UPSC: ऋषि राज ने दूसरे अटेम्प्ट में किया टॉप, ऐसे तय किया इंजीनियर से आईएएस बनने तक का सफर

UPSC: ऋषि ने पहले ही अटेम्प्ट में परीक्षा के तीनों चरणों को पास कर लिया था लेकिन फाइनल लिस्ट में अपनी जगह बनाने में असफल रहे थे।

UPSC, UPSC CSE 2021, UPSC Topper, IAS Success Story
ऋषि ने साल 2015 से ही सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी थी।

UPSC: सिंगरौली के रहने वाले ऋषि राज ने स्कूली शिक्षा प्राप्त करने के बाद इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग से ग्रेजुएशन पूरा किया है। मेडिकली अनफिट होने की वजह से वह इस क्षेत्र में आगे करियर नहीं बना सकते थे। ऐसे में ऋषि ने अपने लिए एक दूसरा रास्ता तैयार किया और सिविल सेवा के क्षेत्र में जाने का फैसला कर लिया।

ऋषि ने साल 2015 से ही सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी शुरू कर दी थी। उन्होंने साल 2016 में यूपीएससी एग्जाम का पहला अटेम्प्ट दिया था। ऋषि ने पहले ही अटेम्प्ट में परीक्षा के तीनों चरणों को पास कर लिया था लेकिन फाइनल लिस्ट में अपनी जगह बनाने में असफल रहे थे। इस असफलता के बावजूद भी उन्होंने हार नहीं मानी और तैयारी में लगे रहे। ऋषि ने पहले प्रयास में हुई गलतियों को पहचाना और उसमें सुधार भी किया। आखिरकार, साल 2017 में सिविल सेवा परीक्षा के अपने दूसरे प्रयास में ऋषि ने न केवल सभी चरण पास किए बल्कि 27वीं रैंक के साथ टॉप भी किया।

UPSC: दूसरे प्रयास में सफलता प्राप्त करने वाले राहुल इंटरव्यू के लिए देते हैं यह ज़रूरी सलाह

ऋषि का मानना है कि इस कठिन परीक्षा की तैयारी के लिए दिल्ली जाने की कोई खास आवश्यकता नहीं है। अच्छे इंटरनेट कनेक्शन के माध्यम से बहुत सारी ऑनलाइन सुविधाओं का लाभ उठाया जा सकता है। ऋषि के अनुसार तैयारी के दौरान लिमिटेड किताबों से ही पढ़ाई करें लेकिन रिवीजन बार बार करना चाहिए । साथ ही पिछले साल के पेपर देखें और उस हिसाब से तैयारी करें। इसके अलावा टेस्ट सिरीज़ भी ज़रूर ज्वॉइन करें।

UPSC: लगातार मिलने वाली असफलता के बाद भी नहीं मानी हार, पांचवें प्रयास में अनिल ने प्राप्त किया आईएएस का पद

ऋषि का कहना है कि परीक्षा की तैयारी शुरू करने से पहले सिलेबस को अच्छी तरह देखें और समझें‌। इसके अलावा ऑप्शनल सब्जेक्ट का चुनाव भी बहुत ही सोच समझकर करना चाहिए। सही रणनीति और कठिन परिश्रम के साथ तैयारी करेंगे तो एक दिन सफलता अवश्य मिलेगी।

पढें एजुकेशन समाचार (Education News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट