टीआईटीएंडएस में साइबर फोरेंसिक्स और जेनेटिक्स कोर्स की तैयारी

द टेक्नोलॉजिकल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्सटाइल एंड साइंस (टीआईटीएंडएस) ने नैनो-प्रौद्योगिकी, साइबर फोरेंसिक्स और जेनेटिक्स में विशेषीकृत कार्यक्रम शुरू करने की योजना का ऐलान किया है।

द टेक्नोलॉजिकल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्सटाइल एंड साइंस (Source: www.titsbhiwani.ac.in)

द टेक्नोलॉजिकल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्सटाइल एंड साइंस (टीआईटीएंडएस) ने नैनो-प्रौद्योगिकी, साइबर फोरेंसिक्स और जेनेटिक्स में विशेषीकृत कार्यक्रम शुरू करने की योजना का ऐलान किया है। टीआईटीएंडएस, भिवानी ने शनिवार को अपना 75वीं वर्षगांठ का आयोजन किया। इस मौके पर टीआईटीएंडएस के निदेशक जी. के. त्यागी ने कहा, “हमने इसके अलावा जानेमाने विश्वविद्यालयों के साथ भागीदारी की योजना बनाई है, जिसके तहत देश-विदेश के विश्वविद्यालयों साथ फैकल्टी और स्टूडेंट एक्सचेंज कार्यक्रम लांच किया जाएगा।” टीआईटीएंडएस की स्थापना दूरदर्शी उद्योगपति दिवंगत जी. डी. बिरला ने 1943 में की थी।

वर्षगांठ कार्यक्रम का मुख्य आकर्षण एक प्रदर्शनी थी, जिसे टीआईटीएंडएस के छात्रों ने लगाई थी। इस प्रदर्शनी में संस्थान में विकसित किए गए होम डेकोर आइटम्स, अपेरल और एक्सेसरीज का प्रदर्शन किया गया। इसके अलावा डिपार्टमेंट ऑफ फैशन एंड अपेरल इंजीनियरिंग द्वारा भारतीय फैशन और संस्कृति की यात्रा को दर्शाता फैशन, संगीत और नृत्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया। एआईसीटीई द्वारा स्वीकृत इस संस्थान में वर्तमान में टेक्सटाइल टेक्नॉलजी, टेक्सटाइल कैमेस्ट्री, फैशन एंड अपेरल इंजीनियरिंग और कंप्यूटर इंजीनियरिंग में बी टेक कोर्स, टेक्सटाइल टेक्नॉलजी, फैशन एंड अपेरल इंजीनियरिंग और कंप्यूटर इंजीनियरिंग में एम टेक कोर्स ताथ मास्टर ऑफ बिजनेस एडमिनिस्ट्रेशन कोर्स कराया जाता है।

पढें एजुकेशन समाचार (Education News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट
X