scorecardresearch

UPSC Success Story: लगातार चार बार मिली असफलता, फिर 17 दिन में क्लियर किया एग्जाम, जानें अक्षत कौशल की IPS बनने की कहानी

UPSC Success Story in Hindi: अक्षत का मानना है कि सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के दौरान उम्मीदवारों को अपनी गलतियों से सबक लेना चाहिए।

UPSC Success Story: लगातार चार बार मिली असफलता, फिर 17 दिन में क्लियर किया एग्जाम, जानें अक्षत कौशल की IPS बनने की कहानी
UPSC IPS Story in Hindi: सिविल सेवा के क्षेत्र में आने से पहले अक्षत कौशल एक जर्नलिस्ट थे।

UPSC Success Story: यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा को पास करने की चाहत देश के लाखों लोग रखते हैं। हालांकि,‌ इस सफर के दौरान आने वाली बाधाओं और असफलताओं के सामने कई लोग हार मान जाते हैं। वहीं, कुछ लोग ऐसे भी होते हैं जो डटकर सभी कठिनाइयों का सामना करते हैं और आखिर में मजबूत इच्छाशक्ति और निष्ठा से अपने सपने को पूरा करते हैं। आज हम आपको अक्षत कौशल की ऐसी ही एक कहानी बताएंगे।

UPSC Civil Services Exam: लगातार मिली असफलता
अक्षत कौशल ने यूपीएससी परीक्षा की तैयारी साल 2012 से ही शुरू कर दी थी। वह पहली बार साल 2013 में सिविल सेवा की परीक्षा में शामिल हुए थे लेकिन असफल हो गए थे। फिर अक्षत ने इस परीक्षा के लिए और भी ज्यादा मेहनत शुरू कर दी थी। हालांकि, दूसरे प्रयास में भी वह विफल रहे थे। इसी तरह बेहतरीन तैयारी के बावजूद भी वह तीसरे और चौथे प्रयास में भी परीक्षा क्लियर नहीं कर पाए। अक्षत कौशल को लगातार चार बार असफलताओं का सामना करना पड़ा था। ऐसे में उनका निराश होना लाजमी था।

IPS Akshat Kaushal: 17 दिन में की तैयारी
अक्षत ने सिविल सेवा की राह छोड़ने का फैसला कर लिया था। इसी बीच उनकी मुलाकात कुछ दोस्तों से हुई। दोस्तों से बातचीत के बाद उन्होंने दोबारा यूपीएससी एग्जाम देने का मन बना लिया। इस फैसले पर उनके माता-पिता ने भी भरपूर सहयोग दिया। हालांकि, परीक्षा के लिए केवल 17 दिन ही बचे थे। इस दौरान उन्होंने बेजोड़ कोशिश की और चंद दिनों की तैयारी में प्रीलिम्स क्लियर कर लिया। साल 2017 के अपने पांचवें प्रयास में उन्होंने न केवल एग्जाम क्रैक किया बल्कि 55वीं रैंक हासिल कर आईपीएस भी बनें।

IPS Success Story: अक्षत की सलाह
अक्षत का मानना है कि यूपीएससी एग्जाम देने से पहले इस परीक्षा को अच्छी तरह से समझना चाहिए। किसी भी विषय को लेकर ओवर कॉन्फिडेंट न हों। अपनी ताकत को कमजोरी न बनने दें। यदि किसी विषय पर आपकी अच्छी पकड़ है तो भी उस पर भी ध्यान देना दें। इसके अलावा तैयारी के दौरान अपने करीबियों की सलाह भी जरूर सुनें।

पढें एजुकेशन (Education News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट