ताज़ा खबर
 

UPTET 2017: उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा में अच्छे मार्क्स लाने के लिए फॉलो करें यह 5 टिप्स

UPTET Exam Admit Card 2017: UPTET 2017 के लिए प्रवेश पत्र 5 अक्टूबर, 2017 को जारी किए गए थे और परीक्षा 15 अक्टूबर, को होगी। परीक्षा में अब ज्यादा समय नहीं बचा है और ऐसी स्थिति में आपके लिए यह जानना जरूरी है कि कैसे आप अच्छे अंक हासिल कर सकते हैं।
UPTET Exam 2017: परीक्षा में टाइम सही से मैनेज करना बेहद जरूरी है।

उत्तर प्रदेश शिक्षक पात्रता परीक्षा (UPTET) 2017 के लिए प्रवेश पत्र 5 अक्टूबर, 2017 को जारी किए गए थे और परीक्षा 15 अक्टूबर, को होगी। परीक्षा में अब ज्यादा समय नहीं बचा है और ऐसी स्थिति में आपके लिए यह जानना जरूरी है कि कैसे आप अच्छे अंक हासिल कर सकते हैं। तो चलिए जानते हैं कुछ ऐसी टिप्स के बारे में जो एग्जाम में अच्छे मार्क्स हासिल करने में आपके लिए मददगार साबित हो सकते हैं।

आसान सवाल- परीक्षा में सबसे पहले उन्हीं सवालों को हल करने की कोशिश करें जिन पर आपकी पकड़ मजबूत हो। जिन सवालों के सही जवाब लिखने पर आप कॉन्फीडेंट हों उन्हें ही सबसे पहले अटेंप्ट करें। इसका एक बेहतर तरीका, भाषा(लैंग्वेज) सेक्शन से परीक्षा की शुरुआत करने का हो सकता है। साथ ही जो सवाल आपको सबसे मुश्किल लगते हों उन्हें सबसे आखिर में अटेंप्ट करें। मुश्किल सवाल हल करने के लिए समय बर्बाद करना अच्छा आइडिया नहीं। अगर कोई सवाल हल नहीं हो रहा है तो उसे छोड़ दें।

ऐसे मैनेज करें टाइम- हर सेक्शन्स को जल्द से जल्द सॉल्व करने की कोशिश करें। किसी एक सेक्शन पर ज्यादा समय देना ठीक नहीं। परीक्षा में टाइम सही से मैनेज करना बेहद जरूरी है।

सटीक- सवालों के जवाबों का कयास न लगाएं। अगर आपको किसी सावल का जवाब नहीं मालूम तो उसे छोड़ दें। जिस सेक्शन को लेकर आप सबसे ज्यादा कॉन्फिडेंट हों, उसे से अपनी परीक्षा लिखने की शुरुआत करें। गेस के आधार पर सवाल सबसे आखिर में अटेंप्ट करें। जिस सेक्शन की आपको सबसे कम जानकारी हो उसे तभी अटेंप्ट करें जब आपके पास ज्यादा समय बचा हो।

मॉक टेस्ट- प्रैक्टिस के बिना परीक्षा देना अच्छा आइडिया नहीं है। परीक्षा देने की प्रॉपर प्लानिंग के लिए प्रैक्टिस जरूरी है और इस काम में मॉक टेस्ट्स आपकी काफी मदद कर सकते हैं। इससे आपको खुद का एनालिसिस करने में काफी मदद मिलती है। टेस्ट में आपसे क्या गलतियां हुईं? कितना समय बर्बाद किया, इसकी जानकारी आप प्रैक्टिस से ही हासिल कर सकते हैं। टाईम मैनेजमेंट के लिहाज से भी यह जरूरी होते हैं।

आखिरी समय- परीक्षा से कुछ दिन पहले का समय पढ़ने का नहीं बल्कि रिविजन का होता है। शुरुआत से ही अपनी पढ़ाई को नियमित रखें ताकि समय रहते हुए आप सभी विषयों पर अपनी पकड़ मजबूत कर सकें। इससे आपका कॉन्फिडेंस लेवल तो बढ़ेगा ही, साथ आखिरी समय में तनाव और पढ़ाई के बोझ से भी राहत मिलेगी। अगर सभी विषयों की पूरी पढ़ाई नहीं हुई है तो आखिरी समय में उन्हें पढ़ने की कोशिश न करें। उन्हीं विषयों को रिवाइज करें जिन्हें आपने अच्छे से पढ़ा है और जिनके बारे में आप कॉन्फिडेंट हैं।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.