ताज़ा खबर
 

UPSC Civil Services Prelims 2018: जानिए सिलेबस, महत्वपूर्ण विषय और पैटर्न ताकि मजबूत हो आपकी प्रीलिम्स की तैयारी

UPSC Civil Services Prelims Exam 2018 Syllabus, Exam Pattern: सिविल सर्विसेज प्रीलिम्स परीक्षा में सिर्फ 6 महीने का समय रह गया है। ऐसे में अच्छे अंक हासिल करने के लिए आपको सही रणनीति के तहत पढ़ाई करने की जरूरत है।

UPSC Civil Services Prelims 2018: बीते 4 सालों के ट्रेंड को देखें तो परीक्षा में भूगोल, कृषि और पर्यावरण विषयों से जुड़े सवालों की संख्या ज्यादा है।

संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की सिविल सर्विसेज प्रीलिम्स परीक्षा में सिर्फ 6 महीने का समय रह गया है। अभ्यर्थी परीक्षा की तैयारी में जुट गए हैं, लेकिन तैयारी करने के लिए आपको सही रणनीति बनाना जरूरी है। इसके लिए आपका सही सिलेबस, परीक्षा पैटर्न और कई जरूरी विषयों के बारे में जानना जरूरी है। चलिए जानते हैं उसी के बारे में। बीते 4 सालों के ट्रेंड को देखें तो परीक्षा में भूगोल, कृषि और पर्यावरण विषयों से जुड़े सवालों की संख्या ज्यादा है। इसके अलावा अधिकतर सवाल डायरेक्टली या इनडायरेक्टली करेंट अफेयर्स से जुड़े होते हैं। ऐसे में आपको करेंट अफेयर्स में हमेशा अपडेट रहना होगा। करेंट अफेयर्स पर मजबूत पकड़ बनाए रखना सबसे ज्यादा जरूरी है और इसके लिए आपको नियमित रूप से अखबार और पत्रिकाएं पढ़नी होंगी। साथ ही और भी कई विषय हैं जो महत्वपूर्ण हैं। चलिए जानते हैं उन्हें विषयों के बारे में।

पॉलिटी- सिविल सर्विसेज परीक्षा की 3 स्टेज में यह एक महत्वपूर्ण विषय है। पोलिटिक्स पर भी अच्छी पकड़ होना जरूरी लेकिन इसमें भी आपको करेंट अफेयर्स पर जोर देना होगा। उदाहरण के लिए नई सरकारी योजनाएं, संविधान में हुए संशोधन, विधेयक, आदि विषयों की जानकारी रखना बहुत जरूरी है। पॉलिटी में अन्य विषयों या हिस्सों की बात करें तो न्यायपालिक, नीति आयोग, पंचायती राज और PESA 1996, संसद की विभिन्न समितियां, संघ और राज्यों के बीच शक्तियों का वितरण, क्षेत्रीय प्रतिष्ठानों में भारतीय सदस्यता, संसद और राज्य विधानसभा, राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, मंत्रिपरिषद, अध्यक्ष, गवर्नर, कैग और एटर्नी जनरल, वन अधिकार अधिनियम 2006, बिल पास करना (सामान्य और धन) आदि विषय महत्वपूर्ण हैं।

IBPS RRB Officer Scale 2017: इंटरव्यू स्कोर्स का ऐलान, ऐसे चेक करें अपने मार्क्स

अर्थशास्त्र- इस विषय को भी करेंट अफेयर्स के चश्मे से पढ़ना जरूरी है। आर्थिक नीतियों में हो रहे बदलावों पर आपकी मजबूत पकड़ होनी चाहिए। डेप्रीसिएशन-एप्रीसिएशन, राजकोषीय घाटा, आगामी बजट, टैक्स एंड रिफॉर्म्स, राष्ट्रीय योजनाएं और कार्यक्रम; विकास दर, राष्ट्रीय आय, जीडीपी, जीवीए; एफडीआई, एफआईआई; आर्थिक सर्वेक्षण, रुपए की परिवर्तनीयता, मौद्रिक नीति और उसके उपायों (सीआरआर/एसएलआर) पर आधारित प्रश्न; वित्त आयोग और हालिया सिफारिशें; बेरोजगारी और गरीबी; Demonetization बैंकिंग सिस्टम; मुद्रास्फीति दर आदि विषयों की पढ़ाई अच्छे से करें।

इतिहास- यह यूपीएससी की परीक्षाओं के सबसे जरूरी सब्जेक्ट्स में से हैं इस बात से आप परिचित होंगे। इसके जरूरी हिस्से इस प्रकार हैं: व्यावसायिक जाति, जनजाति और खानाबदोश; स्वतंत्रता संग्राम और महत्वपूर्ण आंदोलन, गवर्नर जनरल और वाइसरॉय; मध्यकालीन शब्दकोश, प्राचीन समय कराधान और प्रशासन; भूमि सुधार और राजस्व प्रणाली; मध्ययुगीन भारत में महत्वपूर्ण राजवंश।

CA Final, CPT Result 2017: नतीजे जारी, देखें ICAI CA फाइनल परीक्षा की मेरिट लिस्ट

भूगोल और पर्यावरण- यहां आपको बेसिक कॉन्सेप्ट्स की जानकारी होना बहुत जरूरी है। इसके लिए आपको बाढ़, भूकंप और चक्रवात; तापमान और वर्षा; समुद्रों के बीच के देशों का स्थान; समुद्री धाराएं; विभिन्न क्षेत्रों की जलवायु की स्थिति; राष्ट्रीय राजमार्ग और अन्य बुनियादी ढांचे; विभिन्न प्रकार की मिट्टी, उनके संरक्षण विधियों; राष्ट्रीय उद्यानों, झीलों, वन्यजीव अभयारण्यों और जीवमंडल भंडार; वायुमंडल; प्राकृतिक वनस्पति, वनस्पति और जीव; भारत में नदियों और उनकी सुरक्षा; राष्ट्रीय ग्रीन ट्रिब्यूनल आदि विषयों की पढ़ाई करने की जरूरत है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App