दिल्ली विश्वविद्यालय में दाखिले की प्रक्रिया शुरू

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) ने शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए दाखिला प्रक्रिया शुरू कर दी है।

Delhi University
सांकेतिक फोटो।

दिल्ली विश्वविद्यालय (डीयू) ने शैक्षणिक सत्र 2021-22 के लिए दाखिला प्रक्रिया शुरू कर दी है। विश्वविद्यालय की ओर से जारी कार्यक्रम के मुताबिक एमफिल, पीएचडी और स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में दाखिले के लिए 21 अगस्त तक आॅनलाइन पंजीकरण कराया जा सकता है। वहीं, स्नातक पाठ्यक्रमों में प्रवेश के लिए दो अगस्त से पंजीकरण की प्रक्रिया शुरू होगी और इन पाठ्यक्रमों के लिए 31 अगस्त तक पंजीकरण किया जा सकेगा। विश्वविद्यालय इस साल प्रवेश के लिए अलग वेबसाइट जारी करेगा। सभी स्नातकोत्तर, एमफिल, पीएचडी और चुनिंदा स्नातक पाठ्यक्रमों के लिए प्रवेश परीक्षा का आयोजन राष्ट्रीय परीक्षा एजंसी करेगी। प्रवेश परीक्षाओं की तिथियां बाद में घोषित की जाएंगी। विद्यार्थियों के सवालों का जवाब देने के लिए चैटबोट और ईमेल के माध्यम से चौबीस घंटे और सातों दिन की व्यवस्था की गई है।

11 क्षेत्रीय भाषाओ में बीटेक को मंजूरी

अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद (एआइसीटीई) ने 11 क्षेत्रीय भाषाओं में बीटेक पाठ्यक्रम को मंजूरी दी है। इन भाषाओं में हिंदी, मराठी, तमिल, तेलुगू, कन्नड़, गुजराती, मलयालम, बंगाली, असमी, पंजाबी और उड़िया शामिल हैं। राष्ट्रीय शिक्षा नीति विभिन्न क्षेत्रों से आने वाले छात्रों को सशक्त बनाने के लिए इस महत्त्वपूर्ण आयाम पर जोर देती है।

मेडिकल प्रवेश परीक्षा नटी 12 सितंबर को

राष्ट्रीय पात्रता सह प्रवेश परीक्षा (नीट-2021) देशभर में 12 सितंबर को आयोजित होगा। कोरोना दिशानिर्देश का पालन करते हुए यह परीक्षा आयोजित की जाएगी। इसके लिए आवेदन की प्रक्रिया शुरू हो गई है और छह अगस्त तक आवेदन किए जा सकेंगे। महामारी के इस दौर में उचित दूरी का पालन करने के लिए इन परीक्षा को आयोजित करने वाले शहरों की संख्या 155 से बढ़ाकर 198 की गई है। इसके साथ ही 2,020 में यह परीक्षा 3,862 केंद्र में हुई थी, इस संख्या को भी बढ़ाया जाएगा। कोरोना दिशानिर्देशों का पालन करते हुए विभिन्न केंद्रों के सभी उम्मीदवारों को मास्क उपलब्ध कराया जाएगा। प्रवेश और निकास का समय, सेनिटाइजेशन व उचित दूरी के साथ बैठने का इंतजाम सुनिश्चित किया जाएगा।

12 केंद्रीय विश्वविद्यालयों में कुलपति नियुक्त

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने 12 केंद्रीय विश्वविद्यालयों के कुलपति की नियुक्ति को मंजूरी दे दी है। केंद्रीय विश्वविद्यालयों में कुल 22 पद कुलपति के खाली पड़े थे। इनमें से 12 कुलपतियों की नियुक्ति को मंजूरी दे दी गई है। इस संबंध में में जारी अधिसूचना के मुताबिक उत्तर प्रदेश राजर्षि टंडन मुक्त विश्वविद्यालय के कुलपति रहे कामेश्वर नाथ सिंह को अब दक्षिण बिहार केंद्रीय विश्वविद्यालय का कुलपति नियुक्त किया गया है। जिन 12 विश्वविद्यालयों में नए कुलपति नियुक्त किए गए हैं, उनमें हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू, झारखंड, कर्नाटक, तमिलनाडु, दक्षिण बिहार, पूर्वोत्तर पर्वतीय विश्वविद्यालय-शिलांग, गुरु घासीदास विश्वविद्यालय-बिलासपुर, मौलाना आजाद राष्ट्रीय उर्दू विश्वविद्यालय-हैदराबाद, केंद्रीय विश्वविद्याल हैदराबाद और मणिपुर विश्वविद्यालय शामिल हैं। फिलहाल दिल्ली विश्वविद्यालय, बनारस हिंदू विश्वविद्यालय, जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय जैसे बड़े विश्वविद्यालय बिना नियमित कुलपति के चल रहे हैं।

निजी विद्यार्थियों की परीक्षा 16 अगस्त से

केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) ने निजी (प्राइवेट) विद्यार्थियों के लिए परीक्षाओं की तारीखों की घोषणा कर दी है। बोर्ड के मुताबिक परीक्षाओं का आयोजन 16 अगस्त से 15 सितंबर 2021 तक किया जाएगा। जिन परीक्षार्थियों ने इस श्रेणी के अंतर्गत परीक्षा फॉर्म भरे थे उन्हें सुप्रीम कोर्ट द्वारा अनिवार्य की गई नीति के अनुसार लिखित में सम्मिलित होना होगा। सीबीएसई के ने कहा कि बोर्ड ने यूजीसी के साथ भी समन्वय स्थापित किया है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि स्नातक दाखिले की प्रक्रिया निजी उम्मीदवारों के लिए परीक्षा के साथ लातमेल हो, ताकि उन्हें उच्च शिक्षा के लिए कॉलेज में शामिल होने में कोई समस्या न हो। यूजीसी इन विद्यार्थियों के हिसाब से स्नातक दाखिला प्रक्रिया के लिए कदम उठाएगा।

पढें एजुकेशन समाचार (Education News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।