ताज़ा खबर
 

CTET 2019 की परीक्षा के लिए बिहार से बुलाया सॉल्वर गैंग, फॉर्म पर धुंधली फोटो लगा करते थे धांधली

मामले में एसटीएफ ने पूरे मामले में गिरोह के सरगना नाजिम, दानिश और राजकुमार के अलावा विपिन कुमार, विक्की कुमार, सुशांत सहगल, मुकेश, चंदन आनंद, राजमणि और चंदन नामक एक अन्य व्यक्ति को गिरफ्तार किया।

Author लखनऊ | Published on: December 9, 2019 6:41 PM
प्रतीकात्मक फोटो (सोर्स: इंडियन एक्सप्रेस)

उत्तर प्रदेश पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने केन्द्रीय शिक्षक पात्रता परीक्षा (सीटीईटी) में क्वेश्चन पेपर सॉल्वर गैंग का भंडाफोड़ किया है। इस गैंग का पर्दाफाश करते हुए इसके सरगना सहित 10 सदस्यों को गिरफ्तार किया है। एसटीएफ के सूत्रों ने बताया कि ऐसी सूचना मिली थी पीटीईटी परीक्षा के लिए बिहार से सॉल्वर गैंग बुलाया गया है जिसके सदस्य मुरादाबाद के अगल-अगल कॉलेजों में परीक्षा देंगे। इस सूचना पर मुरादाबाद स्थित हिन्दू कालेज के पास से नाजिम, दानिश और राजकुमार कश्यप नामक व्यक्तियों को पकड़ा गया है। मामले में पुलिस इनसे आगे पूछताछ कर रही है।

छात्रों की जगह खुद बैठते थे गैंगः सूत्रों के मुताबिक, इन पकड़े गए लोगों ने बताया कि हिन्दू कालेज के अन्दर राजकुमार के स्थान पर सुशांत और इन्द्रपाल के स्थान पर विक्की कुमार परीक्षा दे रहे हैं। इसके साथ आरआरके स्कूल में अनुज के स्थान पर मुकेश, अशोक कुमार के स्थान पर चन्दन आनन्द परीक्षा दे रहा था। इसके अतिरिक्त मुरादाबाद के पाकबाड़ा थाना क्षेत्र के वेदराम इन्टर कालेज में सुभाष के स्थान पर राजमणि और कटघर थाना क्षेत्र में सरस्वती विद्या मन्दिर गुलाबबाड़ी में दिनेश के स्थान पर चन्दन परीक्षा दे रहा था। इस तरह से किसी और के नाम ये सॉल्वर परीक्षा में बैठकर पेपर सॉल्व करते थे।

Hindi News Today, 09 December 2019 LIVE Updates: देश-दुनिया की हर खबर पढ़ने के लिए यहां करें क्लिक

पुलिस ने किया गिरोह के सरगना को गिरफ्तारः एसटीएफ ने पूरे मामले में गिरोह के सरगना नाजिम, दानिश और राजकुमार के अलावा विपिन कुमार, विक्की कुमार, सुशांत सहगल, मुकेश, चंदन आनंद, राजमणि और चंदन नामक एक अन्य व्यक्ति को गिरफ्तार किया। पुलिस के मुताबिक, इस मामले में और भी खुलासे हो सकते हैं। मामले की आगे जांच की जा रही है।

Karnataka Athani, Kagwad, Gokak, Yellapur By-Election Results 2019 LIVE Updates: कर्नाटक उप-चुनाव के नतीजे देखने के लिए यहां क्लिक करें

आधार कार्ड से बैठते थे परीक्षा मेंः बता दें कि पकड़े गए लोग परीक्षार्थी के आधार कार्ड पर अपना फोटो लगाकर परीक्षा केन्द्र में पहुंचे थे। परीक्षा देने के लिए छात्र परीक्षा फॉर्म पर अपनी धुंधली फोटो लगाते थे ताकि परीक्षा के वक्त उन्हें आसानी से पकड़ा न जा सके। गौरतलब है कि सचिन इससे पहले भी इसी तरह परीक्षा देने के मामले में जेल जा चुका है।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

Next Stories
1 SSC Calendar 2020-21: एसएससी कैलेंडर 2020-21 जारी, जानिए कब कर सकते हैं सरकारी नौकरी के लिए आवेदन, कब होगा एग्जाम
2 PUSU Election 2019: JDU और ABVP को लगा झटका, पप्पू यादव की पार्टी को मिली जबरदस्त कामयाबी
3 Sarkari Naukri-Result 2019 Notification: सरकारी नौकरियों की है भरमार, जानिए आपकी पढ़ाई और आयु के हिसाब से कौन सी है आपके लिए फिट
ये पढ़ा क्या?
X