ताज़ा खबर
 

UPSC: मॉडल से यूपीएससी टॉपर बनने का सफर, बिना कोचिंग पाई सफलता

UPSC: ऐश्वर्या मानती हैं कि यूपीएससी में सफलता पाने के लिए सबसे पहले आपको खुद को और अपनी क्षमताओं को जानने की जरूरत है।

ऐश्वर्या ने कभी भी किसी कोचिंग क्लास का सहारा नहीं लिया चाहे वह स्कूल हो या यूपीएससी की तैयारी। (फोटो -The Indian Express)

UPSC: ऐश्वर्या का जन्म राजस्थान में हुआ था और उच्च शिक्षा दिल्ली के श्रीराम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से प्राप्त हुई। उनके पिता कर्नल अजय कुमार, एनसीसी तेलंगाना बटालियन, करीमनगर के कमांडिंग ऑफिसर हैं और उनकी माता सुमन, एक गृहिणी हैं। मॉडलिंग की दुनिया में कदम रखना ऐश्वर्या कि मां का ही सपना था। वह हमेशा चाहती थीं कि उनकी बेटी इस क्षेत्र में जाए और इसीलिए उनका नाम सुप्रसिद्ध अभिनेत्री ऐश्वर्या राय के नाम पर रखा। वह बॉम्बे टाइम्स फैशन वीक, लैक्मे फैशन वीक, अमेज़ॅन फैशन वीक में रैंप वॉक कर चुकी हैं। साथ ही, मनीष मल्होत्रा जैसे डिजाइनरों के लिए भी काम किया है।

ऐश्वर्या मानती हैं कि मॉडलिंग उनके लिए एक संयोग के रूप में आया क्योंकि उनका यह सफर एक मॉल में हो रहे दिल्ली टाइम्स फ्रेश फेस से शुरू हुआ। जब वह कॉलेज के दूसरे वर्ष में थी तो उन्होंने मिस इंडिया प्रतियोगिता में भी भाग लिया था, जिसके बाद उनके पास मॉडलिंग असाइनमेंट की बाढ़ आ गई।

ऐश्वर्या को बचपन से ही पढ़ाई में रुचि थी और वह स्कूल या कॉलेज में हमेशा अच्छे अंक लाती थीं। उन्होने मॉडलिंग से एक – दो साल का ब्रेक लेकर सिविल सेवाओं के लिए प्रयास किया क्योंकि हमेशा से उनका यही सपना रहा है।

ऐश्वर्या ने यह फैसला लिया कि वह मई 2018 तक अपने सभी मॉडलिंग असाइनमेंट को पूरा करेंगी और उसके बाद वह अपना पूरा समय सिविल सेवा कि परीक्षा की तैयारी के लिए समर्पित करेंगी। उन्होंने पढ़ाई में अपना ध्यान केंद्रित करने के लिए सभी सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को भी बंद कर दिया था।

परीक्षा की पहले चरण कि तैयारी के लिए ऐश्वर्या ने एक बहुत ही अनोखा तरीका अपनाया। वह बताती हैं कि उनके पास हमेशा से एक सरल तरीका था जिसका इस्तेमाल उन्होंने 2018-2019 के दौरान किया। ऐश्वर्या ने साल 2018 में UPSC की तैयारी शुरू कर दी थी। उनकी सफलता का मंत्र था 10+8+6 यानी 10 घंटे की पढ़ाई, 8 घंटे की नींद और 6 घंटे की अन्य गतिविधियां। उनके अनुसार एक अच्छी नींद एक ऐसी चीज है जिसकी हम सभी को आवश्यकता होती है ताकि हम अपने दिमाग और शरीर को एक ही समय में स्थिर और फिट रख सकें।

दूसरे चरण में ऐश्वर्या ने अपना समय कम से कम तीन किताबों के रिवीजन में लगाया, साथ ही दो किताब करंट अफेयर्स के लिए पढ़ी। उन्होंने करंट अफेयर्स के नोट्स बनाने के तरीके को बदल दिया। पहले वह इनसाइट करंट अफेयर्स से नोट्स बनाती थी, फिर द हिंदू और द इंडियन एक्सप्रेस ऐप पर जाकर जानकारी जुटाती थीं।

ऐश्वर्या के अनुसार, अगस्त से अक्टूबर तक उनका मुख्य ध्यान ऑप्शनल पेपर पर चला था और उन्होंने कोई नया जीएस टॉपिक नहीं पढ़ा। केवल करंट अफेयर्स के साथ पहले से पढ़े टॉपिक को वापस रिवाइज किया। उन्होंने सरकारी योजनाओं के साथ-साथ राजनीति, इतिहास, भूगोल आदि का भी एक-एक चैप्टर रिवाइज करना शुरू कर दिया था।

ऐश्वर्या ने कभी भी किसी कोचिंग क्लास का सहारा नहीं लिया चाहे वह स्कूल हो या यूपीएससी की तैयारी। वह मानती हैं कि कोचिंग करना या न करना एक व्यक्तिगत पसंद है। हर व्यक्ति कि अपनी खुद कि क्षमता और पसंद होती है और एक ही तरीका सब पर लागू नहीं किया जा सकता है। वह हमेशा से ही सेल्फ स्टडी के फॉर्मूले में विश्वास करती थी।

ऐश्वर्या मानती हैं कि यूपीएससी में सफलता पाने के लिए सबसे पहले आपको खुद को और अपनी क्षमताओं को जानने की जरूरत है। साथ ही, लोगो को रूढ़िवादी सोच से बाहर आने की जरूरत है। आपका अपनी पढ़ाई के प्रति पूरा ध्यान और समर्पण होना चाहिए और अगर आपके पास यह सब है, तो ऐसा कुछ भी नहीं है जिसे आप हासिल नहीं कर सकते।

Next Stories
1 MP Board Exam 2021: 10वीं के छात्र बिना एग्जाम के ऐसे होंगे पास, 12वीं की परीक्षा हुई स्थगित
2 CBSE Board Exams 2021: 12वीं के बोर्ड एग्जाम क्या होंगे रद्द! ये है लेटेस्ट अपडेट
3 Board Exams 2021: 10वीं के छात्र बिना एग्जाम होंगे पास, इस राज्य ने लिया बड़ा फैसला
आज का राशिफल
X