scorecardresearch

एक राहुल लड़ रहा है घोरतम अंधियार से- लाइव डिबेट में कांग्रेस प्रवक्ता करने लगे राहुल का गुणगान

नई दिल्लीः अभय दुबे ने कहा कि अगर जीत हार से सारी चीजें तय होती हैं तो मोदी जी के पीएम बनने के बाद बीजेपी कई अहम सूबों में हारी।

एक राहुल लड़ रहा है घोरतम अंधियार से- लाइव डिबेट में कांग्रेस प्रवक्ता करने लगे राहुल का गुणगान
कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (फोटो सोर्स: फाइल/PTI)।

चुनावी हार के बाद भी कांग्रेस के हौसले बुलंद हैं। हार के बाद बीजेपी जहां राहुल गांधी पर हमले का कोई मौका नहीं छोड़ रही है, वहीं एक टीवी डिबेट में कांग्रेस प्रवक्ता ने कहा कि एक राहुल लड़ रहा है घोरतम अंधियार से। लड़ रहा है भाजपा के क्रूरतम परिवार से। सूर्य की पहली किरण तक युद्ध यह चलता रहे, इसलिए अनिवार्य है कि दीप यह जलता रहे।

एंकर अंजना ओम कश्यप ने उनसे पूछा कि उत्तर प्रदेश में जहां अखिलेश यादव ने इतनी सीटें जीतीं, वहां कांग्रेस केवल दो ही सीटें जीत सकी। उनका सवाल था कि अखिलेश यादव और बिहार में तेजस्वी यादव भी बीजेपी को ललकार रहे हैं। अपनी लड़ाई के जरिए वो सीटें भी जीत रहे हैं तो कांग्रेस को क्या हुआ?

कांग्रेस प्रवक्ता अभय दुबे ने कहा कि अगर जीत हार से सारी चीजें तय होती हैं तो मोदी जी के पीएम बनने के बाद बीजेपी पश्चिम बंगाल, राजस्थान, मप्र, छत्तीसगढ़, महाराष्ट्र और झारखंड जैसे कई अहम सूबों में हारी। उनका कहना था कि कांग्रेस का नेतृत्व वो विचार कर रहा है जो देश की तरक्की सोचता है। यूपी के अध्यक्ष अजय लल्लू के हारने पर उनका कहा कि इतिहास गवाह है कि बड़े से बड़े नेता भी अपना चुनाव हर चुके हैं।

सोशल मीडिया पर कांग्रेस प्रवक्ता का लोगों ने जमकर मजाक बनाया। कृष्ण दत्त शर्मा ने लिखा कि चमचागिरी की पराकाष्ठा। अपनी गलतियों से कुछ सीखना नहीं और दूसरों को दोषी ठहराना। सुनील मिश्रा ने लिखा कि हां जी हां, आपकी हालत ये है की आप जैसे चाटूकार भरे पड़े हैं। वो कहते हैं न अंजामे गुलिस्ता क्या होगा हर शाख पे उल्लू बैठा है। बुरा नहीं मानिएगा सोचिएगा, आपको हंसी आएगी।

बीके मिश्रा ने लिखा कि विपक्ष चाहे कितने मोर्चा या गठबंधन या दुराचार कर ले मंच बना ले पर जनता का विश्वास नहीं जीत पाएगा। हर बार जनता इनको नकार देगी। 2030 तक भारत विश्वगुरु की पाठशाला बनेगा। ब्रह्मांड की ताकत नहीं है कि कोई रोक ले भारत को विश्व गुरुबनने से। 2024 केचुनाव में भाजपा व सहयोगी दल आंकड़ा 350 तक पहुंच सकता है।

वंदे मातरम के हैंडल से ट्वीट किया गया कि ये मतिभ्रष्ट और पथभ्रष्ट चमचे दीप नहीं देश जलाना चाहते थे। देश में आग लगाने में सबसे आगे। वो तो जनता समझदार निकली कि इन गद्दारों को समय रहते पहचान कर इनको काई की तरह से किनारे लगा रही है। ये कितने भी भेष बदलकर जनता को लुभाएं। कामयाब नहीं होंगे।

पढें Elections 2022 (Elections News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

First published on: 14-03-2022 at 08:24:14 pm
अपडेट