scorecardresearch

IAS Success Story: 10वीं और 12वीं में फेल होने के बावजूद भी बनीं IAS, जानें अंजू शर्मा को पहले ही प्रयास में कैसे मिली सफलता

UPSC Success Story in Hindi: आईएस अंजू शर्मा ने सिविल सेवा परीक्षा के पहले प्रयास में ही सफलता हासिल कर ली थी।

UPSC, UPSC IAS Story, IAS Anju Sharma
IAS Success Story: अंजू शर्मा की मां ने इस कठिन समय के दौरान उनका भरपूर सहयोग किया था।

IAS Success Story: सिविल सेवा परीक्षा देश की सबसे कठिन परीक्षा मानी जाती है। हर साल लाखों उम्मीदवार आईएएस अधिकारी बनने का सपना देखते हैं। हालांकि, केवल कुछ ही लोग अपने सपने को हकीकत में बदल पाते हैं। ऐसी ही एक कहानी है अंजू शर्मा कि जिन्होंने अपनी असफलताओं से सीख लेते हुए यूपीएससी परीक्षा में सफलता हासिल की है।

UPSC Success Story: 10वीं और 12वीं में हुईं फेल
एक इंटरव्यू में अंजू शर्मा ने बताया था कि वह 10वीं केमिस्ट्री प्री बोर्ड की परीक्षा में फेल हो गई थी। हालांकि, अन्य विषयों में उन्होंने डिस्टिंक्शन के साथ पास किया था। इसके बाद 12वीं में वह इकोनॉमिक्स के पेपर में भी फेल हो गई थीं। इस दौरान अंजू की मां ने उनका भरपूर सहयोग किया था। अंजू ने भी इस घटना से सबक लिया कि अंतिम समय की पढ़ाई पर निर्भर नहीं रहना चाहिए।

IAS Anju Sharma: 22 साल की उम्र में पाई सफलता
अंजू ने जयपुर से बीएससी और एमबीए की डिग्री हासिल की है। उन्हें कॉलेज में स्वर्ण पदक से भी सम्मानित किया गया था। इस दौरान वह सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी में भी लगी रहीं। अंजू ने महज 22 साल की उम्र में सिविल सेवा परीक्षा के पहले प्रयास में सफलता हासिल कर ली थी। इस सफलता से उन्होंने न केवल अपना बल्कि घर वालों का भी नाम रोशन कर दिया था।

Anju Sharma Success Story: वर्तमान में इस पद पर कार्यरत
अंजू शर्मा ने साल 1991 में राजकोट में असिस्टेंट कलेक्टर के पद से अपने करियर की शुरुआत की थी। इसके अलावा उन्होंने गांधीनगर में जिला कलेक्टर सहित अन्य सरकारी पदों पर अपनी सेवाएं दी हैं। वर्तमान में अंजू शर्मा सरकारी शिक्षा विभाग (उच्च और तकनीकी शिक्षा) सचिवालय, गांधीनगर में प्रधान सचिव के पद पर कार्यरत हैं।

पढें एजुकेशन (Education News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट