पार्षदों दिलाई गई शपथ के शब्द थे, ‘मैं अपने भगवान को हाजिर नाजिर मान के शपथ लेता हूं कि मैं कभी भी अपनी पवित्र पार्टी को और इस आंदोलन को धोखा नहीं दूंगा’।अपने संबोधन के दौरान केजरीवाल ने चेतावनी भी दे डाली, ‘अगर किसी ने इस आंदोलन को धोखा दिया तो सोच लेना भगवान को धोखा दे रहे हो। इस आंदोलन की खासियत है कि यह बहुत पवित्र आंदोलन है। आंदोलन, पार्टी और उम्मीदों को धोखा देकर गए तो जिंदगी में सुखी नगीं रह पाओगे’।

केजरीवाल ने कहा कि आप भ्रष्टाचार के खिलाफ आंदोलन से निकली पार्टी है जिसके लिए कइयों ने कुर्बानी दी है और पार्षदों को नसीहत दी कि वे इस कुर्बानी को व्यर्थ नहीं होने देंगे। उन्होंने कहा कि भाजपा की पूरी कोशिश होगी कि वे आप पार्षदों को तोड़ने की कोशिश करेंगे और उसके लिए पैसों का प्रलोभन दें। ‘आप’ के संयोजक ने कहा कि चूंकि उनकी पार्टी में पैसे लेकर टिकट नहीं दिए गए हैं, इसलिए पार्षदों पर कमाने का दबाव नहीं है और उनके लिए ईमानदार रहना आसान है। केजरीवाल पार्षदों को पार्टी के वालंटियर्स और दिल्ली के विधायकों के साथ मिलकर काम करने की सलाह दी, साथ ही उन्होंने निगम के सफाई कर्मचारियों का विशेष ख्याल करने को कहा।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.