UPSC: चौथे प्रयास में 17वीं रैंक प्राप्त करने वाली नमामि परीक्षा के लिए देती हैं यह सुझाव

UPSC: नमामि ने दिल्ली विश्वविद्यालय के लेडी श्रीराम कॉलेज से इकोनॉमिक्स ऑनर्स में ग्रेजुएशन किया है।

UPSC, IAS Success Story, IAS Namami Bansal, UPSC Topper Story
नमामि को सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के दौरान कई सारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा था।

UPSC: नमामि बंसल उत्तराखंड के ऋषिकेश की रहने वाली हैं। उनकी प्रारंभिक शिक्षा भी ऋषिकेश से ही हुई है। इसके बाद उन्होंने दिल्ली विश्वविद्यालय के लेडी श्रीराम कॉलेज से इकोनॉमिक्स ऑनर्स में ग्रेजुएशन पूरा किया है। ग्रेजुएशन के बाद नमामि ने नौकरी भी ज्वॉइन कर ली थी। हालांकि, कुछ समय बाद ही उनके मन में सिविल सेवा परीक्षा देने का विचार आया और उन्होंने इसके लिए पढ़ाई भी शुरू कर दी।

नमामि को सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी के दौरान कई सारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ा था। कठिन परिश्रम के बावजूद भी वह बार-बार अपने मुकाम तक पहुंचने में असफल हो जाती थीं। नमामि ने सिविल सेवा परीक्षा का तीन अटेम्प्ट दिया था लेकिन तीनों प्रयास में ही वह परीक्षा नहीं पास कर पाई थीं। इस असफलता के बावजूद भी उन्होंने कभी हिम्मत नहीं हारी और अपनी पढ़ाई जारी रखी। आखिरकार, नमामि के कठिन परिश्रम और लगन ने अपना असर दिखा ही दिया और वह सिविल सेवा परीक्षा के चौथे प्रयास में 17वी रैंक के साथ कामयाब हुईं।

नमामि का कहना है कि सिविल सेवा परीक्षा की शुरुआती तैयारी के लिए एनसीईआरटी किताबों से पढ़ाई करना बेहतर होता है। ऐसा करने से विषयों को लेकर अच्छी समझ विकसित हो जाएगी। बेसिक्स अच्छी तरह से तैयार करने के बाद आप अन्य किताबों से भी पढ़ाई कर सकते हैं। कोशिश करें कि केवल सीमित किताबों से ही सारे टॉपिक कवर कर लें लेकिन इसके बाद पढ़े हुए टॉपिक का रिवीजन भी अवश्य करें।

CTET Notification 2021: आवेदन आज से शुरू, ये रहा डायरेक्ट लिंक, जानिए आपको कितनी देनी है आवेदन फीस

नमामि का मानना है कि किसी भी परीक्षा को पास करने के लिए कोई एक फार्मूला नहीं होता है। लोग अपनी क्षमता और पसंद के अनुसार पढ़ाई करने का तरीका अपना सकते हैं। उनके अनुसार इस कठिन परीक्षा की पढ़ाई के दौरान अपने आप को मोटिवेटेड ज़रूर रखें और चीजों को लेकर सकारात्मक रहें। यूपीएससी का सफर बहुत ही उतार-चढ़ाव भरा हो सकता है, ऐसे में हिम्मत न हारें और प्रयास जारी रखें।

UPSC: झारखंड की रहने वाली रेना ने तीसरे प्रयास में पाई सफलता, ऐसे की थी परीक्षा की तैयारी

पढें एजुकेशन समाचार (Education News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
स्मृति ईरानी ने की IITs में संस्कृत पढ़ाए जाने की अपीलHRD Minister, Smriti Irani, Sanskrit, Sanskrit Language, IIT
अपडेट