UPSC: डॉक्टर निधि ने सेल्फ स्टडी से पहले ही प्रयास में पास किया यूपीएससी का एग्जाम

UPSC: इलाहाबाद की रहने वाली निधि पटेल नई दिल्ली के लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज में सीनियर रेजिडेंट के रूप में काम करती थीं।

ias success stories in first attempt, ias success stories without coaching in hindi, ias success stories 2021, ias success stories of working professionals, ias failure to success stories
निधि के अनुसार UPSC Exam को क्रैक करना तभी संभव है जब आप में ऐसा करने के लिए आत्मविश्वास हो। (फोटो क्रेडिट – फेसबुक Nidhi Patel)

UPSC: सिविल सेवा एग्जाम के लिए बहुत से कैंडिडेट्स हर साल इस एग्जाम में बैठते हैं लेकिन पास होने वाले उम्मीदवारों की संख्या बेहद कम होती है। वहीं कुछ कैंडिडेट्स बिना कोचिंग के ही एग्जाम में सफलता प्राप्त कर लेते हैं। ऐसी ही सफलता की कहानी है डॉक्टर निधि पटेल –

पेशे से एमबीबीएस और एमडी डॉक्टर निधि पटेल भी ऐसी ही एक यूपीएससी टॉपर हैं, जिन्होंने 2017 में अपने पहले प्रयास में बिना कोचिंग के परीक्षा पास की और 2017 में उन्हें AIR 364 हासिल की।

इलाहाबाद की रहने वाली निधि पटेल नई दिल्ली के लेडी हार्डिंग मेडिकल कॉलेज में सीनियर रेजिडेंट के रूप में काम करती थीं, जब उन्होंने सिविल सेवा परीक्षा देने की सोची। एक डॉक्टर के रूप में काम करते हुए वह कई फील्ड के जरूरतमंद लोगों से मिलीं जिन्हें कई तरह से मदद की जरूरत थी। वह एक डॉक्टर होने के नाते केवल चिकित्सकीय रूप से उनकी सहायता कर सकती थीं, लेकिन वे उन जरूरतमंद लोगों की अधिक मदद करना चाहती थीं इसके लिए उन्होंने सिविल सर्विस में जाने की सोची।

आयोग ने जारी किए मोटर व्हीकल इंस्पेक्टर एग्जाम के एडमिट कार्ड, ऐसे करें डाउनलोड

निधि ने अपनी सिविल सर्विस एग्जाम की तैयारी काफी देर से शुरू की इसलिए उनके पास ज्यादा अटेंप्ट नहीं बचे थे। उनके पास UPSC Exam देने के लिए सिर्फ दो अटेंप्ट बचे थे इसके लिए उन्होंने देश की सबसे कठिन परीक्षाओं में से एक एग्जाम को पास करने के लिए जी तोड़ मेहनत शुरू कर दी। उनके एग्जाम की तैयारी करने की अवधि केवल 8 से 9 महीने की थी उन्होंने इतनी तैयारी के साथ ही UPSC में सफलता प्राप्त की। उन्होंने अपनी तैयारी के दौरान नोट्स बनाने या आंसर लिखने में ज्यादा समय नहीं दिया। उन्हें लगता था कि आंसर लिखना एग्जाम क्रैक करने का एक जरूरी हिस्सा है,  लेकिन अगर कंटेंट तैयार है और आपके दिमाग में पहले से ही है तो राइटिंग प्रैक्टिस की इतनी जरूरत नहीं है।

निधि का फोकस अच्छे कंटेंट, रिसर्च करने UPSC के सिलेबस को अच्छी तरह से पढ़ने और प्रत्येक प्रश्न के लिए समय बनाए रखने में रहता था। उनकी तैयारी में मुख्यता  मॉक टेस्ट क्रैक करना और समय पर सभी सवालों के जवाब देना शामिल था।  निधि के अनुसार UPSC Exam को क्रैक करना तभी संभव है जब आप में ऐसा करने के लिए आत्मविश्वास हो।

एसबीआई ने इन पदों पर भर्ती के लिए जारी किए एडमिट कार्ड, ये रहा डाउनलोड करने का डायरेक्ट लिंक

पढें एजुकेशन समाचार (Education News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट